• यहां भी होगा वहां भी होगा अब तो सारे जहां में होगा
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    क्या?
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    आम का ठेला, ठेला, ठेला,
    आम का ठेला!
  • एक घड़ीसाज का प्रेम पत्र :
    मैंने हमेशा 13:07 दिया, तुम भी कभी मेरा 07:02... हम 02:09 को हमेशा 01:07 रहना है। इसलिए मुझे छोड़ने की गलती 02:12 न करना।
  • समोसा आलू से: जब मैं फ्राई होता हूँ तो तुम्हें ढक कर गरम तेल से बचा लेता हूँ, क्योंकि मैं तुमसे प्यार करता हूँ।
    आलू: जब लोग तुम्हें फ्राई होने के फौरन बाद खाते हैं तो मैं उनका मुँह जला देता हूँ, क्योंकि मैं भी तुमसे प्यार करता हूँ।
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    शिक्षा: इनकी प्रेम कहानी पर ना जायें; समोसा ठंडा करके खायें।
  • हर तालियों के पीछे जरुरी तो नही आपकी तारिफ हो,
    हो सकता है कि...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    कोई 'जौनपुरिया' खैनी बना रहा हो!
  • साला प्यार पर यकीन करने की कितनी भी कोशिश करो...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    "सावधान इंडिया" का एक एपिसोड सारी मेहनत पर पानी फेर ही देता है।
  • कौन कहता है कि सिर्फ मोहब्बत में ही दर्द होता है,
    कमबख्त...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    अपनी तो दरवाज़े में ऊँगली आ जाये तो भी जान निकल जाती है।
  • "जूता छुपाई" वह रस्म है जो सालियाँ शादी के वक्त अदा करती हैँ लेकिन...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    मंदिर के बाहर यह रस्म कौन से साले अदा कर जाते हैँ, आज तक नहीं पता चला।
  • शराब के गिलास में गिरा एक चूहा बिल्ली से बोला, `मुझे यहाँ से निकालो फिर चाहे मुझे खा लेना।`<BR>
बिल्ली ने गिलास गिराया और चूहा भाग कर बिल में घुस गया।<BR>
बिल्ली: झूठे, धोखेबाज़, तुम तो कह रहे थे कि मुझे निकालो, बेशक मुझे फिर खा लेना।<BR>
चूहा मुस्कुराया और बोला, `अरे, नाराज़ मत हो, उस वक़्त मैं शराब के नशे में था।Upload to Facebook
    शराब के गिलास में गिरा एक चूहा बिल्ली से बोला, "मुझे यहाँ से निकालो फिर चाहे मुझे खा लेना।"
    बिल्ली ने गिलास गिराया और चूहा भाग कर बिल में घुस गया।
    बिल्ली: झूठे, धोखेबाज़, तुम तो कह रहे थे कि मुझे निकालो, बेशक मुझे फिर खा लेना।
    चूहा मुस्कुराया और बोला, "अरे, नाराज़ मत हो, उस वक़्त मैं शराब के नशे में था।
  • लड़कियां भी अजीब होती हैं, तैयार होने के लिए पार्लर जाती हैं और...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    पार्लर जाने के लिए भी तैयार होती हैं।
  • 'MOOV' का विज्ञापन देख आज तक समझ नहीं आया की कमर दर्द
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    सिर्फ छोटे ब्लाउज और साड़ी पहनी औरतों को ही क्यों होता है।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT