• जिंदगी ने मेरे मर्ज़ का, एक बढीया इलाज़ बताया,<br/>
वक्त को दवा कहा और मतलबियो से परहेज बताया|
    जिंदगी ने मेरे मर्ज़ का, एक बढीया इलाज़ बताया,
    वक्त को दवा कहा और मतलबियो से परहेज बताया|
  • ज़माने में आये हो तो जीने का हुनर भी रखना;<br/>
दुश्मनों से कोई खतरा नहीं बस अपनो पे नजर रखना!
    ज़माने में आये हो तो जीने का हुनर भी रखना;
    दुश्मनों से कोई खतरा नहीं बस अपनो पे नजर रखना!
  • नजर से दूर रहकर भी किसी की सोच में रहना;<br/>
किसी के पास रहने का तरीका हो तो ऐसा हो!
    नजर से दूर रहकर भी किसी की सोच में रहना;
    किसी के पास रहने का तरीका हो तो ऐसा हो!
  • अल्फाज तय करते हैं फैसले किरदारो के;<br/>

उतरना दिल मे है या दिल से उतरना है!
    अल्फाज तय करते हैं फैसले किरदारो के;
    उतरना दिल मे है या दिल से उतरना है!
  • आ तेरी रूह को अपने प्यार के रंगों से सराबोर कर दूँ,<br/>
महकने लगेंगी साँसें तेरी, ऐसी सुगंध बफाओं की भर दूँ।
    आ तेरी रूह को अपने प्यार के रंगों से सराबोर कर दूँ,
    महकने लगेंगी साँसें तेरी, ऐसी सुगंध बफाओं की भर दूँ।
  • साफ़ दामन का दौर अब खत्म हुआ,<br/>
लोग अपने धब्बों पे गुरूर करने लगे!
    साफ़ दामन का दौर अब खत्म हुआ,
    लोग अपने धब्बों पे गुरूर करने लगे!
  • इश्क़ की होलियां खेलनी छोड़ दी है हमने,<br/>

वरना हर चेहरे पे रंग सिर्फ़ हमारा ही होता!
    इश्क़ की होलियां खेलनी छोड़ दी है हमने,
    वरना हर चेहरे पे रंग सिर्फ़ हमारा ही होता!
  • तमन्ना तुम्हें रंग लगाने की नहीं है,<br/>

तमन्ना तुम्हारे रंग मे रंग जाने की है!
    तमन्ना तुम्हें रंग लगाने की नहीं है,
    तमन्ना तुम्हारे रंग मे रंग जाने की है!
  • कौन सा रंग लगाऊं तेरे चेहरे पर,<br/>

कि मेरा मन तो पहले ही तेरे रंग में रंग चुका है!
    कौन सा रंग लगाऊं तेरे चेहरे पर,
    कि मेरा मन तो पहले ही तेरे रंग में रंग चुका है!
  • मैं हूँ अगर आवारा तो वजह है हुस्न तुम्हारा,<br/>
 
ऐसा मैं हरगिज़ नहीं था तेरे दीदार से पहले!
    मैं हूँ अगर आवारा तो वजह है हुस्न तुम्हारा,
    ऐसा मैं हरगिज़ नहीं था तेरे दीदार से पहले!