• तुम्हारी दुनिया से जाने के बाद;
    हम तुम्हें हर एक तारे में नज़र आया करेंगे;
    तुम हर पल कोई दुआ माँग लेना;
    और हम हर पल टूट जाया करेंगे!
  • वो शमां की महफिल ही क्या, जिसमें दिल खाक ना हो;
    मजा तो तब है चाहत का, जब दिल तो जले पर राख ना हो!
  • तकलीफें तो हज़ारों हैं इस ज़माने में;<br/>
बस कोई अपना नज़र अंदाज़ करे तो बर्दाश्त नहीं होता!
    तकलीफें तो हज़ारों हैं इस ज़माने में;
    बस कोई अपना नज़र अंदाज़ करे तो बर्दाश्त नहीं होता!
  • तेरा अक्स गढ़ गया है, आँखों में कुछ ऐसा;
    सामने खुदा भी हो तो, दिखता है हू-ब-हू तुझ जैसा!
  • ज़िंदा रहने की बस, अब ये तरकीब निकाली है;
    ज़िंदा होने की खबर, बस सब से छुपा ली है!
  • हम तो नर्म पत्तों की, शाख हुआ करते थे;
    छीले इतने गये कि, खंजर हो गये!
  • हक़ीक़त रूबरू हो तो अदाकारी नही चलती;<br/>
ख़ुदा के सामने बन्दों की मक्कारी नही चलती!
    हक़ीक़त रूबरू हो तो अदाकारी नही चलती;
    ख़ुदा के सामने बन्दों की मक्कारी नही चलती!
  • तुम्हारा दबदबा ख़ाली तुम्हारी ज़िंदगी तक है;
    किसी की क़ब्र के अन्दर ज़मींदारी नही चलती!
  • अदा है, ख्वाब है, तकसीम है, तमाशा है;<br/>
एक शख्स मेरी इन आँखो में बेतहाशा है!
    अदा है, ख्वाब है, तकसीम है, तमाशा है;
    एक शख्स मेरी इन आँखो में बेतहाशा है!
  • लाखो की हंसी तुम्हारे नाम कर देंगे;
    हर खुशी तुम पे कुर्बान कर देंगे;
    आये अगर हमारे प्यार मे कोई कमी तो कह देना;
    इस जिन्दगी को आखरी सलाम कह देंगे!