• आज तक है उसके लौट आने की उम्मीद;
    आज तक ठहरी है ज़िंदगी अपनी जगह;
    लाख ये चाहा कि उसे भूल जायेँ पर;
    हौंसले अपनी जगह बेबसी अपनी जगह।
  • बड़ी मुश्किल में हूँ कैसे इज़हार करूँ;<br/>

वो तो खुशबु है उसे कैसे गिरफ्तार करूँ;<br/>

उसकी मोहब्बत पर मेरा हक़ नहीं लेकिन;<br/>

दिल करता है आखिरी सांस तक उसका इंतज़ार करूँ।
    बड़ी मुश्किल में हूँ कैसे इज़हार करूँ;
    वो तो खुशबु है उसे कैसे गिरफ्तार करूँ;
    उसकी मोहब्बत पर मेरा हक़ नहीं लेकिन;
    दिल करता है आखिरी सांस तक उसका इंतज़ार करूँ।
  • नज़रें मेरी थक न जायें कहीं तेरा इंतज़ार करते-करते;<br/>

यह जान मेरी यूँ ही निकल ना जाये तुम से इश्क़ का इज़हार करते-करते।
    नज़रें मेरी थक न जायें कहीं तेरा इंतज़ार करते-करते;
    यह जान मेरी यूँ ही निकल ना जाये तुम से इश्क़ का इज़हार करते-करते।
  • कोई मिलता ही नहीं हमसे हमारा बनकर;<br/>
वो मिले भी तो एक किनारा बनकर;<br/>
हर ख्वाब टूट के बिखरा काँच की तरह;<br/>
बस एक इंतज़ार है साथ, सहारा बनकर।
    कोई मिलता ही नहीं हमसे हमारा बनकर;
    वो मिले भी तो एक किनारा बनकर;
    हर ख्वाब टूट के बिखरा काँच की तरह;
    बस एक इंतज़ार है साथ, सहारा बनकर।
  • नज़रें मेरी कहीं थक न जायें;<br/>
बेवफा तेरा इंतज़ार करते-करते;<br/>
ये जान यूँ ही निकल न जाये;<br/>
तुम से इश्क़ का इज़हार करते-करते।
    नज़रें मेरी कहीं थक न जायें;
    बेवफा तेरा इंतज़ार करते-करते;
    ये जान यूँ ही निकल न जाये;
    तुम से इश्क़ का इज़हार करते-करते।
  • इतना इंतज़ार तो अपनी धड़कनों पर भी हमने न किया;
    जितना आपकी बातों पर करते हैं;
    इतना इंतज़ार तो अपनी साँसों का भी न किया;
    जितना आपके मिलने का करते हैं।
  • देर लगी आने में तुमको, शुक्र है फिर भी आये तो;<br/>
आस ने दिल का साथ न छोड़ा, वैसे हम घबराये तो।
    देर लगी आने में तुमको, शुक्र है फिर भी आये तो;
    आस ने दिल का साथ न छोड़ा, वैसे हम घबराये तो।
  • तेरे इंतजार मे कब से उदास बैठे हैं;<br/>
तेरे दीदार में आँखे बिछाये बैठे हैं;<br/>
तू एक नज़र हम को देख ले बस;<br/>
इस आस में कब से बेकरार बैठे हैं।
    तेरे इंतजार मे कब से उदास बैठे हैं;
    तेरे दीदार में आँखे बिछाये बैठे हैं;
    तू एक नज़र हम को देख ले बस;
    इस आस में कब से बेकरार बैठे हैं।
  • मौत पर भी है यकीन उन पर भी ऐतबार है;<br/>

देखते हैं पहले कौन आता है दोनों का इंतजार है।
    मौत पर भी है यकीन उन पर भी ऐतबार है;
    देखते हैं पहले कौन आता है दोनों का इंतजार है।
  • कितना समझाया इस दिल को कि तू प्यार ना कर;
    किसी के लिए ख़ुद को तू बेकरार ना कर;
    वो तेरा नही बन सकता, किसी और की अमानत का तू इंतज़ार ना कर।