• पसीनों से लथपथ एक गर्मी ग्रस्त, अवशेष हूँ;
    बिजली की निकम्मियत का, जर्जर संदेश हूँ।
    हाँ, मैं उत्तर प्रदेश हूँ।
  • जब बुद्धि अखिलेश हो जाती है;
    तो जिन्दगी उत्तर प्रदेश हो जाती है।
  • जो सरकार अपने ही देश में जमा "प्याज़-टमाटर" नहीं निकलवा सकती,
    वो दूसरे देश में जमा "काला घन" क्या बाबाजी का ठुल्लु निकलवायेगी?
  • बजट में हीरा सस्ता होने के साथ ही उन लड़कों के भाव भी गिर गए हैं जिनके बारे में दावा किया गया था कि
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    लड़का तो हीरा है, हीरा।
  • जब से बजट आया है बीजेपी कार्यकर्ता काफी टेंशन में हैं;
    घरवाली को कैसे समझायेंगे, क्योंकि सारे श्रृंगार प्रसाधन और कॉस्मेटिक बजट में महंगे कर दिए।
    ऊपर से जूते, चप्पल और सैंडल सस्ते।
  • "अच्छे दिनों" के इंतज़ार में लोग पागल हो रहे हैं........इसलिए दिल्ली से आगरा के लिए High Speed Train चलाई गई है।
  • साला आज तक ये बात समझ नहीं आयी कि पेट्रोल के दाम और बीवी के नखरे हमेशा...
    .
    .
    .
    .
    .
    आधी रात को ही क्यों बढ़ते हैं।
  • कांग्रेस के राज में 100% लोग महंगाई से परेशान थे, अब सिर्फ 69%।
  • भारत सरकार के लिए ये तय कर पाना मुश्किल हो रहा है कि पहले किसे छुड़ाया जाये:
    इराक में फंसे भारतीयों को या थिएटर में 'हमशकलस' देखने गए फंसे हुए लोगो को।
  • रेल मंत्रालय से अनुरोध है कि वे किराया बढ़ा ले,
    दिक्कत नहीं है पर...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    बाथरूम मे बंधे मग्गे की चेन भी लंबी करे।
    जहाँ तक पहुंचना चाहिए वहाँ तक पहुंचता ही नहीं है।
    (जनहित मे जारी)