• पूँजी मृत श्रम है, जो पिशाच की तरह केवल जीवित श्रमिकों  का खून चूस कर जिंदा रहता है, और जितना अधिक ये जिंदा रहता है उतना ही अधिक श्रमिकों को चूसता है।Upload to Facebook
    पूँजी मृत श्रम है, जो पिशाच की तरह केवल जीवित श्रमिकों का खून चूस कर जिंदा रहता है, और जितना अधिक ये जिंदा रहता है उतना ही अधिक श्रमिकों को चूसता है।
    ~ Karl Marx
  • संतोष गरीबों को अमीर बनाता है, असंतोष अमीरों को गरीब।Upload to Facebook
    संतोष गरीबों को अमीर बनाता है, असंतोष अमीरों को गरीब।
    ~ Benjamin Franklin
  • सभी भुगतान युक्त नौकरियां दिमाग को अवशोषित और अयोग्य बनाती हैं!Upload to Facebook
    सभी भुगतान युक्त नौकरियां दिमाग को अवशोषित और अयोग्य बनाती हैं!
    ~ Aristotle
  • प्राप्त हुए धन का उपयोग करने में दो भूलें हुआ करती हैं, जिन्हें ध्यान में रखना चाहिए। अपात्र को धन देना और सुपात्र को धन न देना।
    ~ Vedavyaas
  • धन पूरी तरह से जीवन अनुभव करने का सामर्थ्य है।
    ~ Henry David Thoreau
  • पैसा सब कुछ नहीं है लेकिन यह आपके बच्चों को आपसे जोड़ने में मदद करता है।Upload to Facebook
    पैसा सब कुछ नहीं है लेकिन यह आपके बच्चों को आपसे जोड़ने में मदद करता है।
    ~ J. Paul Getty
  • अगर हम पैसों की बजाये अपनी दुआयें गिने तो हम अमीर हो सकते हैं।Upload to Facebook
    अगर हम पैसों की बजाये अपनी दुआयें गिने तो हम अमीर हो सकते हैं।
    ~ Linda Poindexter
  • ​संपूर्ण जीवन का अनुभव ही धन है।
    ~ Henry David Thoreau
  • छोटे-छोटे खर्चों से सावधान रहिये​, एक छोटा सा छेद बड़े से जहाज़ को डूबा सकता है​​।
    ~ Benjamin Franklin
  • ​​प्राप्त हुए धन का उपयोग करने में दो भूलें हुआ करती हैं, जिन्हें ध्यान में रखना चाहिए। अपात्र को धन देना और सुपात्र को धन न देना।
    ~ Veda Vyasa
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT