• अध्यापिका: बच्चो आज हम व्याकरण पढेंगे, तो बताओ एक औरत एक खिड़की से झांक रही है, ये क्या है?<br/>
बंटी: मैडम जी, यह एक वचन हुआ।<br/>
अध्यापिका: अच्छा, पप्पू, अब तुम बताओ कि बहुत सी औरतें खिड़कियों से झांक रही हैं?<br/>
पप्पू कुछ सोचकर बोला, `मैडम, ये तो रंडी बाज़ार हुआ।
    अध्यापिका: बच्चो आज हम व्याकरण पढेंगे, तो बताओ एक औरत एक खिड़की से झांक रही है, ये क्या है?
    बंटी: मैडम जी, यह एक वचन हुआ।
    अध्यापिका: अच्छा, पप्पू, अब तुम बताओ कि बहुत सी औरतें खिड़कियों से झांक रही हैं?
    पप्पू कुछ सोचकर बोला, "मैडम, ये तो रंडी बाज़ार हुआ।
  • एक औरत अपने नौकर से: जब तुम मेरे कमरे में आओ तो पहले दरवाज़ा खटखटाया करो, पता नहीं मैं किस हालत मैं बैठी होऊं।
    नौकर: इसकी कोई आवश्यकता नहीं है मैडम जी, क्योंकि मैं जब भी अंदर आता हूँ पहले दरवाज़े के छेद से देख लेता हूँ।
  • दुनिया में हर इंसान के अलग-अलग नाम हैं पर फिर भी जब भीड़ में हम आवाज़ देते हैं 'अबे ओ चूतिये' तो कसम से 20 में से 18 लोग जरूर पलट कर देखते हैं।
  • क्या आप सेक्स करते हैं?
    क्या आप कंडोम का इस्तेमाल करते हैं?
    क्या आप एड्स से डरते हैं?
    तो आप 'हाथ' से क्यों नहीं करते?
    आओ प्रण लो कि "अबकी बार, हाथ का साथ"।
  • बंता: यार यह तो बहुत बुरा हुआ।<br/>
संता: क्या बुरा हुआ?<br/>
बंता: यार तुम्हारी बीवी ड्राइवर के साथ भाग गयी।<br/>
संता: तो इसमें बुरा क्या हुआ? मैं खुद उसे नौकरी से निकालना चाहता था।
    बंता: यार यह तो बहुत बुरा हुआ।
    संता: क्या बुरा हुआ?
    बंता: यार तुम्हारी बीवी ड्राइवर के साथ भाग गयी।
    संता: तो इसमें बुरा क्या हुआ? मैं खुद उसे नौकरी से निकालना चाहता था।
  • लंड के भरोसे जिया नहीं करते;
    चूत के प्यालों को पिया नहीं करते;
    कुछ दोस्त भोसड़ी के ऐसे भी होते हैं;
    जिनके गांड में उँगली न करो तो वो याद किया भी नहीं करते!
  • ख़ुशी, लंड की तरह होती है, देखने में छोटी पर जितनी बांटो बढ़ती जाती है!
  • अध्यापिका: धरती पर दो तरह के सेक्स मौजूद हैं, पुरुष और स्त्री।<br />
पप्पू: मुझे कुछ और सेक्स के बारे में भी पता है।<br />
अध्यापिका: कौन-कौन से?<br />
पप्पू: बैडरूम सेक्स, बाथरूम सेक्स, गार्डन सेक्स, ऑनलाइन सेक्स...
    अध्यापिका: धरती पर दो तरह के सेक्स मौजूद हैं, पुरुष और स्त्री।
    पप्पू: मुझे कुछ और सेक्स के बारे में भी पता है।
    अध्यापिका: कौन-कौन से?
    पप्पू: बैडरूम सेक्स, बाथरूम सेक्स, गार्डन सेक्स, ऑनलाइन सेक्स...
  • सिंधी: हम तालिम में पीछे हैं।
    बलूची: हम फैशन में पीछे हैं।
    पंजाबी: हम जॉब्स में पीछे हैं।
    .
    .
    .
    पठान: हम जान-बूझ कर पीछे हैं।
  • बॉयफ्रेंड अपनी गर्लफ्रेंड से: तुम मेरी किस चीज़ से इम्प्रेस हो? मेरे पैसे, रहन-सहन या कुछ और?<br/>

गर्लफ्रेंड: तुम्हारे सेक्स करने के तरीके से, क्योंकि तुम्हारे जैसा सेक्स पूरे मोहल्ले में कोई नहीं करता।
    बॉयफ्रेंड अपनी गर्लफ्रेंड से: तुम मेरी किस चीज़ से इम्प्रेस हो? मेरे पैसे, रहन-सहन या कुछ और?
    गर्लफ्रेंड: तुम्हारे सेक्स करने के तरीके से, क्योंकि तुम्हारे जैसा सेक्स पूरे मोहल्ले में कोई नहीं करता।