• जीभ सुधर जाये तो जीवन सुधरने में वक़्त नहीं लगता।
    जीभ सुधर जाये तो जीवन सुधरने में वक़्त नहीं लगता।
  • इन्सान के जिस्म का सबसे खूबसूरत हिस्सा दिल होता है। अगर वही साफ नहीं है तो चमकता चेहरा किसी काम का नहीं है।
    इन्सान के जिस्म का सबसे खूबसूरत हिस्सा दिल होता है। अगर वही साफ नहीं है तो चमकता चेहरा किसी काम का नहीं है।
  • स्वभाव रखना है तो उस दीपक की तरह रखो जो बादशाह के महल में भी उतनी रौशनी देता है जितनी किसी गरीब की झोंपड़ी में।
    स्वभाव रखना है तो उस दीपक की तरह रखो जो बादशाह के महल में भी उतनी रौशनी देता है जितनी किसी गरीब की झोंपड़ी में।
  • जीवन में कभी किसी से अपनी तुलना मत करो। आप जैसे हैं सर्वश्रेष्ठ हैं।<br/>
ईश्वर की हर संरचना अपने आप में सर्वोत्तम है अद्भुत है।
    जीवन में कभी किसी से अपनी तुलना मत करो। आप जैसे हैं सर्वश्रेष्ठ हैं।
    ईश्वर की हर संरचना अपने आप में सर्वोत्तम है अद्भुत है।
  • अपने रिश्तों और पैसों की कदर एक सामान करें क्योंकि दोनों कमाने मुश्किल हैं लेकिन गंवाने आसान।
    अपने रिश्तों और पैसों की कदर एक सामान करें क्योंकि दोनों कमाने मुश्किल हैं लेकिन गंवाने आसान।
  • सुख और दुःख हमारे पारिवारिक सदस्य नहीं, मेहमान हैं।<br/>
जो बारी - बारी से आयेंगे, कुछ दिन ठहर कर चले जायेंगे। अगर वो नहीं आयेंगे तो हम अनुभव कहाँ से लायेंगे।
    सुख और दुःख हमारे पारिवारिक सदस्य नहीं, मेहमान हैं।
    जो बारी - बारी से आयेंगे, कुछ दिन ठहर कर चले जायेंगे। अगर वो नहीं आयेंगे तो हम अनुभव कहाँ से लायेंगे।
  • कुंडली में 'शनि', दिमाग में 'मनी' और जीवन में 'दुश्मनी' तीनों हानिकारक होते हैं।
  • बस एक ही बात सीखी है ज़िन्दगी में,<br/>
अगर अपनों के करीब रहना है तो मौन रहो और अपनों को करीब रखना है तो बात दिल पर मर लो।
    बस एक ही बात सीखी है ज़िन्दगी में,
    अगर अपनों के करीब रहना है तो मौन रहो और अपनों को करीब रखना है तो बात दिल पर मर लो।
  • यह ज़रूरी नहीं कि इंसान हर रोज़ मंदिर जाये बल्कि...<br/>
कर्म ऐसे होने चाहिए कि इंसान जहाँ भी जाये मंदिर वहीं बन जाये।
    यह ज़रूरी नहीं कि इंसान हर रोज़ मंदिर जाये बल्कि...
    कर्म ऐसे होने चाहिए कि इंसान जहाँ भी जाये मंदिर वहीं बन जाये।
  • काम का आलस और पैसों का लालच,<br/>
हमें महान बनने नहीं देता।
    काम का आलस और पैसों का लालच,
    हमें महान बनने नहीं देता।