• कोशिश आखरी सांस तक करनी चाहिये यारो...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    मिल गयी तो चूत और नहीं मिली तो उसकी माँ की चूत।
  • इतना मत पियो मयखाने में कि...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    मइया चुद जाये घर जाने में।
  • अर्थ का अनर्थ:
    एक लिफ्ट पर दो नोट लिखे थे।
    1. महिलाओ का खास ख्याल रखें
    2. एक बार में 6 से ज्यादा आदमी न चढें
  • टीचर: तुमने आज भी होमवर्क नहीं किया? अब तू ही बोल तुम्हें क्या सजा दूँ?
    पप्पु: सर, वो लास्ट बेंच पर जो लडकी बैठी है ना उसने भी होमवर्क नहीं किया है। हम दोनो को नंगा कर के बाथरूम में बंद कर दो।
  • घर वाले चूँकि 'चूतिया' शब्द का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं इसलिए अक्सर कह देते हैं:
    "भोला रह गया ये लड़का"।
  • एक बिहारी महान फुटबॉल खिलाडी पेले से मिला।
    बिहारी: क्या नाम है तुम्हारा?
    पेले: हम पेले हैं।
    बिहारी: पेले तो हम भी बहुत हैं, भोसड़ी के नाम बताओ नाम।
  • गोरी लड़की: तू इतनी काली क्यों है?
    काली लड़की: हाँ मैं काली हूँ, तेरे बाप का क्या जाता है?
    गोरी लड़की: मेरे बाप का गया होता तो तू भी गोरी ही होती।
  • पत्नी नयी पारदर्शी ब्रा और पेंटी पहनकर पति के सामने खड़ी हो गयी।
    पति: यार बड़ी सेक्सी लग रही हो... लंड खड़ा कर दिया।
    पत्नी: दुकानदार भी यही बोल रहा था।
  • एक अनपढ़ लड़की की सुहागरात के अगले दिन उसकी पढ़ी-लिखी बहन उसे छेड़ने के लिए फोन करती है...
    बहन: और दीदी कैसी रही आपकी सुहागरात? मज़ा आया कि नहीं?
    दीदी: हाँ, बहुत मजा आया।
    बहन: और जीजा जी का नेचर कैसा है?
    दीदी (शरमाते हुए): बहुत मोटा है।
  • यार ये Condom बनाने वालों ने मस्त मस्त खुशबू वाले फ्लेवर निकाल दिए हैं।
    बाजू से कोई औरत निकल जाए तो पता ही नहीं चलता कि नहा के आई है या मरवा के?