• हैप्पी होली,
    हैप्पी होली,
    हैप्प...
    .
    .
    .
    धड़ाम!
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    पप्पू: मैंने तुझे पहले ही कहा था धीरे चला। अब लग गयी ना!
  • पैसा बिस्तर दे सकता है... नींद नहीं;
    पैसा भोजन दे सकता है... भूख नहीं;
    पैसा अच्छे कपडे दे सकता है... सुंदरता नहीं;
    पैसा ऐशो आराम के साधन दे सकता है... सुकून नहीं;
    इसलिए आप सभी अपना अपना पैसा...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    मेरे नाम ट्रांस्फर करके संन्यास ले लें।
  • रंगों के त्यौहार में, सभी रंगों की हो भरमार;<br />
ढेर सारी खुशियों से भरा हो आपका संसार;<br />
यही दुआ है हमारी भगवान से हर बार;<br />
मुबारक हो आपको होली का यह त्यौहार।<br />
होली मुबारक!Upload to Facebook
    रंगों के त्यौहार में, सभी रंगों की हो भरमार;
    ढेर सारी खुशियों से भरा हो आपका संसार;
    यही दुआ है हमारी भगवान से हर बार;
    मुबारक हो आपको होली का यह त्यौहार।
    होली मुबारक!
  • पठान पहली बार अपनी बेगम को लेने ससुराल गया तो उसका जम कर स्वागत! हुआ खाने को अलग अलग तरह के पकवान बनाये गये।<br />
खाना खाते वक्त सास ने पुछा, `दामाद जी, आपको कौन सी डिश पसंद है?`<br />
पठान शरमाते हुए बोला, `जी, Tata Sky!`Upload to Facebook
    पठान पहली बार अपनी बेगम को लेने ससुराल गया तो उसका जम कर स्वागत! हुआ खाने को अलग अलग तरह के पकवान बनाये गये।
    खाना खाते वक्त सास ने पुछा, "दामाद जी, आपको कौन सी डिश पसंद है?"
    पठान शरमाते हुए बोला, "जी, Tata Sky!"
  • पत्नी: पूजा किया करो, पिता जी कहते हैं इससे बड़ी-बड़ी बलाएँ टल जाती हैं।<br />
पति: तेरे बाप ने बहुत की होगी, उसकी टल गयी और मेरे पल्ले पड़ गयी।Upload to Facebook
    पत्नी: पूजा किया करो, पिता जी कहते हैं इससे बड़ी-बड़ी बलाएँ टल जाती हैं।
    पति: तेरे बाप ने बहुत की होगी, उसकी टल गयी और मेरे पल्ले पड़ गयी।
  • राहुल गाँधी कहते हैं कि काँग्रेस एक पार्टी नहीं, एक सोच है।
    और विद्या बालन कहती है कि जहाँ सोच है वहाँ शौचालय है।
    बहुत कन्फ्यूजन है, भाई!
  • अपनी जुबान की ताक़त उन माँ-बाप पर कभी मत आज़माओ जिन्होंने तुम्हें बोलना सिखाया है।Upload to Facebook
    अपनी जुबान की ताक़त उन माँ-बाप पर कभी मत आज़माओ जिन्होंने तुम्हें बोलना सिखाया है।
  • सूरज ने झपकी पलक और ढल गयी शाम;<br />
रात ने बिखेरा है आँचल मिलकर तारों के साथ;
देख कर रात का यह नज़ारा कहने को शुभ रात्रि हम भी आ गए हैं साथ।<br />
शुभ रात्रि!Upload to Facebook
    सूरज ने झपकी पलक और ढल गयी शाम;
    रात ने बिखेरा है आँचल मिलकर तारों के साथ; देख कर रात का यह नज़ारा कहने को शुभ रात्रि हम भी आ गए हैं साथ।
    शुभ रात्रि!
  • ना मंदिर ना भगवान,<br />
ना पूजा ना स्नान,<br />
सुबह होते ही सबसे पहला काम,<br />
अपने सभी प्यार मित्रों को कहना सुप्रभात<br />
सुप्रभात!Upload to Facebook
    ना मंदिर ना भगवान,
    ना पूजा ना स्नान,
    सुबह होते ही सबसे पहला काम,
    अपने सभी प्यार मित्रों को कहना सुप्रभात
    सुप्रभात!
  • बचपन में छुट्टे पैसे होते थे तब टॉफ़ी खाते थे;<br />
और आज जब छुट्टे पैसे नहीं होते तो टॉफ़ी खानी पड़ती है।Upload to Facebook
    बचपन में छुट्टे पैसे होते थे तब टॉफ़ी खाते थे;
    और आज जब छुट्टे पैसे नहीं होते तो टॉफ़ी खानी पड़ती है।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT