• जेब में ज़रा सा सुराख़ क्या हुआ,<br/>
सिक्कों से ज़्यादा रिश्ते गिर पडे।Upload to Facebook
    जेब में ज़रा सा सुराख़ क्या हुआ,
    सिक्कों से ज़्यादा रिश्ते गिर पडे।
  • अगर कोई आपको कहे थोड़ी तमीज सीख लो तो,<br/>
कोशिश ज़रूर करना बाकी भगवान की मर्ज़ी!Upload to Facebook
    अगर कोई आपको कहे थोड़ी तमीज सीख लो तो,
    कोशिश ज़रूर करना बाकी भगवान की मर्ज़ी!
  • अगर आप किसी के हमदर्द नहीं बन सकते, तो कृपया सिरदर्द भी ना बने।Upload to Facebook
    अगर आप किसी के हमदर्द नहीं बन सकते, तो कृपया सिरदर्द भी ना बने।
  • आज खूब मजे करो क्योंकि ज़िन्दगी न मिलेगी 2/12 (दो-बारा)!Upload to Facebook
    आज खूब मजे करो क्योंकि ज़िन्दगी न मिलेगी 2/12 (दो-बारा)!
  • रावण की 20 आँखें थी पर नज़र सिर्फ एक औरत पे, जबकि आपकी 2 आँखें और नज़र हर औरत पे,<br/>
तो असली रावण कौन?Upload to Facebook
    रावण की 20 आँखें थी पर नज़र सिर्फ एक औरत पे, जबकि आपकी 2 आँखें और नज़र हर औरत पे,
    तो असली रावण कौन?
  • ज़िंदगी में आगे बढ़ना है तो एक बात गांठ बांध लो।<br/>
Excuse Me बोलते जाओ, आगे बढ़ते जाओ।Upload to Facebook
    ज़िंदगी में आगे बढ़ना है तो एक बात गांठ बांध लो।
    Excuse Me बोलते जाओ, आगे बढ़ते जाओ।
  • कुछ लोग खाने के इतने शौक़ीन होते हैं कि,<br/>
वो दूसरों की खुशियाँ भी खा जाते हैं।Upload to Facebook
    कुछ लोग खाने के इतने शौक़ीन होते हैं कि,
    वो दूसरों की खुशियाँ भी खा जाते हैं।
  • बचपन की जिद्द समझौते में बदल जाती है,<br/>
उम्र बदलने के साथ।Upload to Facebook
    बचपन की जिद्द समझौते में बदल जाती है,
    उम्र बदलने के साथ।
  • आदमी ही आदमी का रास्ता काट रहा है,<br/>
बिल्लियाँ तो बेचारी बेरोज़गार बैठी हैं।Upload to Facebook
    आदमी ही आदमी का रास्ता काट रहा है,
    बिल्लियाँ तो बेचारी बेरोज़गार बैठी हैं।
  • `शेरों` की तरह जीते थे जब तक कमाते नहीं थे।<br/>
जब कमाना शुरू किया ज़िंदगी `शेरू` की तरह हो गई।Upload to Facebook
    "शेरों" की तरह जीते थे जब तक कमाते नहीं थे।
    जब कमाना शुरू किया ज़िंदगी "शेरू" की तरह हो गई।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT