• ढूंढ लाया हूँ ख़ुशी की छाँव जिस के वास्ते;<br/>
एक ग़म से भी उसे दो-चार करना है मुझे!
    ढूंढ लाया हूँ ख़ुशी की छाँव जिस के वास्ते;
    एक ग़म से भी उसे दो-चार करना है मुझे!
    ~ Ghulam Hussain Sajid
  • मैं कहकशाओं में ख़ुशियाँ तलाशने निकला;<br/>
मिरे सितारे मेरा चाँद सब उदास रहे!
    मैं कहकशाओं में ख़ुशियाँ तलाशने निकला;
    मिरे सितारे मेरा चाँद सब उदास रहे!
    ~ Siraj Faisal Khan
  • अब तो ख़ुशी का ग़म है न ग़म की ख़ुशी मुझे;<br/>
बे-हिस बना चुकी है बहुत ज़िंदगी मुझे!
    अब तो ख़ुशी का ग़म है न ग़म की ख़ुशी मुझे;
    बे-हिस बना चुकी है बहुत ज़िंदगी मुझे!
    ~ Shakeel Badayuni
  • न ख़ुशी अच्छी है ऐ दिल न मलाल अच्छा है;<br/>
यार जिस हाल में रखे वही हाल अच्छा है!
    न ख़ुशी अच्छी है ऐ दिल न मलाल अच्छा है;
    यार जिस हाल में रखे वही हाल अच्छा है!
    ~ Jaleel Manikpuri
  • छिलता रहता है दिल मेरा आये दिन;<br/>
मखमली लोगों की खुरदुरी बातों से!
    छिलता रहता है दिल मेरा आये दिन;
    मखमली लोगों की खुरदुरी बातों से!
  • जा माफ किया, जी ले अपनी मर्जी की जिंदगी;<br/>
हम मोहब्बत के बादशाह हैं बेवफाओं को मुँह नहीं लगाते!
    जा माफ किया, जी ले अपनी मर्जी की जिंदगी;
    हम मोहब्बत के बादशाह हैं बेवफाओं को मुँह नहीं लगाते!
  • वो क़त्ल कर के भी मुंसिफों में शामिल है,<br/>
हम जान देकर भी जमाने में ख़तावार हुए!
    वो क़त्ल कर के भी मुंसिफों में शामिल है,
    हम जान देकर भी जमाने में ख़तावार हुए!
  • ज़ाया ना करो अपने अल्फाज़ हर किसी के लिए,<br/>
थोड़ा ख़ामोश रह कर भी देखो कि तुम्हें समझता कौन है!
    ज़ाया ना करो अपने अल्फाज़ हर किसी के लिए,
    थोड़ा ख़ामोश रह कर भी देखो कि तुम्हें समझता कौन है!
  • उन्होंने हमें आजमा कर देख लिया,<br/>
इक धोखा हमने भी खा कर देख लिया;<br/>
क्या हुआ हम हुए जो उदास,<br/>
उन्होंने तो अपना दिल बहला के देख लिया!
    उन्होंने हमें आजमा कर देख लिया,
    इक धोखा हमने भी खा कर देख लिया;
    क्या हुआ हम हुए जो उदास,
    उन्होंने तो अपना दिल बहला के देख लिया!
  • दुनिया बहुत मतलबी है, साथ कोई क्यों देगा, <br/>
मुफ़्त का यहाँ कफन नही मिलता, तो बिना गम के प्यार कौन देगा।
    दुनिया बहुत मतलबी है, साथ कोई क्यों देगा,
    मुफ़्त का यहाँ कफन नही मिलता, तो बिना गम के प्यार कौन देगा।