Hindi Shayari

Page: 1
तेरे ग़म में तड़प कर मर जायेंगे;
मर गए तो तेरा नाम ले जायेंगे;
रिश्वत देकर तुझे भी बुलायेंगे;
तुम ऊपर आओगे तो साथ बैठकर कुरकुरे खायेंगे।
कहने देती नहीं कुछ मुँह से मोहब्बत मेरी;
लब पे रह जाती है आ आ के शिकायत मेरी।
~ Daag Dehlvi
दिल की धड़कनो को एक लम्हा सब्र नहीं;<br/>
शायद उसको अब मेरी ज़रा भी कदर नहीं;<br/>
हर सफर में मेरा कभी हमसफ़र था वो;<br/>
अब सफर तो हैं मगर वो हमसफ़र नहीं।
दिल की धड़कनो को एक लम्हा सब्र नहीं;
शायद उसको अब मेरी ज़रा भी कदर नहीं;
हर सफर में मेरा कभी हमसफ़र था वो;
अब सफर तो हैं मगर वो हमसफ़र नहीं।
ख़्वाहिश नहीं मुझे मशहूर होने की;<br/>
आप मुझे पहचानते हो बस इतना ही काफी है।
ख़्वाहिश नहीं मुझे मशहूर होने की;
आप मुझे पहचानते हो बस इतना ही काफी है।
सामने मंज़िल थी और पीछे उसका वजूद;
क्या करते हम भी यारों;
रुकते तो सफर रह जाता चलते तो हमसफ़र रह जाता।
टूटी है मेरी नींद...

टूटी है मेरी नींद, मगर तुमको इससे क्या;
बजते रहें हवाओं से दर, तुमको इससे क्या;

तुम मौज-मौज मिस्ल-ए-सबा घूमते रहो;
कट जाएँ मेरी सोच के पर तुमको इससे क्या;

औरों का हाथ थामो, उन्हें रास्ता दिखाओ;
मैं भूल जाऊँ अपना ही घर, तुमको इससे क्या;

अब्र-ए-गुरेज़-पा को बरसने से क्या ग़रज़;
सीपी में बन न पाए गुहर, तुमको इससे क्या;

ले जाएँ मुझको माल-ए-ग़नीमत के साथ उदू;
तुमने तो डाल दी है सिपर, तुमको इससे क्या;

तुमने तो थक के दश्त में ख़ेमे लगा लिए;
तन्हा कटे किसी का सफ़र, तुमको इससे क्या।
~ Parveen Shakir
कैसे कह दूँ कि मुझे छोड़ दिया है उस ने;<br/>
बात तो सच है ये मगर बात है रुस्वाई की।
कैसे कह दूँ कि मुझे छोड़ दिया है उस ने;
बात तो सच है ये मगर बात है रुस्वाई की।
~ Parveen Shakir
इश्क़ का शुक्रिया कुछ इस तरह अदा करूँ;<br/>
आप भूल भी जाओ तो मैं हर पल याद करूँ;<br/>
इस इश्क़ ने बस इतना सिखाया है मुझे;<br/>
कि खुद से पहले आपके लिए दुआ करूँ।
इश्क़ का शुक्रिया कुछ इस तरह अदा करूँ;
आप भूल भी जाओ तो मैं हर पल याद करूँ;
इस इश्क़ ने बस इतना सिखाया है मुझे;
कि खुद से पहले आपके लिए दुआ करूँ।
मुझे भी अब नींद की तलब नहीं;
अब रातों को जागना अच्छा लगता है;
पता नहीं वो मेरी तकदीर में है कि नहीं;
पर उसे खुदा से माँगना अच्छा लगता है।
कुछ तो शराफत सीख ले ऐ इश्क़ शराब से;
बोतल पे लिखा तो है मैं जानलेवा हूँ।

Quotes

प्रेम अपने आप में एक सफर की शुरआत है और इसका अंत सफर का अंत है।

Trivia

Sunil Dutt was much more than the suave hero, he was quite the Bollywood baddie! The actor played the role of a dacoit in 20 movies in his career.

Graffiti

Actor - A man who tries to be everything but himself.