• मैं सुनिश्चित करती थी कि मेरे आस-पास मौजूद लोग मेरे साथ अच्छा व्यवहार करें और मैं केवल उन्ही के करीब जाती थी जिनका चरित्र अच्छा था और जो दिल से अच्छे थे।
    मैं सुनिश्चित करती थी कि मेरे आस-पास मौजूद लोग मेरे साथ अच्छा व्यवहार करें और मैं केवल उन्ही के करीब जाती थी जिनका चरित्र अच्छा था और जो दिल से अच्छे थे।
    ~ Jayalalithaa
  • आप कभी मुझे भूल नहीं सकते क्योंकि यदि मैं आपकी सोच हूं और मैं कभी आपको छोड़ नहीं सकता।
    आप कभी मुझे भूल नहीं सकते क्योंकि यदि मैं आपकी सोच हूं और मैं कभी आपको छोड़ नहीं सकता।
    ~ A.A. Milne
  • आत्म साक्षात्कार मेँ बाधक बनने वाली प्यारी चीज को भी तुरंत हटा देना चाहिए|
    आत्म साक्षात्कार मेँ बाधक बनने वाली प्यारी चीज को भी तुरंत हटा देना चाहिए|
    ~ Swami Ramtirth
  • अहिंसा ही परम धर्म है, अहिंसा ही परम तप है, अहिंसा ही परम ज्ञान है, और अहिंसा ही परम पद है|
    अहिंसा ही परम धर्म है, अहिंसा ही परम तप है, अहिंसा ही परम ज्ञान है, और अहिंसा ही परम पद है|
    ~ Maharshi Vedvyas
  • किसी चीज का अंत में विरोध करने से बेहतर है, कि उस चीज का शुरुआत में विरोध कर दो|
    किसी चीज का अंत में विरोध करने से बेहतर है, कि उस चीज का शुरुआत में विरोध कर दो|
    ~ Leonardo da Vinci
  • अभी भी जो सुंदरता आपके आस-पास बची है, उसके बारे में सोचिये और खुश रहिये।
    अभी भी जो सुंदरता आपके आस-पास बची है, उसके बारे में सोचिये और खुश रहिये।
    ~ Anne Frank
  • खूबसूरती शराब से भी ज्यादा बख्तर होती है, क्योकि इसे देखने वाले और रखने वाले दोनों ही मदहोश रहते है।
    खूबसूरती शराब से भी ज्यादा बख्तर होती है, क्योकि इसे देखने वाले और रखने वाले दोनों ही मदहोश रहते है।
    ~ Aldous Huxley
  • शब्द रत्न है, कपडा है, जीवन को बनाये रखने वाला भोजन है और लोगो के बीच बाटने वाला धन है|
    शब्द रत्न है, कपडा है, जीवन को बनाये रखने वाला भोजन है और लोगो के बीच बाटने वाला धन है|
    ~ Saint Tukaram
  • सत्ता के प्रति विचारहीन सम्मान सत्य का सबसे बड़ा शत्रु है|
    सत्ता के प्रति विचारहीन सम्मान सत्य का सबसे बड़ा शत्रु है|
    ~ Albert Einstein
  • स्वस्थ्य नागरिक किसी देश के लिए सबसे बड़ी संपत्ति होते हैं|
    स्वस्थ्य नागरिक किसी देश के लिए सबसे बड़ी संपत्ति होते हैं|
    ~ Winston Churchill