• हमें बरबाद करना है तो हमसे प्यार करो,<br/>
नफरत करोगे तो खुद बरबाद हो जाओगे।Upload to Facebook
    हमें बरबाद करना है तो हमसे प्यार करो,
    नफरत करोगे तो खुद बरबाद हो जाओगे।
  • बड़ा फर्क है तेरी और मेरी मोहब्बत में,<br/>
तू परखता रहा और हमने ज़िंदगी यकीन में गुजार दी।Upload to Facebook
    बड़ा फर्क है तेरी और मेरी मोहब्बत में,
    तू परखता रहा और हमने ज़िंदगी यकीन में गुजार दी।
  • प्यार अगर सच्चा हो तो कभी नहीं बदलता,
    ना वक्त के साथ ना हालात के साथ।
  • तेरी वफ़ा के तकाजे बदल गये वरना,
    मुझे तो आज भी तुझसे अजीज कोई नहीं।
  • वो लफ्ज कहाँ से लाऊं जो तेरे दिल को मोम कर दें,<br/>
मेरा वजूद पिघल रहा है तेरी बेरूखी से।Upload to Facebook
    वो लफ्ज कहाँ से लाऊं जो तेरे दिल को मोम कर दें,
    मेरा वजूद पिघल रहा है तेरी बेरूखी से।
  • मैं भी हुआ करता था वकील इश्क वालों का कभी;<br/>
नज़रें उस से क्या मिलीं आज खुद कटघरे में हूँ।Upload to Facebook
    मैं भी हुआ करता था वकील इश्क वालों का कभी;
    नज़रें उस से क्या मिलीं आज खुद कटघरे में हूँ।
  • होती अगर मोहब्बत बादल के साये की तरह,
    तो मैं तेरे शहर में कभी धूप ना आने देता।
  • हर बात का कोई जवाब नही होता,
    हर इश्क का नाम खराब नही होता,
    यूँ तो झूम लेते हैं नशे में पीने वाले,
    मगर हर नशे का नाम शराब नही होता।
  • खुदा की इतनी बड़ी कायनात में मैंने,<br/>

बस एक शख्स को मांगा मुझे वही ना मिला।Upload to Facebook
    खुदा की इतनी बड़ी कायनात में मैंने,
    बस एक शख्स को मांगा मुझे वही ना मिला।
    ~ Bashir Badr
  • ना कर दिल अजारी, ना रुसवा कर मुझे;<br/>

जुर्म बता, सज़ा सुना और किस्सा खत्म कर।Upload to Facebook
    ना कर दिल अजारी, ना रुसवा कर मुझे;
    जुर्म बता, सज़ा सुना और किस्सा खत्म कर।