• मुरली मनोहर कृष्ण कन्हैया;
    यमुना तट पर विराजे है;
    मोर मुकुट पर, कानों में कुंडल;
    कर में मुरलिया साजे है।
    हैप्पी जन्माष्टमी!
  • राधा की चाहत है कृष्ण;<br />
उसके दिल की विरासत है कृष्ण;<br />
चाहे कितना भी रास रचा ले कृष्ण;<br />
दुनिया तो फिर भी यही कहती है;<br />
राधे कृष्ण, राधे कृष्ण।
    राधा की चाहत है कृष्ण;
    उसके दिल की विरासत है कृष्ण;
    चाहे कितना भी रास रचा ले कृष्ण;
    दुनिया तो फिर भी यही कहती है;
    राधे कृष्ण, राधे कृष्ण।
  • मेरो तो गिरधर गोपाल;<br />
दूसरो न कोई;<br />
जाके सर मोर मुकुट;<br />
मेरो प्रभु सोई।<br />
शुभ जन्माष्टमी!
    मेरो तो गिरधर गोपाल;
    दूसरो न कोई;
    जाके सर मोर मुकुट;
    मेरो प्रभु सोई।
    शुभ जन्माष्टमी!
  • मथुरा की खुशबु गोकुल का हार;<br />
वृन्दावन की सुगंध, ब्रिज का फुहार;<br />
राधा की उम्मीद और कन्हैया का प्यार;<br />
मुबारक हो आपको ये जन्माष्टमी का त्यौहार।
    मथुरा की खुशबु गोकुल का हार;
    वृन्दावन की सुगंध, ब्रिज का फुहार;
    राधा की उम्मीद और कन्हैया का प्यार;
    मुबारक हो आपको ये जन्माष्टमी का त्यौहार।
  • सोचा किसी अपने से बात करें;<br />
अपने किसी ख़ास को याद करें;<br />
किया जो फैसला जन्माष्टमी की शुभकामना देने का;<br />
दिल ने कहा क्यों न आपसे शुरुआत करें।<br />
हैप्पी कृष्ण जन्माष्टमी!
    सोचा किसी अपने से बात करें;
    अपने किसी ख़ास को याद करें;
    किया जो फैसला जन्माष्टमी की शुभकामना देने का;
    दिल ने कहा क्यों न आपसे शुरुआत करें।
    हैप्पी कृष्ण जन्माष्टमी!
  • कृष्ण के क़दमों पे कदम बढ़ाते चलो;<br/>
अब मुरली नहीं तो सीटी बजाते चलो;<br/>
राधा तो घर वाले दिलायेंगे ही मगर;<br/>
तब तक गोपियाँ पटाते चलो।<br/>
हैप्पी कृष्ण जन्माष्टमी!
    कृष्ण के क़दमों पे कदम बढ़ाते चलो;
    अब मुरली नहीं तो सीटी बजाते चलो;
    राधा तो घर वाले दिलायेंगे ही मगर;
    तब तक गोपियाँ पटाते चलो।
    हैप्पी कृष्ण जन्माष्टमी!
  • जन्माष्टमी का त्योहार;<br/>
एक राधा और एक मीरा;<br/>
दोनों ने श्याम को चाहा;<br/>
अब श्याम पर है, सारा भार;<br/>
किसकी प्रीत करे स्वीकार।<br/>
शुभ जन्माष्टमी!
    जन्माष्टमी का त्योहार;
    एक राधा और एक मीरा;
    दोनों ने श्याम को चाहा;
    अब श्याम पर है, सारा भार;
    किसकी प्रीत करे स्वीकार।
    शुभ जन्माष्टमी!
  • माखन का कटोरा मिश्री का थाल;<br />
मिटटी की खुशबु बारिश की फुहार;<br />
राधा की उम्मीदें कन्हैया का प्यार;<br />
मुबारक हो जन्माष्टमी का त्यौहार।
    माखन का कटोरा मिश्री का थाल;
    मिटटी की खुशबु बारिश की फुहार;
    राधा की उम्मीदें कन्हैया का प्यार;
    मुबारक हो जन्माष्टमी का त्यौहार।
  • इस जन्माष्टमी पर श्रीकृष्ण आपके घर आये;<br />
और माखन, मिश्री के साथ आपके सारे दुःख और कष्ट ले जायें।<br />
शुभ जन्माष्टमी!
    इस जन्माष्टमी पर श्रीकृष्ण आपके घर आये;
    और माखन, मिश्री के साथ आपके सारे दुःख और कष्ट ले जायें।
    शुभ जन्माष्टमी!
  • माखन चुराकर जिसने खाया;<br />
बंसी बजाकर जिसने नचाया;<br />
ख़ुशी मनाओ उसके जन्म की;<br />
जिसने दुनिया को प्रेम सिखाया।<br />
जय श्री कृष्णा! शुभ जन्मआष्ट्मी!
    माखन चुराकर जिसने खाया;
    बंसी बजाकर जिसने नचाया;
    ख़ुशी मनाओ उसके जन्म की;
    जिसने दुनिया को प्रेम सिखाया।
    जय श्री कृष्णा! शुभ जन्मआष्ट्मी!