• दर्द है दिल में पर इसका एहसास नहीं होता,<br/>
रोता है दिल जब वो पास नहीं होता;<br/>
बर्बाद हो गए हम उसके प्यार में,<br/>
और वो कहते हैं इस तरह प्यार नहीं होता!
    दर्द है दिल में पर इसका एहसास नहीं होता,
    रोता है दिल जब वो पास नहीं होता;
    बर्बाद हो गए हम उसके प्यार में,
    और वो कहते हैं इस तरह प्यार नहीं होता!
  • हमने मोहब्बत के नशे में आकर उसे खुदा बना डाला;<br/>
होश तब आया जब उसने कहा खुदा किसी एक का नहीं होता।
    हमने मोहब्बत के नशे में आकर उसे खुदा बना डाला;
    होश तब आया जब उसने कहा खुदा किसी एक का नहीं होता।
  • आवाज़ दे के देख लो शायद वो मिल ही जाए;<br/>
वर्ना ये उम्र भर का सफ़र राएगाँ तो है!
    आवाज़ दे के देख लो शायद वो मिल ही जाए;
    वर्ना ये उम्र भर का सफ़र राएगाँ तो है!
    ~ Munir Niazi
  • आ ही गया वो मुझ को लहद में उतारने;<br/>
ग़फ़लत ज़रा न की मिरे ग़फ़लत-शिआर ने!
    आ ही गया वो मुझ को लहद में उतारने;
    ग़फ़लत ज़रा न की मिरे ग़फ़लत-शिआर ने!
  • तमन्नाओ से खेल रहा है दिल;<BR/>
जीत मुमकिन नही, और हार मंजूर नही!
    तमन्नाओ से खेल रहा है दिल;
    जीत मुमकिन नही, और हार मंजूर नही!
  • वो उम्र भर कहते रहे तुम्हारे सीने में दिल ही नहीं;<br/>
दिल का दौरा क्या पड़ा, ये दाग भी धुल गया!
    वो उम्र भर कहते रहे तुम्हारे सीने में दिल ही नहीं;
    दिल का दौरा क्या पड़ा, ये दाग भी धुल गया!
  • ये शायरीयाँ कुछ और नहीं बेइंतहा इश्क है;<br/>
तड़प उनकी उठती है और दर्द लफ्जों में उतर आता है!
    ये शायरीयाँ कुछ और नहीं बेइंतहा इश्क है;
    तड़प उनकी उठती है और दर्द लफ्जों में उतर आता है!
  • तुम मेरे हो ऐसी हम जिद नही करेंगे;<br/>
मगर हम तुम्हारे ही रहेंगे ये तो हम हक से कहेंगे!
    तुम मेरे हो ऐसी हम जिद नही करेंगे;
    मगर हम तुम्हारे ही रहेंगे ये तो हम हक से कहेंगे!
  • न जाने कौन सा आसब दिल में बसता है,<br/>
के जो भी ठहरा वो आखिर मकान छोड़ गया!
    न जाने कौन सा आसब दिल में बसता है,
    के जो भी ठहरा वो आखिर मकान छोड़ गया!
    ~ Parveen Shakir
  • कदम-कदम पे नया इम्तहान रखती है;<br/>
जिंदगी तू भी मेरा कितना ध्यान रखती है!
    कदम-कदम पे नया इम्तहान रखती है;
    जिंदगी तू भी मेरा कितना ध्यान रखती है!