• पहले कठिन काम पूरे कीजिये, आसान काम खुद-बखुद पूरे हो जायेंगे|
    पहले कठिन काम पूरे कीजिये, आसान काम खुद-बखुद पूरे हो जायेंगे|
    ~ Dale Carnegie
  • उद्देश्य के अनुसार प्रबंधन काम करता है - यदि आपको उद्देश्य पता हों| नब्बे प्रतिशत समय आपको ये पता नहीं होता|
    उद्देश्य के अनुसार प्रबंधन काम करता है - यदि आपको उद्देश्य पता हों| नब्बे प्रतिशत समय आपको ये पता नहीं होता|
    ~ Peter Drucker
  • एक अच्छा दिमाग और एक अच्छा दिल हमेशा से विजयी जोड़ी रहे हैं|
    एक अच्छा दिमाग और एक अच्छा दिल हमेशा से विजयी जोड़ी रहे हैं|
    ~ Nelson Mandela
  • अच्छा नेत्रित्व औसत लोगों को यह दिखाने में निहित है कि श्रेष्ठ लोगों का काम कैसे किया जाता है|
    अच्छा नेत्रित्व औसत लोगों को यह दिखाने में निहित है कि श्रेष्ठ लोगों का काम कैसे किया जाता है|
    ~ John D. Rockefeller
  • याद रखिये सबसे बड़ा अपराध अन्याय सहना और गलत के साथ समझौता करना है|
    याद रखिये सबसे बड़ा अपराध अन्याय सहना और गलत के साथ समझौता करना है|
    ~ Subhash Chandra Bose
  • भूत से चिपके रहने की अपेक्षा मैं भविष्य का स्वागत करूँगा।
    भूत से चिपके रहने की अपेक्षा मैं भविष्य का स्वागत करूँगा।
    ~ Robert Kiyosaki
  • हम चलना गिर कर सीखते हैं। अगर हम कभी न गिरें, तो हम कभी नहीं चल पायेंगे।
    हम चलना गिर कर सीखते हैं। अगर हम कभी न गिरें, तो हम कभी नहीं चल पायेंगे।
    ~ Robert Kiyosaki
  • सभी महान चीजें सरल होती हैं, और कईयों को एक शब्द में व्यक्त किया जा सकता है: स्वतंत्रता, न्याय, सम्मान, कर्तव्य, दया, आशा|
    सभी महान चीजें सरल होती हैं, और कईयों को एक शब्द में व्यक्त किया जा सकता है: स्वतंत्रता, न्याय, सम्मान, कर्तव्य, दया, आशा|
    ~ Winston Churchill
  • अच्छा है मैं ये नहीं सोचता कि किसी भी तरह की सफलता के लिए दृढ़ता के गुण से अधिक कोई और गुण आवश्यक है| ये लगभग हर चीज से पार पा लेता है, यहाँ तक की प्रकृति से भी|
    अच्छा है मैं ये नहीं सोचता कि किसी भी तरह की सफलता के लिए दृढ़ता के गुण से अधिक कोई और गुण आवश्यक है| ये लगभग हर चीज से पार पा लेता है, यहाँ तक की प्रकृति से भी|
    ~ John D. Rockefeller
  • मानव विकास के दो चरण हैं- कुछ होने से कुछ ना होना; और कुछ ना होने से सबकुछ होना, यह ज्ञान दुनिया भर में योगदान और देखभाल ला सकता है|
    मानव विकास के दो चरण हैं- कुछ होने से कुछ ना होना; और कुछ ना होने से सबकुछ होना, यह ज्ञान दुनिया भर में योगदान और देखभाल ला सकता है|
    ~ Sri Sri Ravi Shankar
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT