• तुम्हें सिर्फ ठेला दिखता है सड़क पर साहब,<br/>
हक़ीक़त में वो अपना पूरा घर खींचता है!
    तुम्हें सिर्फ ठेला दिखता है सड़क पर साहब,
    हक़ीक़त में वो अपना पूरा घर खींचता है!
  • सिर्फ टूटे हुए लोग ही जानते है,<br/>
की टूटने का दर्द क्या होता है !
    सिर्फ टूटे हुए लोग ही जानते है,
    की टूटने का दर्द क्या होता है !
  • आये थे हँसते खेलते मैख़ाने में 'फ़िराक़';<br/>
जब पी चुके शराब तो संजीदा हो गए!
    आये थे हँसते खेलते मैख़ाने में 'फ़िराक़';
    जब पी चुके शराब तो संजीदा हो गए!
    ~ Firaq Gorakhpuri
  • महफ़िल में जो हमे दाद देने से कतराते हैं;<br/>
सुना है तन्हाइयों में वो हमारी शायरी गुनगुनाते हैं।
    महफ़िल में जो हमे दाद देने से कतराते हैं;
    सुना है तन्हाइयों में वो हमारी शायरी गुनगुनाते हैं।
  • रोकने की कोशिश तो बहुत की पलकों ने, मगर;<br/>
इश्क में पागल थे आँसू, ख़ुदकुशी करते चले गए!
    रोकने की कोशिश तो बहुत की पलकों ने, मगर;
    इश्क में पागल थे आँसू, ख़ुदकुशी करते चले गए!
  • दर्द कागज़ पर:

    दर्द कागज़ पर, मेरा बिकता रहा,
    मैं बैचैन था, रातभर लिखता रहा;

    छू रहे थे सब, बुलंदियाँ आसमान की,
    मैं सितारों के बीच, चाँद की तरह छिपता रहा;

    अकड होती तो, कब का टूट गया होता,
    मैं था नाज़ुक डाली, जो सबके आगे झुकता रहा;

    बदले यहाँ लोगों ने, रंग अपने-अपने ढंग से,
    रंग मेरा भी निखरा पर, मैं मेहँदी की तरह पीसता रहा;

    जिनको जल्दी थी, वो बढ़ चले मंज़िल की ओर,
    मैं समन्दर से राज, गहराई के सीखता रहा!
  • जिंदगी ने मेरे मर्ज़ का, एक बढीया इलाज़ बताया,<br/>
वक्त को दवा कहा और मतलबियो से परहेज बताया|
    जिंदगी ने मेरे मर्ज़ का, एक बढीया इलाज़ बताया,
    वक्त को दवा कहा और मतलबियो से परहेज बताया|
  • ज़माने में आये हो तो जीने का हुनर भी रखना;<br/>
दुश्मनों से कोई खतरा नहीं बस अपनो पे नजर रखना!
    ज़माने में आये हो तो जीने का हुनर भी रखना;
    दुश्मनों से कोई खतरा नहीं बस अपनो पे नजर रखना!
  • नजर से दूर रहकर भी किसी की सोच में रहना;<br/>
किसी के पास रहने का तरीका हो तो ऐसा हो!
    नजर से दूर रहकर भी किसी की सोच में रहना;
    किसी के पास रहने का तरीका हो तो ऐसा हो!
  • अल्फाज तय करते हैं फैसले किरदारो के;<br/>

उतरना दिल मे है या दिल से उतरना है!
    अल्फाज तय करते हैं फैसले किरदारो के;
    उतरना दिल मे है या दिल से उतरना है!