• एक आदमी की बाईक पंक्चर हो गयी किसी तरह वो उसको लेकर पास के एक सर्विस स्टेशन में पहुँचा। वहाँ जाकर पंक्चर लगाने वाले लड़के से बोला, "बाईक घसीट घसीट के गांड फट गयी।"
    लड़के ने कन्फ्यूज़ होकर पूछा, "तो फिर पहले पंक्चर कहाँ लगाऊं, गांड पे या बाईक में?"
  • आज का कुविचार:<br/>
सूखा पेड़ और मूर्ख व्यक्ति कभी नही झुकते,<br/>
फलदार पेड और गुणवान व्यक्ति ही झुकते हैं। इसलिए गाँड भी इन्ही की मारी जाती है।Upload to Facebook
    आज का कुविचार:
    सूखा पेड़ और मूर्ख व्यक्ति कभी नही झुकते,
    फलदार पेड और गुणवान व्यक्ति ही झुकते हैं। इसलिए गाँड भी इन्ही की मारी जाती है।
  • इस तरह से रूठी थी वो मुझसे कि,<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
मुझे लगा अब कभी नहीं देगी।Upload to Facebook
    इस तरह से रूठी थी वो मुझसे कि,
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    मुझे लगा अब कभी नहीं देगी।
  • दोस्त: दाढ़ी रखा कर भाई। अच्छा लगता है।
    माँ: शेव कर ले। जंगली लग रहा है।
    शेव करने के बाद
    माँ: अब इंसान लग रहा है मेरा बेटा।
    दोस्त: छक्का लग रहा है भोसड़ी के।
  • ये जरुरी नहीं कि तू मुझे मिले,
    .
    .
    .
    .
    .
    जरुरी ये है कि कैसे मुझे "तेरी" मिले।
    ~बाबा कामदेव
  • पप्पू: पापा बर्थडे पे हम गुब्बारे क्यों फोड़ते हैं?<br />
संता: क्योंकि बेटा गुब्बारा फूट जाने की वजह से ही आज तू बर्थडे मना रहा है।Upload to Facebook
    पप्पू: पापा बर्थडे पे हम गुब्बारे क्यों फोड़ते हैं?
    संता: क्योंकि बेटा गुब्बारा फूट जाने की वजह से ही आज तू बर्थडे मना रहा है।
  • इस तरह से रूठी थी वो मुझसे कि...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    मुझे लगा अब कभी नहीं देगी!
  • सुबह का भूला शाम को घर आ जाये उसे क्या कहते है?
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    "दिन भर कहा गांड मरा रहा था?"
  • पत्नी: मुझे Watermelon चाहिए।
    पति ने उसे बाथ टब में चोद दिया।
  • शिलाजीत, मूसली और जापानी तेल के विज्ञापनों से भरे पेपर को देख कर ऐसा लगता हैं कि...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    देश की असली समस्या कश्मीर और भ्रष्टाचार नहीं बल्कि टेढा, पतला, छोटा लिंग और शीघ्र पतन है।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT