• स्वाद और विवाद दोनों को छोड़ देना चाहिए!<br/>
स्वाद छोड़ो तो शरीर को फायदा, विवाद छोड़ो तो संबंधों को फायदा!
    स्वाद और विवाद दोनों को छोड़ देना चाहिए!
    स्वाद छोड़ो तो शरीर को फायदा, विवाद छोड़ो तो संबंधों को फायदा!
  • जीवन में सिगरेट, शराब और जुआ से पहले छोड़ने लायक कुछ है तो वह है दूसरों से उम्मीद!
    जीवन में सिगरेट, शराब और जुआ से पहले छोड़ने लायक कुछ है तो वह है दूसरों से उम्मीद!
  • छोटी मगर बहुत बड़ी बात:<br/>
पानी अपना पूरा जीवन देकर पेढ को बड़ा करता है, इसलिए शायद पानी लकड़ी को कभी डूबने नहीं देता!
    छोटी मगर बहुत बड़ी बात:
    पानी अपना पूरा जीवन देकर पेढ को बड़ा करता है, इसलिए शायद पानी लकड़ी को कभी डूबने नहीं देता!
  • कर्तव्य ही ऐसा आदर्श है जो कभी धोखा नहीं दे सकता और धैर्य ही एक ऐसा कड़वा पौधा है जिस पर फल हमेशा मीठे आते हैं।
    कर्तव्य ही ऐसा आदर्श है जो कभी धोखा नहीं दे सकता और धैर्य ही एक ऐसा कड़वा पौधा है जिस पर फल हमेशा मीठे आते हैं।
  • मन की बात कह देने से, फैसले हो जाते हैं और मन में रख लेने से फासले हो जाते है!
    मन की बात कह देने से, फैसले हो जाते हैं और मन में रख लेने से फासले हो जाते है!
  • शब्द कितनी भी समझदारी से इस्तेमाल कीजिये फिर भी सुनने वाला अपनी योग्यता और मन के विचारों के अनुसार ही उसका मतलब समझता है!
    शब्द कितनी भी समझदारी से इस्तेमाल कीजिये फिर भी सुनने वाला अपनी योग्यता और मन के विचारों के अनुसार ही उसका मतलब समझता है!
  • जो स्नेह हमें दूसरों से मिलता है,<br/>
वो हमारे चरित्र का ही एक तोहफा है!
    जो स्नेह हमें दूसरों से मिलता है,
    वो हमारे चरित्र का ही एक तोहफा है!
  • अपने किरदार की हिफाजत जान से बढ़ कर कीजिये!<br/>
क्योंकि इसे ज़िन्दगी के बाद भी याद किया जाता है!
    अपने किरदार की हिफाजत जान से बढ़ कर कीजिये!
    क्योंकि इसे ज़िन्दगी के बाद भी याद किया जाता है!
  • जल्दी जागना हमेशा ही फायदेमंद होता है!<br/>
चाहे वो नींद से हो, अहम से हो या फिर वहम से!
    जल्दी जागना हमेशा ही फायदेमंद होता है!
    चाहे वो नींद से हो, अहम से हो या फिर वहम से!
  • कौन हिसाब रखे किसको कितना दिया और कौन कितना बचायेगा!<br/>
इसलिए ईश्वर ने आसान गणित लगाया सबको खाली हाथ भेज दिया! <br/>
खाली हाथ ही बुलायेगा!
    कौन हिसाब रखे किसको कितना दिया और कौन कितना बचायेगा!
    इसलिए ईश्वर ने आसान गणित लगाया सबको खाली हाथ भेज दिया!
    खाली हाथ ही बुलायेगा!