• तेरे ग़म में तड़प कर मर जायेंगे;
    मर गए तो तेरा नाम ले जायेंगे;
    रिश्वत देकर तुझे भी बुलायेंगे;
    तुम ऊपर आओगे तो साथ बैठकर कुरकुरे खायेंगे।
  • हीर रो-रो कर रांझे से कह रही है;
    हीर रो-रो कर रांझे से कह रही है;
    .
    .
    .
    .
    .
    हाथ छोड़ कमीने मेरी नाक बह रही है।
  • न वफ़ा का ज़िक्र होगा;
    न वफ़ा की बात होगी;
    अब मोहब्बत जिस से भी होगी;
    राखी के बाद होगी।
  • हमारे ऐतबार की हद ना पूछ ग़ालिब;<br/>

उसने दिन को रात कहा और हमने पैग बना लिया।
    हमारे ऐतबार की हद ना पूछ ग़ालिब;
    उसने दिन को रात कहा और हमने पैग बना लिया।
  • तुम्हारी अदाओं पे मैं वारी-वारी;
    तुम्हारी अदाओं पे मैं वारी-वारी;
    क्या उधर लाइट आ री?
    इधर तो आ री - जा री, आ री - जा री!
  • ऐ दोस्त बांध ले कफन मे व्हिस्की की बोतल, कब्र मेँ बैठकर पिया करेगे;
    इन लङकियो से तो मिली बेवफाई, अब चुड़ैलों से सेटिंग किया करेंगे!
  • अर्ज़ किया है:
    मेरे इश्क के बालिंग ने उसके दिल का विकेट गिरा दिया;
    पर तक़दीर तो देखो, उसका बाप अंपायर निकला;
    .
    .
    .
    मेरी बाल को "नो बाल" देकर फ्री हिट कर दिया!
  • जो तुमको हो पसंद वही बात कहेंगे;
    गौर फरमाइये:
    ​जो तुमको हो पसंद वही बात कहेंगे;
    ​क्योंकि हम पागलों से बहस नहीं करते।
  • ​फ़िज़ाओं के बदलने का इंतजार मत कर;
    आँधियों के रुकने का इंतजार मत कर;
    ​पकड़ किसी को और फरार हो जा;
    ​पापा की पसंद का इंतजार मत कर।
  • तुम्हे जब देखा हमने तो यह ख्याल आया;<br/>बड़ी जल्दी में रब था जब तुमको बनाया;<br/>तुम्हे जब देखा रब ने तो वो भी घबराया;<br/>बनाना क्या था मुझको है मैंने क्या बनाया। ​
    तुम्हे जब देखा हमने तो यह ख्याल आया;
    बड़ी जल्दी में रब था जब तुमको बनाया;
    तुम्हे जब देखा रब ने तो वो भी घबराया;
    बनाना क्या था मुझको है मैंने क्या बनाया। ​