• हे बापू, इस भारत के तुम, एक मात्र ही नाथ रहे;<br/>
जीवन का सर्वस्व इसी को देकर इसके साथ रहे;<br/>
तेरे कर्तव्यों से, बापू, भारत चिर स्वाधीन हुआ;<br/>
उपकारों का ऋणी, सदा यह तेरे ही अधीन हुआ;<br/>
कल्पों में भी कभी उऋण हो, जन-गण-मन साकार करो;<br/>
आओ बापू, आओ फिर से हम सबका उद्धार करो।<br/>
गाँधी जयंती की शुभ कामनायें!
    हे बापू, इस भारत के तुम, एक मात्र ही नाथ रहे;
    जीवन का सर्वस्व इसी को देकर इसके साथ रहे;
    तेरे कर्तव्यों से, बापू, भारत चिर स्वाधीन हुआ;
    उपकारों का ऋणी, सदा यह तेरे ही अधीन हुआ;
    कल्पों में भी कभी उऋण हो, जन-गण-मन साकार करो;
    आओ बापू, आओ फिर से हम सबका उद्धार करो।
    गाँधी जयंती की शुभ कामनायें!
  • अहिंसा का वो था पुजारी;<br/>
सत्य की राह दिखाने वाला;<br/>
ईमान का पाठ जिसने पढ़ाया हमें;<br/>
वो था बापू लाठी वाला।<br/>
गाँधी जयंती की शुभ कामनायें!
    अहिंसा का वो था पुजारी;
    सत्य की राह दिखाने वाला;
    ईमान का पाठ जिसने पढ़ाया हमें;
    वो था बापू लाठी वाला।
    गाँधी जयंती की शुभ कामनायें!
  • देश के लिए जिसने विलास को ठुकराया था;<br/>
त्याग विदेशी धागे उसने खुद ही खादी बनाया था;<br/>
पहन के काठ की चप्पल जिसने सत्यग्रह का पाठ पढ़ाया था;<br/>
देश का था अनमोल वो दीपक जो महात्मा कहलाया था।<br/>
गाँधी जयंती की शुभ कामनायें!
    देश के लिए जिसने विलास को ठुकराया था;
    त्याग विदेशी धागे उसने खुद ही खादी बनाया था;
    पहन के काठ की चप्पल जिसने सत्यग्रह का पाठ पढ़ाया था;
    देश का था अनमोल वो दीपक जो महात्मा कहलाया था।
    गाँधी जयंती की शुभ कामनायें!
  • त्याग विदेशी धागे उसने खुद ही खादी बनाया था; <br/>
पहनकर काठ की चप्पल जिसने; <br/>
सत्याग्रह का राग सुनाया था।<br/>
शुभ गाँधी जयंती!
    त्याग विदेशी धागे उसने खुद ही खादी बनाया था;
    पहनकर काठ की चप्पल जिसने;
    सत्याग्रह का राग सुनाया था।
    शुभ गाँधी जयंती!
  • खुशनसीब होते हैं वो लोग, जो इस देश पर कुर्बान होते हैं; <br/>
जान देकर भी वो लोग अमर हो जाते हैं; <br/>
करते हैं सलाम उन देश प्रेमियों को; <br/>
जिनके कारण इस तिरेंगे का मान होता है।<br/>
शुभ गाँधी जयंती!
    खुशनसीब होते हैं वो लोग, जो इस देश पर कुर्बान होते हैं;
    जान देकर भी वो लोग अमर हो जाते हैं;
    करते हैं सलाम उन देश प्रेमियों को;
    जिनके कारण इस तिरेंगे का मान होता है।
    शुभ गाँधी जयंती!
  • मुन्ना भाई: अबे सर्किट, बापू बोले तो गाँधी जी कपड़े क्यों नहीं पहनते थे?
    सर्किट: भाई बोले तो बापू भी उस टाइम के सलमान खान थे।
    शुभ गाँधी जयंती!
  • सिंधी चौदवीं मंजिल से नीचे गिर गया।
    गिरते वक़्त उसने अपनी घर की खिड़की में से अपनी पत्नी को रोटी पकाते हुए देखा तो चिल्लाकर बोला:
    .
    ..
    ...
    "मेरी रोटी मत पकाना।"
  • बापू बापू कहते थे, बुहत सुखी रहते थे;<br />
जब से बापू कहलवाया, बुहत दुःख पाया!<br />
बापू के जनम दिवस का हार्दिक अभिनन्दन!
    बापू बापू कहते थे, बुहत सुखी रहते थे;
    जब से बापू कहलवाया, बुहत दुःख पाया!
    बापू के जनम दिवस का हार्दिक अभिनन्दन!
  • संता: एक बात बता यह बापू का सभी नोटों पर हँसता हुआ फोटो क्यों है?
    बंता: मुझे क्या पता?
    संता: अरे पागल, रोयेंगे तो नोट गीला हो जाएगा ना!
    शुभ गाँधी जयंती!
  • अध्यापक: 1869 ईo में क्या हुआ था?
    पप्पू: जी, गाँधी जी पैदा हुए थे!
    अध्यापक: और 1873 ईo में?
    पप्पू: जी, गांधी जी 4 साल के हो गए थे!
    शुभ गाँधी जयंती!
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT