• एक अलग सी पहचान बनाने की आदत है हमें;
    जख्म हो जितना गहरा उतना मुस्कुराने की आदत है हमें!
  • ये अलग बात है दिखाई न दे मगर शामिल ज़रूर होता है;<br/>
खुदकुशी करने वाले का भी कोई न कोई कातिल जरूर होता है!
    ये अलग बात है दिखाई न दे मगर शामिल ज़रूर होता है;
    खुदकुशी करने वाले का भी कोई न कोई कातिल जरूर होता है!
  • दोस्ती इंसान की ज़रुरत है;
    दिलों पर दोस्ती की हुकुमत है;
    आपके प्यार की वजह से जिंदा हूँ;
    वरना खुदा को भी हमारी ज़रुरत है।
  • ठुकराया हमने भी बहुतों को है तेरी खातिर;
    तुझसे फासला भी शायद उन की बददुआओं का असर है!
  • किसी ने कहा था मोहब्बत फूल जैसी है;<br/>
कदम रुक गये आज जब फूलों को बाजार में बिकते देखा!
    किसी ने कहा था मोहब्बत फूल जैसी है;
    कदम रुक गये आज जब फूलों को बाजार में बिकते देखा!
  • ख्वाब बोये थे, और अकेलापन काटा है;<br/>
इस मोहब्बत में, यारों बहुत घाटा है!
    ख्वाब बोये थे, और अकेलापन काटा है;
    इस मोहब्बत में, यारों बहुत घाटा है!
  • परखो तो कोई अपना नहीं;
    समझो तो कोई पराया नहीं!
  • बात सजदों की नहीं नीयत की है;<br/>
मयखाने में हर कोई शराबी नहीं होता!
    बात सजदों की नहीं नीयत की है;
    मयखाने में हर कोई शराबी नहीं होता!
  • उड़ रही है पल पल ज़िन्दगी रेत सी;
    और हमको वहम है कि हम बडे हो रहे हैं!
  • मैंने तो माँगा था थोड़ा सा उजाला अपनी जिंदगी में;<br/>
वाह रे चाहने वाले तूने तो आग ही लगा दी जिंदगी में!
    मैंने तो माँगा था थोड़ा सा उजाला अपनी जिंदगी में;
    वाह रे चाहने वाले तूने तो आग ही लगा दी जिंदगी में!