• उम्र-ए-दराज मॉंग कर लाये थे चार दिन, दो आरजू में कट गये, दो इंतज़ार में;<br/>
कितना है बदनसीब 'जफर', दफ्न के लिये दो गज जमीं भी न मिली कू-ए-यार में।<br/><br/>
Meaning:<br/>
 उम्र-ए-दराज - लंबी, तवील <br/>
 कू-ए-यार - प्रेमिका की गली
    उम्र-ए-दराज मॉंग कर लाये थे चार दिन, दो आरजू में कट गये, दो इंतज़ार में;
    कितना है बदनसीब 'जफर', दफ्न के लिये दो गज जमीं भी न मिली कू-ए-यार में।

    Meaning:
    उम्र-ए-दराज - लंबी, तवील
    कू-ए-यार - प्रेमिका की गली
    ~ Bahadur Shah Zafar
  • आते-आते आयेगा उनको ख्याल;<br/>
जाते-जाते बेख्याली जायेगी।<br/><br/>
Meaning:<br/>
बेख्याली - बेखुदी, बेखबरी
    आते-आते आयेगा उनको ख्याल;
    जाते-जाते बेख्याली जायेगी।

    Meaning:
    बेख्याली - बेखुदी, बेखबरी
    ~ Faiz Ahmad Faiz
  • हुए जिस पे मेहरबां तुम कोई खुशनसीब होगा;<br/>
मेरी हसरतें तो निकली मेरे आँसुओं में ढलकर।
    हुए जिस पे मेहरबां तुम कोई खुशनसीब होगा;
    मेरी हसरतें तो निकली मेरे आँसुओं में ढलकर।
    ~ Ehsaan Danish
  • अपना गम किस तरह से बयान करूँ,<br/>
आग लग जायेगी इस जमाने में।
    अपना गम किस तरह से बयान करूँ,
    आग लग जायेगी इस जमाने में।
    ~ Firaq Gorakhpuri
  • कर रहा था गम-ए-जहान का हिसाब;<br/>
आज तुम याद बेहिसाब आये।
    कर रहा था गम-ए-जहान का हिसाब;
    आज तुम याद बेहिसाब आये।
    ~ Faiz Ahmad Faiz
  • उनका तगाफुल उनकी तवज्जो;<br/>
एक दिल, उस पे लाख तहल्के। <br/><br/>
Meaning:<br/>
1.तगाफुल - उपेक्षा, वेबवज्जुही<br/>
2.तवज्जो - विशेष ध्यान
    उनका तगाफुल उनकी तवज्जो;
    एक दिल, उस पे लाख तहल्के।

    Meaning:
    1.तगाफुल - उपेक्षा, वेबवज्जुही
    2.तवज्जो - विशेष ध्यान
    ~ Ada Jafri
  • यह उड़ी-उड़ी सी रंगत, ये खुले-खुले से गेसूं;<br/>
तेरी सुबह कह रही है, तेरी रात का फसाना।<br/><br/>
Meaning:<br/>
गेसूं - बाल, केश, ज़ुल्फ
    यह उड़ी-उड़ी सी रंगत, ये खुले-खुले से गेसूं;
    तेरी सुबह कह रही है, तेरी रात का फसाना।

    Meaning:
    गेसूं - बाल, केश, ज़ुल्फ
    ~ Ehsaan Danish
  • अब क्या जवाब दूँ मैं, कोई मुझे बताये;<br/> 
वह मुझसे कह रहे हैं, क्यों मेरी आरज़ू की।
    अब क्या जवाब दूँ मैं, कोई मुझे बताये;
    वह मुझसे कह रहे हैं, क्यों मेरी आरज़ू की।
    ~ Jigar Moradabadi
  • यूँ तो मशहूर हैं अधूरी मोहब्बत के किस्से बहुत से;<br/>
मुझे अपनी मोहब्बत पूरी करके नई कहानी लिखनी है!
    यूँ तो मशहूर हैं अधूरी मोहब्बत के किस्से बहुत से;
    मुझे अपनी मोहब्बत पूरी करके नई कहानी लिखनी है!
  • तेरा नजरिया मेरे नजरिये से अलग था;<br/>
शायद तूने वक्त गुजारना था और हमे सारी जिन्दगी!
    तेरा नजरिया मेरे नजरिये से अलग था;
    शायद तूने वक्त गुजारना था और हमे सारी जिन्दगी!