• मैंने चाहा तुझे अबला समझ कर;
    मैंने चाहा तुझे अबला समझ कर;
    तेरे बाप ने पीट दिया मुझे तबला समझ कर।
  • ख़त लिखता हूँ खून से स्याही ना समझना;
    किसी मरीज़ का सैंपल आया था मेरा न समझना!
  • हम दुआ करते हैं खुदा से;
    कि वो आप जैसा दोस्त और ना बनाए;
    एक कार्टून जैसी चीज़ जो हमारे पास है;
    कहीं वो भी कॉमन ना हो जाए!
  • जब तू होती थी मेरी ज़िन्दगी में तो तेरे मेरे इश्क के चर्चे बहुत थे;
    अच्छा ही हुआ ज़िन्दगी से चली गयी तू क्योंकि तेरे खर्चे ही बहुत थे!
  • प्यार का गीत गायेंगे हम;
    तुझसे मोहब्बत निभायेंगे हम;
    जो तूने कबूल कर लिया प्यार मेरा तो ठीक;
    वरना किसी और हसीना को पटायेंगे हम!
  • तेरे बारे में सोचा तो मुझे एक ख्याल आया;
    तुझे मैंने दोस्त बना के ज़िन्दगी में क्या पाया;
    बाकी बातों को तो तू मार गोली;
    पहले ये बता तूने पड़ोस वाली आइटम को कैसे पटाया!
  • नींद आती है तो एक ख्वाब आता है;
    ख्वाब में इक लड़की आती है, और पीछे उसका बाप आता है;
    फिर क्या, फिर ना नींद आती है ना ख्वाब आता है!
  • आज तुम पे आंसुओं की बरसात होगी;
    फिर वही कड़कती रात होगी;
    SMS ना करके तूने दिल दुखाया है मेरा;
    जा तेरे बदन में खुजली सारी रात होगी!
  • सितम ढाने की हद होती है;
    पास ना आने की रूठ जाने की हद होती है;
    एक SMS तो कर दे जालिम;
    पैसे बचाने की भी हद होती है!
  • तेरी गलतियों को माफ़ कौन करता;
    मैं ना रहता तो तुझसे इन्साफ कौन करता;
    शुक्र है खुदा ने सलामत रखा मेरे दोस्त को;
    वरना मेरी शादी में जूठी प्लेटें साफ़ कौन करता!