• नौकरानी: मेम साहब, मैं गर्भवती हूँ। मुझे लम्बी छुट्टी चाहिए।
    जीतो: अरे वाह, सखुबाई। अपना ख्याल रखना।
    नौकरानी: जी मेम साहब। आप भी अपना ख्याल रखना, साहब का नसबंदी का ऑपरेशन फेल हो गया है।
  • अगर एक बिना चोली के महिला के स्तन दिखें तो उसको उर्दू में क्या बोलेंगे?

    सोचो सोचो।
    नहीं मालूम? उसे उर्दू में कहते हैं
    .
    . .
    . . .
    "खुले आम"।
  • लड़की की टी-शर्ट पर आकर्षक संदेश:
    सिर्फ सोचने से नहीं;
    सिर्फ देखने से नहीं;
    कुछ करने से बड़े होते हैं
    .
    ..
    ...
    ....
    .....
    इंसान।
  • अध्यापिका: अगर मैं तुम्हारी 'मम्मी' होती तो तुम्हें 2 दिन में गधे से इंसान बना देती।
    पप्पू: और मेरे पापा आपको 1 रात में इंसान से घोड़ी बना देते।
  • पत्नी को खुश रखने के 3 तरीके:

    1. रोज़ उसके साथ करो, 'समझौता'
    2. रोज़ अच्छे से दबाओ उसके 'पैर'
    3. रोज़ अपना खोल के उसके हाथों में रख दो 'पर्स'!
  • जीतो दवाई की दुकान पर जाकर बोली, "2 तरह की गोली देना, एक तो 2 महीने तक गर्भवस्था (Pregnancy ) ना हो; और एक 2 महीने तक बिल्कुल खड़ा ही ना हो"।
    दवाई विक्रेता: ऐसा क्यों?
    जीतो: बच्चों की स्कूल की छुट्टियां हैं, 2 महीने के लिए माइके जा रही हूँ।
  • जौनपुर (उत्तर प्रदेश) के प्रकाश थिएटर में भोजपुर फिल्म का विज्ञापन, "बड़े घर की बहु" का लीजिए मज़ा हर रोज़ दिन में 4 बार,
    12-3-6-9.
    ऊपर का 50 रुपये में, नीचे का 100 रुपये में, एडवांस बुकिंग चालू है।
  • पप्पू: तू कितने बजे उठती हो?
    गर्लफ्रेंड: अपना कोई टाइम नहीं है, जब दिल करे सो जाती हूँ और जब दिल करे उठ जाती हूँ।
    पप्पू बहुत ही शरारती अंदाज़ में बोला, "तू तो बिल्कुल मेरे औज़ार पे गई है।"
  • हाथ में पकड़ो तो दबाने का दिल करता है।
    दबा लो तो चूसने का दिल करता है।
    चाहे जितना मर्ज़ी चूस लो, दिल ही नहीं भरता।
    क्योंकि
    .
    . .
    . . .
    बहुत कम समय के लिए आता है 'आम' का मौसम।
  • संता (गुस्से में): इस लड़की में ऐसा क्या है कि तूने शादी के लिए हाँ कर दी?
    पप्पू ने हक्का बक्का कर देने वाला जवाब दिया, "पापा जी, ये बचपन में अंगूठा बहुत अच्छा चूसती थी।