• बहुत शौक था मुझे सबको जोडकर रखने का,<br/>
होश तब आया जब खुद के वजूद के टुकडे हो गये।
    बहुत शौक था मुझे सबको जोडकर रखने का,
    होश तब आया जब खुद के वजूद के टुकडे हो गये।
  • आगे आती थी हाल-ए-दिल पर हंसी;<br/>
अब किसी बात पर नहीं आती!
    आगे आती थी हाल-ए-दिल पर हंसी;
    अब किसी बात पर नहीं आती!
    ~ Mirza Ghalib
  • कुछ सोच के इक राह-ए-पुर-ख़ार से गुज़रा था;<br/>
काँटे भी न रास आए दामन भी न काम आया!
    कुछ सोच के इक राह-ए-पुर-ख़ार से गुज़रा था;
    काँटे भी न रास आए दामन भी न काम आया!
    ~ Nushur Wahidi
  • मुझको एक बार:

    मुझको एक बार आजमाते तो सही,
    वो मेरी बज़्म में आते तो सही;

    मैंने रखा था सर-ए-शाम से घर को सजाकर,
    तुम न रुकते एक पल को आते तो सही;

    आपकी खातिर आपकी खुशियों की खातिर,
    खुद भी हो जाता नीलाम, बताते तो सही;

    यकीनन आपके हिस्से में रोशनी होती,
    शम्म-ए-वफ़ा दिल में एक बार जलाते तो सही;

    मैं भी इंसान हूँ पत्थर नहीं, क्यूँ ठुकराया,
    खुद हो जाता टुकड़े-टुकड़े बताते तो सही!
  • है रश्क-ए-इरम वादी-ए-पुर-ख़ार-ए-मोहब्बत;<br/>
शायद उसे सींचा है किसी आबला-पा ने!
    है रश्क-ए-इरम वादी-ए-पुर-ख़ार-ए-मोहब्बत;
    शायद उसे सींचा है किसी आबला-पा ने!
    ~ Iqbal Suhail
  • आह को चाहिये इक उम्र असर होने तक;<br/>
कौन जीता है तेरी ज़ुल्फ़ के सर होने तक!
    आह को चाहिये इक उम्र असर होने तक;
    कौन जीता है तेरी ज़ुल्फ़ के सर होने तक!
    ~ Mirza Ghalib
  • इबादतखानो में क्या ढूंढते हो मुझे;<br/>
मैं वहाँ भी हूँ, जहाँ तुम गुनाह करते हो!
    इबादतखानो में क्या ढूंढते हो मुझे;
    मैं वहाँ भी हूँ, जहाँ तुम गुनाह करते हो!
  • मोहब्बत के लिए कुछ ख़ास दिल मख़्सूस होते हैं;<br/>
ये वो नग़्मा है जो हर साज़ पर गाया नहीं जाता!
    मोहब्बत के लिए कुछ ख़ास दिल मख़्सूस होते हैं;
    ये वो नग़्मा है जो हर साज़ पर गाया नहीं जाता!
    ~ Makhmoor Dehlvi
  • तेरी राह-ए-तलब में ज़ख़्म सब सीने पे खाये है;<br/>
बहार-ए-ग़ुलिस्तां मेरी हयात-ए-जावेदाँ मेरी!
    तेरी राह-ए-तलब में ज़ख़्म सब सीने पे खाये है;
    बहार-ए-ग़ुलिस्तां मेरी हयात-ए-जावेदाँ मेरी!
    ~ Shamsi Meenai
  • कपड़े से तो, परदा होता है साहब;<br/>
हिफाज़त तो, निगाहों से होती है|
    कपड़े से तो, परदा होता है साहब;
    हिफाज़त तो, निगाहों से होती है|