• उसकी बातें बार बार याद करके रोई;<br />
उसके लिए रब से फ़रियाद करके रोई;<br />
उसकी ख़ुशी के लिए छोड़ दिया उसे;<br />
फिर उसी की कमी का एहसास करके रोई।
    उसकी बातें बार बार याद करके रोई;
    उसके लिए रब से फ़रियाद करके रोई;
    उसकी ख़ुशी के लिए छोड़ दिया उसे;
    फिर उसी की कमी का एहसास करके रोई।
  • साथ अगर दोगे तो मुस्कुराएगें जरूर;
    प्यार अगर दिल से करोगे तो निभाएंगे जरूर;
    राह में कितने भी कांटे क्यों न हो;
    आवाज़ अगर दिल से दोगे तो आयेंगे जरूर।
  • कौन कहता है उसके बिना मैं मर जाऊंगा;
    दरिया हूँ सागर में उतर जाऊंगा।
  • अगर जिंदगी में जुदाई ना होती;
    तो कभी किसी की याद आई ना होती;
    साथ ही गुजरता हर लम्हा तो शायद;
    रिश्तों में इतनी गहराई ना होती।
  • रात की खामोशी रास नहीं आती;
    मेरी परछाईं भी अब मेरे पास नहीं आती;
    कुछ आती भी है तो बस तेरी याद;
    जो आकर भी एक पल भी मुझसे दूर नहीं जाती।
  • शाम होते ही चिरागों को बुझा देता हूँ;
    ये दिल ही काफी है तेरी याद में जलने के लिए।
  • कस्तियाँ रह जाती हैं तूफान चले जाते हैं;<br />
याद रह जाती है इंसान चले जाते हैं;<br />
प्यार कम नहीं होता किसी के दूर जाने से;<br />
बस दर्द होता है उनकी याद आने से।
    कस्तियाँ रह जाती हैं तूफान चले जाते हैं;
    याद रह जाती है इंसान चले जाते हैं;
    प्यार कम नहीं होता किसी के दूर जाने से;
    बस दर्द होता है उनकी याद आने से।
  • छोड़ दिया हमारा साथ कोई गम नहीं;<br />
भूल जायेंगे आप हमें, पर भूलने वाले हम नहीं;<br />
आप से मुलाक़ात ना हो पाई तो कोई बात नहीं;<br />
आपकी एक याद मुलाकात से कम नहीं।
    छोड़ दिया हमारा साथ कोई गम नहीं;
    भूल जायेंगे आप हमें, पर भूलने वाले हम नहीं;
    आप से मुलाक़ात ना हो पाई तो कोई बात नहीं;
    आपकी एक याद मुलाकात से कम नहीं।
  • सारी उम्र आँखों में एक सपना याद रहा;<br />
सदियाँ बीत गयी पर वो लम्हा याद रहा;<br />
न जाने क्या बात थी उनमें और हम में;<br />
सारी महफिल भूल गए बस वही एक चेहरा याद रहा।
    सारी उम्र आँखों में एक सपना याद रहा;
    सदियाँ बीत गयी पर वो लम्हा याद रहा;
    न जाने क्या बात थी उनमें और हम में;
    सारी महफिल भूल गए बस वही एक चेहरा याद रहा।
  • यादों की कीमत वो क्या जाने;<br/>
जो ख़ुद यादों को मिटा दिए करते हैं,<br/>
यादों का मतलब तो उनसे पूछो जो,<br/>
यादों के सहारे जिया करते हैं!
    यादों की कीमत वो क्या जाने;
    जो ख़ुद यादों को मिटा दिए करते हैं,
    यादों का मतलब तो उनसे पूछो जो,
    यादों के सहारे जिया करते हैं!