• गाँव की लडकी: तुम एकदम "मादरचोद" लग रहे हो।
    लडका: क्या?
    गाँव की लडकी: अरे वो होता है न, असली मर्द।
    लडका: अबे बहन की लौडी, उसे "माचो" कहते हैं।
  • लड़की: तुम कितने साल के हो?
    लड़का: 20 और तुम कितने साल की हो?
    लड़की: 20
    लड़का: तो फ़िर एक Twenty-Twenty मैच हो जाये?
    लड़की: 4 दिन Wait करो।
    लड़का: क्यों?
    लड़की: पिच गीली है।
  • लडका: आई लव यू
    लडकी: पर मैं तुमसे प्यार नहीं करती। लडका: ऐसा नही बोलो मेरे लंड मे तुम्हारा बच्चा पल रहा है।
  • दिन भर की थकान के बाद पत्नी: आह! कोई चीज़ इतना सुकून नहीं देती जितना दिन भर की थकान के बाद 'ब्रा' उतारना।<br/>
पति: हाँ कभी 'गोटी खुजाई' हो तो जानो।Upload to Facebook
    दिन भर की थकान के बाद पत्नी: आह! कोई चीज़ इतना सुकून नहीं देती जितना दिन भर की थकान के बाद 'ब्रा' उतारना।
    पति: हाँ कभी 'गोटी खुजाई' हो तो जानो।
  • पता नहीं कौन भौसडी का हमारी समस्याओं को जापानी तेल लगा जाता है...<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
हमेशा खड़ी ही रहती हैं।Upload to Facebook
    पता नहीं कौन भौसडी का हमारी समस्याओं को जापानी तेल लगा जाता है...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    हमेशा खड़ी ही रहती हैं।
  • यू.पी. के एक गाँव में एक बहुत गोरी चिट्टी बहु आई।
    एक बुढ़िया बोली: अरे बहु तो बहुत गोरी है।
    लड़का: अरे अम्मा लंडन में रही है तो गोरी तो होगी ही।
    बुढ़िया: अरे बेटे हम भी सारी उमर लंडों में ही रहे पर रंग में तो कोई फरक नहीं पड़ा।
  • गूंगी अपने स्तन हिला के दिखा रही थी, गूंगा अपनी लुल्ली निकालकर हिलाने लगा!
    बताओ क्या समझे?
    गूंगी: दूध वाला कब आयेगा?
    गूंगा: 1 घंटे बाद।
  • गुरु जी बोले, "जो घिसेगा अच्छी तरह तो महकेगा चन्दन की तरह"।
    चेला बोला, "गुरू जी फिर चूत में से बदबू क्यों आती है?"
    गुरू जी: इस बहन के लवडे की गांड में गरम तेल डालो। मादरचोद ध्यान भटका रहा है।
  • लड़का: मैं तुमसे प्यार करता हूँ।<br/>
लड़की: पहले, गिरेहबान में झाँक कर देख।<br/>
लड़का: अरे वाह! इतने बढे।<br/>
लड़की: हरामखोर! अपनी में झाँक।Upload to Facebook
    लड़का: मैं तुमसे प्यार करता हूँ।
    लड़की: पहले, गिरेहबान में झाँक कर देख।
    लड़का: अरे वाह! इतने बढे।
    लड़की: हरामखोर! अपनी में झाँक।
  • लड़की मंदिर में प्रसाद लेकर पंडित के पैर छु कर बोली, "कोई ज्ञान की बात बताओ, पंडित जी!"
    पंडित: बेटी ब्रा पहना करो, जब झुकती हो तो ध्यान और ज्ञान दोनों की वाट लग जाती है।