• जीभ सुधर जाये तो जीवन सुधरने में वक़्त नहीं लगता।Upload to Facebook
    जीभ सुधर जाये तो जीवन सुधरने में वक़्त नहीं लगता।
  • इन्सान के जिस्म का सबसे खूबसूरत हिस्सा दिल होता है। अगर वही साफ नहीं है तो चमकता चेहरा किसी काम का नहीं है।Upload to Facebook
    इन्सान के जिस्म का सबसे खूबसूरत हिस्सा दिल होता है। अगर वही साफ नहीं है तो चमकता चेहरा किसी काम का नहीं है।
  • स्वभाव रखना है तो उस दीपक की तरह रखो जो बादशाह के महल में भी उतनी रौशनी देता है जितनी किसी गरीब की झोंपड़ी में।Upload to Facebook
    स्वभाव रखना है तो उस दीपक की तरह रखो जो बादशाह के महल में भी उतनी रौशनी देता है जितनी किसी गरीब की झोंपड़ी में।
  • जीवन में कभी किसी से अपनी तुलना मत करो। आप जैसे हैं सर्वश्रेष्ठ हैं।<br/>
ईश्वर की हर संरचना अपने आप में सर्वोत्तम है अद्भुत है।Upload to Facebook
    जीवन में कभी किसी से अपनी तुलना मत करो। आप जैसे हैं सर्वश्रेष्ठ हैं।
    ईश्वर की हर संरचना अपने आप में सर्वोत्तम है अद्भुत है।
  • अपने रिश्तों और पैसों की कदर एक सामान करें क्योंकि दोनों कमाने मुश्किल हैं लेकिन गंवाने आसान।Upload to Facebook
    अपने रिश्तों और पैसों की कदर एक सामान करें क्योंकि दोनों कमाने मुश्किल हैं लेकिन गंवाने आसान।
  • सुख और दुःख हमारे पारिवारिक सदस्य नहीं, मेहमान हैं।<br/>
जो बारी - बारी से आयेंगे, कुछ दिन ठहर कर चले जायेंगे। अगर वो नहीं आयेंगे तो हम अनुभव कहाँ से लायेंगे।Upload to Facebook
    सुख और दुःख हमारे पारिवारिक सदस्य नहीं, मेहमान हैं।
    जो बारी - बारी से आयेंगे, कुछ दिन ठहर कर चले जायेंगे। अगर वो नहीं आयेंगे तो हम अनुभव कहाँ से लायेंगे।
  • कुंडली में 'शनि', दिमाग में 'मनी' और जीवन में 'दुश्मनी' तीनों हानिकारक होते हैं।
  • बस एक ही बात सीखी है ज़िन्दगी में,<br/>
अगर अपनों के करीब रहना है तो मौन रहो और अपनों को करीब रखना है तो बात दिल पर मर लो।Upload to Facebook
    बस एक ही बात सीखी है ज़िन्दगी में,
    अगर अपनों के करीब रहना है तो मौन रहो और अपनों को करीब रखना है तो बात दिल पर मर लो।
  • यह ज़रूरी नहीं कि इंसान हर रोज़ मंदिर जाये बल्कि...<br/>
कर्म ऐसे होने चाहिए कि इंसान जहाँ भी जाये मंदिर वहीं बन जाये।Upload to Facebook
    यह ज़रूरी नहीं कि इंसान हर रोज़ मंदिर जाये बल्कि...
    कर्म ऐसे होने चाहिए कि इंसान जहाँ भी जाये मंदिर वहीं बन जाये।
  • काम का आलस और पैसों का लालच,<br/>
हमें महान बनने नहीं देता।Upload to Facebook
    काम का आलस और पैसों का लालच,
    हमें महान बनने नहीं देता।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT