• वो वक़्त वो लम्हें कुछ अजीब होंगे;
    दुनिया में हम खुश नसीब होंगे;
    दूर से जब इतना याद करते हैं आपको;
    क्या होगा जब आप हमारे करीब होंगे!
  • काश! मैं भी पानी का एक घूँट होता;<br/>
तेरे होंठों से लगता और तेरी रग-रग में समा जाता!
    काश! मैं भी पानी का एक घूँट होता;
    तेरे होंठों से लगता और तेरी रग-रग में समा जाता!
  • कितने ही बरसों का सफर खाक हुआ;
    उसने जब पूछा कहो कैसे आना हुआ!
  • मैं नहीं इतना घाफिल कि अपने चाहने वालों को भूल जाऊं;<br/>
पीता ज़रूर हूँ लेकिन थोड़ी देर यादों को सुलाने के लिए!
    मैं नहीं इतना घाफिल कि अपने चाहने वालों को भूल जाऊं;
    पीता ज़रूर हूँ लेकिन थोड़ी देर यादों को सुलाने के लिए!
  • खुदा ने दोस्त को दोस्त से मिलाया;
    दोस्तों के लिए दोस्ती का रिस्ता बनाया;
    पर कहते है दोस्ती रहेगी उसकी कायम;
    जिसने दोस्ती को दिल से निभाया!
  • नाजुक लगते थे, जो हसीन लोग;
    वास्ता पड़ा तो, पत्थर के निकले!
  • यूँ तो ऐसा कोई ख़ास याराना नहीं है मेरा शराब से;<br/>
इश्क की राहों में तन्हा मिली तो हमसफ़र बन गई!
    यूँ तो ऐसा कोई ख़ास याराना नहीं है मेरा शराब से;
    इश्क की राहों में तन्हा मिली तो हमसफ़र बन गई!
  • ज़िन्दगी तो सभी के लिए रंगीन किताब है;<br/>
फर्क है तो बस इतना कि कोई;<br/> 
हर पन्ने को दिल से पढ़ रहा है;<br/> 
और कोई दिल रखने के लिए पन्ने पलट रहा है!
    ज़िन्दगी तो सभी के लिए रंगीन किताब है;
    फर्क है तो बस इतना कि कोई;
    हर पन्ने को दिल से पढ़ रहा है;
    और कोई दिल रखने के लिए पन्ने पलट रहा है!
  • मेरी मौत पे किसी को अफ़सोस हो न हो;
    ऐ दोस्त पर तन्हाई रोएगी कि मेरा हमसफर चला गया!
  • दोस्ती नहीं है किसी दौलत की मोहताज;<br/>
कृष्ण के अलावा कौन सी दौलत थी सुदामा के पास!
    दोस्ती नहीं है किसी दौलत की मोहताज;
    कृष्ण के अलावा कौन सी दौलत थी सुदामा के पास!