• एक आदमी बड़ी परेशानी की हालत में ऑफिस से घर पहुंचा पहुंचा।
    पत्नी (प्यार से): सुनो जी, कल बर्थडे पे मुझे नई साड़ी ले दोगे?
    पति (गुस्से में): गांड मरा।
    पत्नी: फिर तो दो लूंगी।
  • साला क्या ज़माना आ गया है!
    इंसान तो इंसान, मोबाइल की बैटरी को भी शीघ्रपतन की भी बीमारी लग गई है।
  • ज़िन्दगी में परेशानियां 'चुनौतियों' की वजह से कम,
    और 'चूतियों' की वजह से ज़्यादा होती हैं।
  • आज का कुविचार:
    सिर्फ जूस पीने से ताकत नही आती,
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    मुठ मारनी भी बंद करनी पड़ेगी।
  • अशलीलता की शुरुआत इस गाने से हुई -
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    "नन्हें मुनहे बच्चे तेरी मुट्ठी में क्या है?"
  • आज का कुविचार:
    सिर्फ जूस पीने से ताकत नही आती,
    मुठ मारनी भी बंद करनी पड़ेगी।
  • एक आदमी की मौत के बाद उसका दोस्त उसकी पत्नी के पास आया और बोला,
    "क्या मैं उसकी जगह ले सकता हूँ?"
    पत्नी: मुझे कोई ऐतराज़ नहीं है। कब्रिस्तान वालों से एक बार पूछ लो।
  • आज का ज्ञान:
    जो ज्यादा उछलते हैं वही ज्यादा दबाये भी जाते हैं।
  • आज का कुविचार:
    मित्र का मन और गर्लफ्रेंड का स्तन हमेशा बड़ा होना चाहिए।
  • पिता अपने बेटे से:
    "बेटा, जरा कंप्यूटर का पासवर्ड बताना।"
    बेटा: मैं डाल देता हूँ पिता जी।
    पिता: बाप हूँ तेरा, मैं डाल लूंगा, बताओ।
    बेटा: मैं डाल देता हूँ ना आप से कुछ गलती हो जायेगी।
    पिता: अनपढ़ नहीं हूँ बोल।
    बेटा: फिर भी मैं डाल देता हूँ ना पिता जी।
    पिता: बोल।
    बेटा: "MADARCHOD" बड़े अक्षरों में।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT