• जीतो: भैया मेरी नाली का पानी कैसे निकलेगा? <br/>
जमादार: बीवी जी, आपकी नाली में बस डंडा डालने की देर है, पानी तो मैं 2 मिनट में निकाल दूंगा।
Upload to Facebook
    जीतो: भैया मेरी नाली का पानी कैसे निकलेगा?
    जमादार: बीवी जी, आपकी नाली में बस डंडा डालने की देर है, पानी तो मैं 2 मिनट में निकाल दूंगा।
  • जीतो को बाज़ार में पीछे से किसी ने ऊँगली कर दी और वह छुप गया।
    पीछे एक 65 साल का बाबा खड़ा था।
    जीतो: बाबा जी मिस्ड काल आपने दी?
    बाबा सलवार खोलकर बोला: मेरा तो बैलेंस ही खत्म है।
  • जीतो: डॉक्टर साहब जब मैं सुसु करती हूँ तो 4 धार निकलती है।<br/>
डॉक्टर ने चेक किया और बोला: 4 धार ही निकलेगी क्योंकि अन्दर आदमी की पेंट का बटन घुसा हुआ है।Upload to Facebook
    जीतो: डॉक्टर साहब जब मैं सुसु करती हूँ तो 4 धार निकलती है।
    डॉक्टर ने चेक किया और बोला: 4 धार ही निकलेगी क्योंकि अन्दर आदमी की पेंट का बटन घुसा हुआ है।
  • जज: जब तुम्हारा रेप हुआ तो तुमने क्या महसूस किया?
    जीतो: लड्डू अगर जबरदस्ती खिलाया जाए तो भी लगता तो मीठा ही है।
  • प्रीतो ने जीतो से कहा: मुझे बच्चा नहीं हो रहा।
    जीतो: तुम्हारा पति नामर्द होगा?
    प्रीतो: मेरा पति क्या, मुझे तो तुम्हारा पति भी नामर्द ही लगता है।
  • प्रीतो: बहन ये रेप का मतलब क्या होता है?<br />
जीतो: सही जगह पर गलत आदमी का होना रेप कहलाता है।Upload to Facebook
    प्रीतो: बहन ये रेप का मतलब क्या होता है?
    जीतो: सही जगह पर गलत आदमी का होना रेप कहलाता है।
  • जीतो ने हरे रंग का सूट पहना हुआ था।
    प्रीतो देखकर बोली,"आज कल तो एकदम हरी फसल लग रही हो?"
    जीतो: बहन, तेरा जीजा रात में दो बार पानी डालता है हरी क्यों न रहूं।
  • जीतो और प्रीतो दोनों काफी साल बाद मिले।<br/>
जीतो: जब तेरा तलाक हुआ था तब तो एक ही बच्चा था, अब तीन कैसे?<br/>
प्रीतो: दरअसल वो कभी-कभी माफ़ी माँगने आ जाते थे।Upload to Facebook
    जीतो और प्रीतो दोनों काफी साल बाद मिले।
    जीतो: जब तेरा तलाक हुआ था तब तो एक ही बच्चा था, अब तीन कैसे?
    प्रीतो: दरअसल वो कभी-कभी माफ़ी माँगने आ जाते थे।
  • एक बार जीत्तो दुकानदार से ब्रा की कीमत को लेकर मोलभाव कर रही थी।
    दुकानदार:भाभीजी ब्रा में आपका दिल रखा है लेकिन पैंटी में आपको मेरी जुबान रखनी पड़ेगी।
  • जीतो: कंडोम देना।
    दुकानदार: कौन सी कंपनी का दूँ बहन जी?
    जीतो: अच्छी का देना।
    जिससे तेरी बहन की इज्जत बनी रही, और तुम मामा भी न बनो।