• झटका कुछ इस तरह दिया सनम ने, अपनी जुल्फों को;
    इकठ्ठे 7 जूएँ मेरे दामन में आ गिरे!
  • आशिक पागल हो जाते हैं प्यार में;
    बाकी कसर पूरी हो जाती है इंतज़ार में;
    मगर ये दिलरुबा नहीं समझती;
    वो तो गोल गप्पे और पपड़ी खाती फिरती है बाज़ार में!
  • आसमान जितना नीला है;
    सूरजमुखी जितना पिला है;
    पानी जितना गीला है;
    आपका स्क्रू उतना ही ढीला है!
  • ज़िन्दगी है तो ख्वाब है;
    ख्वाब है तो मंजिले है;
    मंजिले है तो रास्ते है;
    रास्ते है तो मुश्किलें;
    हिम्मत है तो, एस एम् एस करो!
  • कभी-कभी मेरे दिल में ख्याल आता है,
    कभी-कभी मेरे दिल में ख्याल आता है,
    कि क्यों कभी-कभी मेरे दिल में ख्याल आता है?
  • मुझसे ये जुदाई का गम पिया नहीं जाता;
    कोई दो गिलास व्हिस्की के ही पिला दो बर्फ डाल के!
  • प्यार हुआ इकरार हुआ है;
    प्यार से फिर क्यों डरता है दिल;
    क्यों न डरे दिल?
    .
    ..
    ...
    क्योंकि आजकल के प्यार से बढ़ता है, सिर्फ मोबाइल और रेस्टौरेंट का बिल!
  • उधर आप मजबूर बैठे हैं;
    इधर हम खामोश बैठे है;
    बात हो तो कैसे हो;
    जब दोनों तरफ दो कंजूस बैठे हैं!
  • जब बारिश होती है, तुम याद आते हो!
    जब काली घटा छाए, तुम याद आते हो!
    जब भीगते हैं हम, तो तुम याद आते हो!
    बताओ, तुम मेरी छतरी कब वापिस करोगे!
  • फूल बिना, खुशबू बेकार;
    चाँद बिना, चांदनी बेकार;
    प्यार बिना, ज़िन्दगी बेकार;
    मेरे एस एम् एस बिना, तुम्हारा मोबाइल बेकार!