• ऐ मेरा जनाज़ा उठाने वालो, देखना कोई बेवफा पास न हो;
    अगर हो तो उस से कहना, आज तो खुशी का मौका है, उदास न हो!
  • तूने फूँकों से हटाए हैं पहाड़ों के पहाड़;
    मेरे तलवे पे लुढ़कता हुआ कंकर है ज़रा उसको हटा दे!
  • शतरंज खेलते रहे वो हमसे कुछ इस कदर;<br/>
कभी उनका इश्क़ मात देता तो कभी उनके लफ्ज़!Upload to Facebook
    शतरंज खेलते रहे वो हमसे कुछ इस कदर;
    कभी उनका इश्क़ मात देता तो कभी उनके लफ्ज़!
  • तलाश कर मेरी कमी को अपने दिल में एक बार;<br/>
दर्द हो तो समझ लेना मोहब्बत अभी बाकी है!Upload to Facebook
    तलाश कर मेरी कमी को अपने दिल में एक बार;
    दर्द हो तो समझ लेना मोहब्बत अभी बाकी है!
  • कमाल करते हैं हमसे जलन रखने वाले;
    महफ़िलें खुद की सजाते हैं और चचेॅ हमारे करते हैं!
  • कल तुझसे बिछड़ने का फैसला कर लिया था;
    आज अपने ही दिल को रिश्वत दे रहा हूँ!
  • इस 'नहीं' का कोई इलाज नहीं;<br/>
रोज़ कहते हैं आप आज नहीं!Upload to Facebook
    इस 'नहीं' का कोई इलाज नहीं;
    रोज़ कहते हैं आप आज नहीं!
  • जब तोलने बैठते हो रिश्तों को;<br/>
जरा बताना दूसरे पलड़े में क्या रखते हो!Upload to Facebook
    जब तोलने बैठते हो रिश्तों को;
    जरा बताना दूसरे पलड़े में क्या रखते हो!
  • कोई तो है मेरे अंदर मुझको संभाले हुए;
    कि बेकरार होकर भी बरक़रार हूँ मैं!
  • यूँ ही एक छोटी सी बात पे ताल्लुकात पुराने बिगड़ गये;<br/>
मुद्दा ये था कि सही `क्या` है और वो सही `कौन` पर उलझ गये!Upload to Facebook
    यूँ ही एक छोटी सी बात पे ताल्लुकात पुराने बिगड़ गये;
    मुद्दा ये था कि सही "क्या" है और वो सही "कौन" पर उलझ गये!