अब कर के फ़रामोश तो नाशाद करोगे;
पर हम जो न होंगे तो बहुत याद करोगे।
Send to your FB Contact's Inbox directly
भुला के मुझको अगर तुम भी हो सलामत;
तो भुला के तुझको संभलना मुझे भी आता है;
नहीं है मेरी फितरत में ये आदत वरना;
तेरी तरह बदलना मुझे भी आता है।
Send to your FB Contact's Inbox directly
ज़रूरी नहीं कि जीने का कोई सहारा हो;
ज़रूरी नहीं कि जिसके हम हों वो भी हमारा हो;
कुछ कश्तियाँ डूब जाया करती हैं;
ज़रूरी नहीं कि हर कश्ती के नसीब में किनारा हो।
Send to your FB Contact's Inbox directly
पलको के किनारे हमने भिगोए ही नहीं;
वो सोचते है हम रोए ही नहीं;
वो पूछते है ख्वाब में किसे देखते हो;
हम है कि एक उम्र से सोए ही नहीं।
Send to your FB Contact's Inbox directly
आज भड़की रग-ए-वहशत...

आज भड़की रग-ए-वहशत तेरे दीवानों की;
क़िस्मतें जागने वाली हैं बयाबानों की;

फिर घटाओं में है नक़्क़ारा-ए-वहशत की सदा;
टोलियाँ बंध के चलीं दश्त को दीवानों की;

आज क्या सूझ रही है तेरे दीवानों को;
धज्जियाँ ढूँढते फिरते हैं गरेबानों की;

रूह-ए-मजनूँ अभी बेताब है सहराओं में;
ख़ाक बे-वजह नहीं उड़ती बयाबानों की;

उस ने 'एहसान' कुछ इस नाज़ से मुड़ कर देखा;
दिल में तस्वीर उतर आई परी-ख़ानों की।
Send to your FB Contact's Inbox directly
हज़ारों ख्वाहिशें ऐसी, कि हर ख्वाहिश पे Rum निकले;
जी भर के कभी ना पी पाया, क्योंकि जेब में पैसे कम निकले।
Send to your FB Contact's Inbox directly
कुछ खेल नहीं है इश्क़ करना;
ये ज़िंदगी भर का रत-जगा है।
Send to your FB Contact's Inbox directly
माना कि किस्मत पे मेरा कोई ज़ोर नही;
पर ये सच है कि मोहब्बत मेरी कमज़ोर नही;
उस के दिल मे, उसकी यादो मे कोई और है लेकिन;
मेरी हर साँस में उसके सिवा कोई और नही।
Send to your FB Contact's Inbox directly
ये संगदिलों की दुनिया है, ज़रा संभल कर चलना ऐ दोस्त;
यहाँ पलकों पे बिठाया जाता है नज़रों से गिराने के लिए।
Send to your FB Contact's Inbox directly
क्यों मरते हो यारो, बेवफा सनम के लिए;
दो गज़ ज़मीन भी नहीं मिलेगी तेरे दफ़न के लिए;
मरना है तो मरो अपने वतन के लिए;
हसीना भी दुपट्टा उतार देगी तुम्हारे कफ़न के लिए।
Send to your FB Contact's Inbox directly
English Shayari
Hindi Shayari
October 2014
SunMonTueWedThuFriSat
   
4
5
7
8
9
10
12
13
14
15
17
18
19
20
21
26
27
28
29
30