• कहानी बन के जियें हैं; वो दिल के आशियानों में!<br />
हमको भी लगेगी सदियाँ; उन्हें भुलाने में!
    कहानी बन के जियें हैं; वो दिल के आशियानों में!
    हमको भी लगेगी सदियाँ; उन्हें भुलाने में!
  • ज़िक्र उनका ही आता है मेरे फ़साने में;<br />
जिनको जान से ज्यदा चाहते थे हम किसी ज़माने में!<br />
तन्हाई में उनकी ही याद का सहारा मिला;<br />
जिनको नाकाम रहे हम भुलानें में!
    ज़िक्र उनका ही आता है मेरे फ़साने में;
    जिनको जान से ज्यदा चाहते थे हम किसी ज़माने में!
    तन्हाई में उनकी ही याद का सहारा मिला;
    जिनको नाकाम रहे हम भुलानें में!
  • बचपन की वो अमीरी न जाने कहाँ खो गयी;<br />
जब बारिश के पानी में, हमारे भी जहाज तैरा करते थे!<br />
    बचपन की वो अमीरी न जाने कहाँ खो गयी;
    जब बारिश के पानी में, हमारे भी जहाज तैरा करते थे!
  • पलकों से आँखों की हिफाजत होती है;
    दिल तो धड़कन की अमानत होती है!
    ये यादो का रिश्ता भी बड़ा अजीब है;
    करो तो तकलीफ और न करो तो शिकायत होती है!
  • मेरे इश्क ने सीख ली है अब वक़्त की तकसीम...
    वो मुझे बहुत कम याद आता है;
    सिर्फ इतना...दिल की हर एक धड़कन के साथ!
  • किसी को क्या हासिल होगा मुझे याद करने से, दोस्तो...मैं तो एक आम इंसान हूँ;
    और यहाँ तो, हर किसी को ख़ास की तलाश है!
  • जाने उस शक्स को कैसा ये हुनर आता है;
    रात होती है तो आँख में उतर आता है;
    मैं उसके ख्याल से निकलूं तो कहाँ जाऊं;
    वो मेरी सोच के हर रास्ते पर नज़र आता है!
  • बड़ी तब्दीलियाँ लायें हैं अपने आप में लेकिन;
    तुम्हे बस याद करने की, वो आदत अभी बाकी है!
  • अब उदास होना भी अच्छा लगता है!
    किसी का पास न होना भी अच्छा लगता है!
    मैं दूर रह कर भी किसी की यादों में हूँ!
    ये एहसास होना भी अच्छा लगता है!
  • उनसे दूर जाने का इरादा तो न था;
    सदा-साथ रहने का भी वादा तो न था;
    वो याद आयेगा, ये जानते थे हम;
    पर इतना याद आयेगा, अंदाज़ा तो न था!