• याद रूकती नहीं रोक पाने से;
    दिल मानता नहीं किसी के समझाने से;
    रुक जाती हैं धड़कनें आपको भूल जाने से;
    इसलिए आपको याद करते हैं जीने के बहाने से।
  • यकीन अपनी चाहत का इतना है मुझे;<br/>
मेरी आँखों में देखोगे और लौट आओगे;<br/>
मेरी यादों के समंदर में जो डूब गए तुम;<br/>
कहीं जाना भी चाहोगे तो जा नहीं पाओगे।Upload to Facebook
    यकीन अपनी चाहत का इतना है मुझे;
    मेरी आँखों में देखोगे और लौट आओगे;
    मेरी यादों के समंदर में जो डूब गए तुम;
    कहीं जाना भी चाहोगे तो जा नहीं पाओगे।
  • यादों में आपके तनहा बैठे हैं;
    आपके बिना लबो की हँसी गवा बैठे हैं;
    आपकी दुनिया में अँधेरा ना हो;
    इसलिए खुद का दिल जला बैठे हैं।
  • हद-ए-शहर से निकली तो गाँव गाँव चली;<br/>
कुछ यादें मेरे संग पाँव पाँव चली;<br/>
सफ़र जो धूप का किया तो तजुर्बा हुआ;<br/>
वो जिंदगी ही क्या जो छाँव छाँव चली।Upload to Facebook
    हद-ए-शहर से निकली तो गाँव गाँव चली;
    कुछ यादें मेरे संग पाँव पाँव चली;
    सफ़र जो धूप का किया तो तजुर्बा हुआ;
    वो जिंदगी ही क्या जो छाँव छाँव चली।
  • यादें अगर आँसू होती तो चली जाती;
    यादें अगर लिखावट होती तो मिट जाती;
    यादें ज़िंदगी में बसा वो लम्हा हैं;
    जो लाख कोशिशों के बाद भी लफ़्ज़ों में नहीं सिमट पाती।
  • नया कुछ भी नहीं हमदम, वही आलम पुराना है;<br/>
तुम्हीं को भुलाने की कोशिशें, तुम्हीं को याद आना है।Upload to Facebook
    नया कुछ भी नहीं हमदम, वही आलम पुराना है;
    तुम्हीं को भुलाने की कोशिशें, तुम्हीं को याद आना है।
  • दिल की चोटों ने कभी चैन से रहने न दिया;
    जब चली सर्द हवा मैंने तुझे याद किया।
    ~ Josh Malihabadi
  • तेरी बेरुखी को भी रुतबा दिया हमने;
    प्यार का हर फ़र्ज़ अदा किया हमने;
    मत सोच कि हम भूल गए हैं तुझे;
    आज भी खुदा से पहले तुझे याद किया हमने।
  • साँस लेने से भी तेरी याद आती है;
    हर साँस में तेरी खुशबू बस जाती है;
    कैसे कहूँ कि साँस से मैं ज़िंदा हूँ;
    जब कि साँस से पहले तेरी याद आती है।
  • ये जो चंद फुर्सत के लम्हे मिलते हैं जीने के लिए;<br/>
मैं उन्हें भी तुम्हे सोचते हुए ही खर्च कर देता हूँ।Upload to Facebook
    ये जो चंद फुर्सत के लम्हे मिलते हैं जीने के लिए;
    मैं उन्हें भी तुम्हे सोचते हुए ही खर्च कर देता हूँ।