• हिन्दू-मुस्लिम-सिख-ईसाई हर धर्म की रक्षा की है;<br/>
सभी वर्ग के लोगों को सम्मान देने की प्रतिज्ञा की है;<br/>
ऐसा सशक्त और मज़बूत लोकतंत्र किया तैयार;<br/>
जिसकी हर देशवासी ने दिल से इच्छा की है।<br/>
गणतंत्र दिवस की बधाई!
    हिन्दू-मुस्लिम-सिख-ईसाई हर धर्म की रक्षा की है;
    सभी वर्ग के लोगों को सम्मान देने की प्रतिज्ञा की है;
    ऐसा सशक्त और मज़बूत लोकतंत्र किया तैयार;
    जिसकी हर देशवासी ने दिल से इच्छा की है।
    गणतंत्र दिवस की बधाई!
  • चलो फिर से खुद को जगाते हैं;<br/>
अनुशासन का डंडा फिर घुमाते हैं;<br/>
याद करें उन शूरवीरों को क़ुरबानी;<br/>
जिनके कारण हम इस लोकतंत्र का आनंद उठाते हैं।<br/>
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं!
    चलो फिर से खुद को जगाते हैं;
    अनुशासन का डंडा फिर घुमाते हैं;
    याद करें उन शूरवीरों को क़ुरबानी;
    जिनके कारण हम इस लोकतंत्र का आनंद उठाते हैं।
    गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं!
  • देश भक्तों के बलिदान से, स्वतंत्र हुए हैं हम;<br/>
कोई पूछे कौन हो, तो गर्व से कहेंगे, भारतीय हैं हम।<br/>
गणतंत्र दिवस मुबारक!
    देश भक्तों के बलिदान से, स्वतंत्र हुए हैं हम;
    कोई पूछे कौन हो, तो गर्व से कहेंगे, भारतीय हैं हम।
    गणतंत्र दिवस मुबारक!
  • भारत के गणतंत्र का, सारे जग में मान;<br/>
दशकों से खिल रही, उसकी अद्भुत शान;<br/>
सब धर्मों को देकर मान रचा गया इतिहास;<br/>
इसीलिए हर देशवासी को इसमें है विश्वास।<br/>
गणतंत्र दिवस की बधाई!
    भारत के गणतंत्र का, सारे जग में मान;
    दशकों से खिल रही, उसकी अद्भुत शान;
    सब धर्मों को देकर मान रचा गया इतिहास;
    इसीलिए हर देशवासी को इसमें है विश्वास।
    गणतंत्र दिवस की बधाई!
  • वन्दे मातरम्<br />
सुजलां सुफलां<br />
मलयजशीतलाम्<br />
शस्यशामलां<br />
मातरम् ।<br />
गणतंत्र दिवस की शुभ कामनाएं।
    वन्दे मातरम्
    सुजलां सुफलां
    मलयजशीतलाम्
    शस्यशामलां
    मातरम् ।
    गणतंत्र दिवस की शुभ कामनाएं।
  • ज़माने भर में मिलते हैं आशिक कई;<br/>
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता;<br/>
नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हैं कई;<br/>
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता।<br/>
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं!
    ज़माने भर में मिलते हैं आशिक कई;
    मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता;
    नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हैं कई;
    मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता।
    गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं!
  • नहीं सिर्फ जश्न मनाना;<br/>
नहीं सिर्फ झंडे लहराना;<br/>
यह काफी नहीं है वतन पर;<br/>
यादों को नहीं भुलाना;<br/>
जो क़ुर्बान हुए;<br/>
उनके लफ़्ज़ों को  बढ़ाना;<br/>
खुद के लिए नहीं;<br/>
ज़िंदगी वतन के लिए लुटाना।<br/>
गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई!
    नहीं सिर्फ जश्न मनाना;
    नहीं सिर्फ झंडे लहराना;
    यह काफी नहीं है वतन पर;
    यादों को नहीं भुलाना;
    जो क़ुर्बान हुए;
    उनके लफ़्ज़ों को बढ़ाना;
    खुद के लिए नहीं;
    ज़िंदगी वतन के लिए लुटाना।
    गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई!
  • तैरना है तो समंदर में तैरो;<br/>
नदी नालों में क्या रखा है;<br/>
प्यार करना है तो वतन से करो;<br/>
इन बेवफ़ा लोगों में क्या रखा है।<br/>
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं!
    तैरना है तो समंदर में तैरो;
    नदी नालों में क्या रखा है;
    प्यार करना है तो वतन से करो;
    इन बेवफ़ा लोगों में क्या रखा है।
    गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं!
  • देश भक्तों के बलिदान से, स्वतंत्र हुए हैं हम;<br/>
कोई पूछे कौन हो, तो गर्व से कहेंगे, भारतीय हैं हम।<br/>
गणतंत्र दिवस मुबारक हो!
    देश भक्तों के बलिदान से, स्वतंत्र हुए हैं हम;
    कोई पूछे कौन हो, तो गर्व से कहेंगे, भारतीय हैं हम।
    गणतंत्र दिवस मुबारक हो!
  • दाग़ गुलामी का धोया है जान लुटा कर;<br/>
दीप जलाए हैं कितने दीप बुझा कर;<br/>
मिली है जब यह आज़ादी तो फिर;<br/>
इस आज़ादी को रखना होगा हर दुश्मन से आज बचाकर।<br/>
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं!
    दाग़ गुलामी का धोया है जान लुटा कर;
    दीप जलाए हैं कितने दीप बुझा कर;
    मिली है जब यह आज़ादी तो फिर;
    इस आज़ादी को रखना होगा हर दुश्मन से आज बचाकर।
    गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं!
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT