• समझा दो तुम अपनी यादों को ज़रा;
    दिन रात तंग करती हैं मुझे कर्ज़दार की तरह।
  • हर रात रो-रो के उसे भुलाने लगे;
    आंसुओं में उस के प्यार को बहाने लगे;
    ये दिल भी कितना अजीब है कि;
    रोये हम तो वो और भी याद आने लगे।
  • अजीब जुल्म करती हैं तेरी यादें मुझ पर;
    सो जाऊं तो उठा देती हैं जाग जाऊँ तो रुला देती हैं।
  • यादें अगर आँसू होती तो चली जाती;<br />
यादें अगर लिखावट होती तो मिट जाती;<br />
यादें ज़िंदगी में बसा वो लम्हा हैं;<br />
जो लाख कोशिशों के बाद भी लफ़्ज़ों में नहीं सिमट पाती।Upload to Facebook
    यादें अगर आँसू होती तो चली जाती;
    यादें अगर लिखावट होती तो मिट जाती;
    यादें ज़िंदगी में बसा वो लम्हा हैं;
    जो लाख कोशिशों के बाद भी लफ़्ज़ों में नहीं सिमट पाती।
  • बहुत अजब होती हैं यादें यह मोहब्बत की,<br />
रोये थे जिन पलों में याद कर उन्हें हँसी आती है;<br />
और हँसे थे जिन पलों में अब याद कर उन्हें रोना आता है।Upload to Facebook
    बहुत अजब होती हैं यादें यह मोहब्बत की,
    रोये थे जिन पलों में याद कर उन्हें हँसी आती है;
    और हँसे थे जिन पलों में अब याद कर उन्हें रोना आता है।
  • तुम्हारी याद के जब ज़ख़्म भरने लगते हैं;
    किसी बहाने तुम्हें याद करने लगते हैं।
    ~ Faiz Ahmad Faiz
  • जब भी तन्हाई में उनके बगैर जीने की बात आयी;<br />
उनसे हुई हर एक मुलाकात मेरी यादों में दौड आई।Upload to Facebook
    जब भी तन्हाई में उनके बगैर जीने की बात आयी;
    उनसे हुई हर एक मुलाकात मेरी यादों में दौड आई।
  • जब भी तेरी यादों को आसपास पाता हूँ;<br />
खुद को हद दर्ज़े तक उदास पाता हूँ;<br />
तुझे तो मिल गई खुशियाँ ज़माने भर की;<br />
मै अब भी दिल में वही प्यास पाता हूँ।Upload to Facebook
    जब भी तेरी यादों को आसपास पाता हूँ;
    खुद को हद दर्ज़े तक उदास पाता हूँ;
    तुझे तो मिल गई खुशियाँ ज़माने भर की;
    मै अब भी दिल में वही प्यास पाता हूँ।
  • यादें आँसू होती तो छलक जाती;<br />
यादें लिखावट होती तो मिट जाती;<br />
यादें तो जिंदगी में बसा वो एहसास हैं;<br />
जो लाख कोशिश के बाद भी लफ़्ज़ों में बयान नहीं होती।Upload to Facebook
    यादें आँसू होती तो छलक जाती;
    यादें लिखावट होती तो मिट जाती;
    यादें तो जिंदगी में बसा वो एहसास हैं;
    जो लाख कोशिश के बाद भी लफ़्ज़ों में बयान नहीं होती।
  • यकीन करो आज इस कदर याद आ रहे हो तुम;<br/>
जिस कदर तुम ने भुला रखा है मुझे।Upload to Facebook
    यकीन करो आज इस कदर याद आ रहे हो तुम;
    जिस कदर तुम ने भुला रखा है मुझे।