• मेरी मौत पे किसी को अफ़सोस हो न हो;
    ऐ दोस्त पर तन्हाई रोएगी कि मेरा हमसफर चला गया!
  • दोस्ती नहीं है किसी दौलत की मोहताज;<br/>
कृष्ण के अलावा कौन सी दौलत थी सुदामा के पास!Upload to Facebook
    दोस्ती नहीं है किसी दौलत की मोहताज;
    कृष्ण के अलावा कौन सी दौलत थी सुदामा के पास!
  • क्यों शर्मिंदा करते हो रोज़ हाल पूछकर;
    हाल हमारा वही है जो तुमने बना रखा है!
  • आँसू निकल पडे ख्वाब में उसको दूर जाते देखकर;<br/>
आँख खुली तो एहसास हुआ इश्क सोते हुए भी रुलाता है!Upload to Facebook
    आँसू निकल पडे ख्वाब में उसको दूर जाते देखकर;
    आँख खुली तो एहसास हुआ इश्क सोते हुए भी रुलाता है!
  • खुदा ने दोस्त को दोस्त से मिलाया;
    दोस्तों के लिए दोस्ती का रिश्ता बनाया;
    पर कहते हैं दोस्ती रहेगी उसकी कायम;
    जिसने दोस्ती को दिल से निभाया!
  • क्यों हर शख्स की गलतियाँ गिनाते हो दोस्तों;<br/>
इस जहान में इंसान रहते हैं भगवान नहीं!Upload to Facebook
    क्यों हर शख्स की गलतियाँ गिनाते हो दोस्तों;
    इस जहान में इंसान रहते हैं भगवान नहीं!
  • कर दो तब्दील अदालतों को मयखानों में साहब;
    सुना है नशे में कोई झूठ नहीं बोलता!
  • मत लगाओ बोली अपने अल्फ़ाज़ों की;<br/>
हमने लिखना शुरू किया तो तुम नीलाम हो जाओगे!Upload to Facebook
    मत लगाओ बोली अपने अल्फ़ाज़ों की;
    हमने लिखना शुरू किया तो तुम नीलाम हो जाओगे!
  • बदला बदला सा है मिजाज, क्या बात हो गई;
    शिकायत हमसे है, या किसी और से मुलाकात हो गई!
  • आईना फैला रहा है खुदफरेबी का ये मर्ज;<br/>
हर किसी से कह रहा है आप सा कोई नहीं!Upload to Facebook
    आईना फैला रहा है खुदफरेबी का ये मर्ज;
    हर किसी से कह रहा है आप सा कोई नहीं!