• इंसानियत दिल में होती है, हैसियत में नहीं।<br/>
उपरवाला कर्म देखता है, वसीयत नहीं।Upload to Facebook
    इंसानियत दिल में होती है, हैसियत में नहीं।
    उपरवाला कर्म देखता है, वसीयत नहीं।
  • कोशिश आखिरी साँस तक जारी रखनी चाहिए, `मंजिल` मिले या `तजुर्बा` दोनो ही नायाब हैं।Upload to Facebook
    कोशिश आखिरी साँस तक जारी रखनी चाहिए, "मंजिल" मिले या "तजुर्बा" दोनो ही नायाब हैं।
  • बुद्धिमान राजाओं के पास बुद्धिमान सलाहकार होते हैं, और जो ज्ञानी अज्ञानी में अंतर कर सके उसका खुद बुद्धिमान होना ज़रूरी है।Upload to Facebook
    बुद्धिमान राजाओं के पास बुद्धिमान सलाहकार होते हैं, और जो ज्ञानी अज्ञानी में अंतर कर सके उसका खुद बुद्धिमान होना ज़रूरी है।
  • ज़िंदगी में हर मौक़े का फ़ायदा उठाओ, मगर किसी की मज़बूरी और भरोसे का नहीं।Upload to Facebook
    ज़िंदगी में हर मौक़े का फ़ायदा उठाओ, मगर किसी की मज़बूरी और भरोसे का नहीं।
  • जीवन की लंबाई नहीं गहराई मायने रखती है।
  • कुछ पल बैठा करो बुजुर्गों के पास, हर चीज गूगल पर नहीं मिला करती।Upload to Facebook
    कुछ पल बैठा करो बुजुर्गों के पास, हर चीज गूगल पर नहीं मिला करती।
  • किसी को क़ुरान में ईमान न मिला, किसी को गीता में ज्ञान ना मिला;<br/>
उस बन्दे को आसमान में क्या रब मिलेगा, जिसको इंसान में इंसान ना मिला।Upload to Facebook
    किसी को क़ुरान में ईमान न मिला, किसी को गीता में ज्ञान ना मिला;
    उस बन्दे को आसमान में क्या रब मिलेगा, जिसको इंसान में इंसान ना मिला।
  • कौन कहता है कि 'पैसा' सब कुछ खरीद सकता है, दम है तो टूटे हुए 'विश्वास' को खरीद कर दिखाओ।Upload to Facebook
    कौन कहता है कि 'पैसा' सब कुछ खरीद सकता है, दम है तो टूटे हुए 'विश्वास' को खरीद कर दिखाओ।
  • कभी सोचिये स्वयं को बदलना कितना कठिन है, फिर दूसरों को बदलना कैसे सरल हो सकता है।
  • किसी की बुराई तलाश करने वाले इंसान की मिसाल उस 'मक्खी' जैसी है जो सारी खूबसूरत जगह को छोड़कर, केवल गंदगी पर ही बैठती है।Upload to Facebook
    किसी की बुराई तलाश करने वाले इंसान की मिसाल उस 'मक्खी' जैसी है जो सारी खूबसूरत जगह को छोड़कर, केवल गंदगी पर ही बैठती है।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT