• अध्यापक: हिंदी की सबसे छोटी इकाई (Unit) को स्प्ष्ट करने वाली संख्या क्या है?<br/>
पप्पू: झांट बराबर!
    अध्यापक: हिंदी की सबसे छोटी इकाई (Unit) को स्प्ष्ट करने वाली संख्या क्या है?
    पप्पू: झांट बराबर!
  • एक बार पठान से एक सवाल पूछा गया।<br/>
सवाल: 'बार्सेलोना' का उल्टा क्या है?<br/>

जवाब: अन्दर से दोना !
    एक बार पठान से एक सवाल पूछा गया।
    सवाल: 'बार्सेलोना' का उल्टा क्या है?
    जवाब: अन्दर से दोना !
  • टीचर ने पप्पू  परीक्षा में नक़ल करते पकड़ लिया और कहा, `चुप-चाप बाहर चले जाओ, क्योंकि तुम जो भी कहोगे हम उस पर ध्यान नहीं देंगे।`<br/>

पप्पू: आपके बूब्स बड़े मस्त हैं, टीचर!
    टीचर ने पप्पू परीक्षा में नक़ल करते पकड़ लिया और कहा, "चुप-चाप बाहर चले जाओ, क्योंकि तुम जो भी कहोगे हम उस पर ध्यान नहीं देंगे।"
    पप्पू: आपके बूब्स बड़े मस्त हैं, टीचर!
  • डॉक्टर: यह तुम्हारे घुटने कैसे ज़ख़्मी कैसे हो गए?<br/>
पिंकी: वो 'डॉगी स्टाइल' की वजह से।<br/>
डॉक्टर: तो क्या तुम्हे और कोई तरीका नहीं आता?<br/>
पिंकी: मुझे तो आता है पर 'डॉगी' को नहीं!
    डॉक्टर: यह तुम्हारे घुटने कैसे ज़ख़्मी कैसे हो गए?
    पिंकी: वो 'डॉगी स्टाइल' की वजह से।
    डॉक्टर: तो क्या तुम्हे और कोई तरीका नहीं आता?
    पिंकी: मुझे तो आता है पर 'डॉगी' को नहीं!
  • एक पत्रकार ने एक लड़की से पूछा, "आपके पास इतना बड़ा घर, गाड़ी, बैंक-बैलेंस कैसे आया?
    लड़की: मेरा बस एक छोटा सा 'होल' सेल का बिज़नेस है।
  • हिंदुस्तान में आधी लड़कियों की इज़्ज़त इस लिए बच जाती हैं क्यूंकि वक़्त पर 'कमरा' नहीं मिलता।
  • पठान अपनी बीवी से: मुझे तुमसे एक बात कहनी है।
    बीवी: क्या?
    पठान: वो क्या है कि जब भी मैं तुम्हारे साथ सेक्स करता हूँ तो मैं दूसरी औरतों के बारे में सोचता हूँ।
    बीवी: कमीने, एक मैं हूँ कि जब भी किसी और के साथ सेक्स करती हूँ तो सिर्फ तुम्हारे बारे में सोचती हूँ!
  • जीतो: मैंने पति से बहस में जीतने का नया तरीका ढूंढा है।<br/>
प्रीतो: सच में, मुझे भी बताओ।<br/>

जीतो: जब भी तुम्हारी पति से बहस हो जाये अपने कपडे उतार देना। हर बार तुम ही जीतोगे।
    जीतो: मैंने पति से बहस में जीतने का नया तरीका ढूंढा है।
    प्रीतो: सच में, मुझे भी बताओ।
    जीतो: जब भी तुम्हारी पति से बहस हो जाये अपने कपडे उतार देना। हर बार तुम ही जीतोगे।
  • पिंकी अपनी सहेली से: यार शुरू-शुरू में तो बड़ा मज़ा आया पर...
    सहेली: पर क्या, बताओ न?
    पिंकी: पर बाद में बहुत ज़ोर-ज़ोर से झटके लगने लगे।
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    अब दोबारा मैं कभी रिक्शा में नहीं जाउंगी।
  • हम ऐसा क्यों कहते हैं कि 'प्यार में गिर गया'?
    .
    .
    .
    .
    क्योंकि
    .
    .
    .
    प्यार में 'खड़ा हो गया' बोलते अच्छा नहीं लगता न।