• यदि हम किसी भी देश के इतिहास को अतीत में जाएं, तो हम अंत में मिथकों और परम्पराओं के काल में पहुंच जाते हैं जो आखिरकार अभेद्य अन्धकार में खो जाता है।Upload to Facebook
    यदि हम किसी भी देश के इतिहास को अतीत में जाएं, तो हम अंत में मिथकों और परम्पराओं के काल में पहुंच जाते हैं जो आखिरकार अभेद्य अन्धकार में खो जाता है।
    ~ Bal Gangadhar Tilak
  • ज़िन्दगी बढ़िया हो सकती है अगर लोग आपको अकेला छोड़ दें|Upload to Facebook
    ज़िन्दगी बढ़िया हो सकती है अगर लोग आपको अकेला छोड़ दें|
    ~ Charlie Chaplin
  • कुछ लोग जहाँ जाते हैं वहां खुशियाँ लाते हैं, और कुछ लोग जब जाते हैं तब|Upload to Facebook
    कुछ लोग जहाँ जाते हैं वहां खुशियाँ लाते हैं, और कुछ लोग जब जाते हैं तब|
    ~ Oscar Wilde
  • यदि आप सौ लोगो को नहीं खिला सकते तो एक को ही खिलाइए|Upload to Facebook
    यदि आप सौ लोगो को नहीं खिला सकते तो एक को ही खिलाइए|
    ~ Mother Teresa
  • जो अपना दिमाग नहीं बदल सकते वे कुछ भी नहीं बदल सकते|Upload to Facebook
    जो अपना दिमाग नहीं बदल सकते वे कुछ भी नहीं बदल सकते|
    ~ George Bernard Shaw
  • अनुभव वो कंघी है जो ज़िन्दगी आपको तब देती है जब आप गंजे हो जाते हैं।Upload to Facebook
    अनुभव वो कंघी है जो ज़िन्दगी आपको तब देती है जब आप गंजे हो जाते हैं।
    ~ Navjot Singh Sidhu
  • मैं सिर्फ और सिर्फ एक चीज रहता हूँ और वो है एक जोकर। ये मुझे राजनीतिज्ञों की तुलना में कहीं ऊँचे स्थान पर स्थापित करता है।Upload to Facebook
    मैं सिर्फ और सिर्फ एक चीज रहता हूँ और वो है एक जोकर। ये मुझे राजनीतिज्ञों की तुलना में कहीं ऊँचे स्थान पर स्थापित करता है।
    ~ Charlie Chaplin
  • यदि मानव जाति को जीवित रखना है तो हमें बिलकुल नयी सोच की आवश्यकता होगी।
Upload to Facebook
    यदि मानव जाति को जीवित रखना है तो हमें बिलकुल नयी सोच की आवश्यकता होगी।
    ~ Albert Einstein
  • किसी आदमी का असली चरित्र तब सामने आता है जब वो नशे में होता है!Upload to Facebook
    किसी आदमी का असली चरित्र तब सामने आता है जब वो नशे में होता है!
    ~ Charlie Chaplin
  • ये सच है कि बारिश की कमी के कारण अकाल पड़ता है लेकिन ये भी सच है कि भारत के लोगों में इस बुराई से लड़ने की शक्ति नहीं है।Upload to Facebook
    ये सच है कि बारिश की कमी के कारण अकाल पड़ता है लेकिन ये भी सच है कि भारत के लोगों में इस बुराई से लड़ने की शक्ति नहीं है।
    ~ Bal Gangadhar Tilak
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT