• बहुत अंदर तक तबाही मचाता है वो आँसू;
    जो पलकों से बाहर नहीं आ पाता।!
  • कैसे छोड़ दूँ आखिर, तुमसे मोहब्बत करना,
    तुम किस्मत में ना सही, दिल में तो हो!
  • सिकवा शिकायत नही उनसे मगर;
    अपना दिल कहता है बदल गये वोह!
  • राख से भी आएगी खुशबू मोहब्बत की;<br/>
मेरे खत तुम सरेआम जलाया ना करो!
    राख से भी आएगी खुशबू मोहब्बत की;
    मेरे खत तुम सरेआम जलाया ना करो!
  • चलो माना की हमे प्यार का इजहार करना नहीं आता;
    जज्बात न समझ सको इतने नादान तो तुम भी नही!
  • भूल तो जाऊं तुझे;<br/>
फिर मेरे पास रहेगा क्या!
    भूल तो जाऊं तुझे;
    फिर मेरे पास रहेगा क्या!
  • बेजुबां महफिल में शोर होने लगा;
    ना जाने कौन पढ़ गया खामोशी मेरी!
  • नसीब जिनके ऊंचे और मस्त होते हैं;
    इम्तिहान भी उनके जबरदस्त होते है!
  • मेरी आँखों में आँसू नहीं बस कुछ नमी है;<br/>
वजह आप नही आप की कमी है!
    मेरी आँखों में आँसू नहीं बस कुछ नमी है;
    वजह आप नही आप की कमी है!
  • प्यार वो हम को बेपनाह कर गये;<br/>
फिर ज़िंदगी में हम को तन्हा कर गये;<br/>
चाहत थी उनके इश्क में फ़नाह होने की;<br/>
पर वो लौट कर आने को भी मना कर गये!
    प्यार वो हम को बेपनाह कर गये;
    फिर ज़िंदगी में हम को तन्हा कर गये;
    चाहत थी उनके इश्क में फ़नाह होने की;
    पर वो लौट कर आने को भी मना कर गये!