• इजाजत हो तो मैं भी तुम्हारे पास आ जाऊँ;<br/>
देखो ना चाँद के पास भी तो एक सितारा है!
    इजाजत हो तो मैं भी तुम्हारे पास आ जाऊँ;
    देखो ना चाँद के पास भी तो एक सितारा है!
  • सिर्फ इशारों में होती मोहब्बत अगर,<br/>
इन अलफाजों को खुबसूरती कौन देता,<br/>
बस पत्थर बन के रह जाता 'ताज महल';<br/>
अगर इश्क इसे अपनी पहचान ना देता!
    सिर्फ इशारों में होती मोहब्बत अगर,
    इन अलफाजों को खुबसूरती कौन देता,
    बस पत्थर बन के रह जाता 'ताज महल';
    अगर इश्क इसे अपनी पहचान ना देता!
  • एक हसीन पल की जरूरत है हमें;<br/>
बीते हुए कल की जरूरत है हमें;<br/>
सारा जहाँ रूठ गया हमसे;<br/>
जो कभी ना रूठे ऐसे दोस्त की जरूरत है हमें!
    एक हसीन पल की जरूरत है हमें;
    बीते हुए कल की जरूरत है हमें;
    सारा जहाँ रूठ गया हमसे;
    जो कभी ना रूठे ऐसे दोस्त की जरूरत है हमें!
  • थक सा गया है मेरी चाहतों का वजूद;<br/>
अब कोई अच्छा भी लगे तो हम इज़हार नहीं करते!
    थक सा गया है मेरी चाहतों का वजूद;
    अब कोई अच्छा भी लगे तो हम इज़हार नहीं करते!
  • ना जाने किस रैन बसेरे की तलाश है इस चाँद को;<br/>
रात भर बिना कम्बल, भटकता रहता है इन सर्द रातों में!
    ना जाने किस रैन बसेरे की तलाश है इस चाँद को;
    रात भर बिना कम्बल, भटकता रहता है इन सर्द रातों में!
  • इज़हार-ए-मोहब्बत पे अजब हाल है उन का;<br/>
आँखें तो रज़ा-मंद हैं, लब सोच रहे हैं!
    इज़हार-ए-मोहब्बत पे अजब हाल है उन का;
    आँखें तो रज़ा-मंद हैं, लब सोच रहे हैं!
  • खुदा का शुक्र है कि ख्वाब बना दिए;<br/>
वरना तुम्हें देखने की तो हसरत ही रह जाती!
    खुदा का शुक्र है कि ख्वाब बना दिए;
    वरना तुम्हें देखने की तो हसरत ही रह जाती!
  • तेरी मर्जी से ढल जाऊं हर बार ये मुमकिन नहीं;
    मेरा भी वजूद है, मैं कोई आइना नहीं!
  • हम कुछ ऐसे तेरे दीदार में खो जाते हैं;<br/>
जैसे बच्चे भरे बाज़ार में खो जाते हैं!
    हम कुछ ऐसे तेरे दीदार में खो जाते हैं;
    जैसे बच्चे भरे बाज़ार में खो जाते हैं!
  • मोहब्बत मे कभी कोई जबरदस्ती नहीं होती;<br/>
जब तुम्हारा जी चाहे तुम बस मेरे हो जाना!
    मोहब्बत मे कभी कोई जबरदस्ती नहीं होती;
    जब तुम्हारा जी चाहे तुम बस मेरे हो जाना!