• ज़िंदगी ज़ख्मों से भरी है, वक़्त को मरहम बनाना सीख लो;<br/>
हारना तो है ही मौत के हाथों एक दिन, फिलहाल ज़िंदगी को जीना सीख लो।
    ज़िंदगी ज़ख्मों से भरी है, वक़्त को मरहम बनाना सीख लो;
    हारना तो है ही मौत के हाथों एक दिन, फिलहाल ज़िंदगी को जीना सीख लो।
  • ज़िंदगी जाने कितने मोड़ लेती है;<br/>
हर मोड़ पर नए सवाल देती है;<br/>
तलाशते रहते हैं हम जवाब ज़िंदगी भर;<br/>
और जब जवाब मिल जाये तो ज़िंदगी सवाल बदल देती है।
    ज़िंदगी जाने कितने मोड़ लेती है;
    हर मोड़ पर नए सवाल देती है;
    तलाशते रहते हैं हम जवाब ज़िंदगी भर;
    और जब जवाब मिल जाये तो ज़िंदगी सवाल बदल देती है।
  • जिदंगी तेरे ख्वाब भी कमाल के है।<br/>
तू गरीबों को उन महलों के सपने दिखाती है;<br/>
जिसमें अमीरों को नींद नहीं आती।
    जिदंगी तेरे ख्वाब भी कमाल के है।
    तू गरीबों को उन महलों के सपने दिखाती है;
    जिसमें अमीरों को नींद नहीं आती।
  • जाने कौन सा तराना है ये ज़िन्दगी;<br/>
बिना बात का फ़साना है ये ज़िन्दगी;<br/>
एक अरस गुज़र गया पत्तों के साथ गिरे हुए;<br/>
पर आज भी उम्मीद का खज़ाना है ज़िन्दगी!
    जाने कौन सा तराना है ये ज़िन्दगी;
    बिना बात का फ़साना है ये ज़िन्दगी;
    एक अरस गुज़र गया पत्तों के साथ गिरे हुए;
    पर आज भी उम्मीद का खज़ाना है ज़िन्दगी!
  • जिंदगी जीना आसान नहीं होता;
    बिना संघर्ष कोई महान नहीं होता;
    जब तक न पड़े हथोड़े की चोट;
    पत्थर भी भगवान नहीं होता।
  • ज़िंदगी छोटी नहीं होती बस हमारी ख्वाहिश बढ़ जाती है;
    उसी तरह कोई बुरा नहीं होता, बस हमारी सोच बदल जाती है।
  • ना किसी के 'आभाव' में जियो, ना किसी के 'प्रभाव' में जियो;<br/>
ये जिंदगी आपकी है, बस इसे अपने मस्त 'स्वाभाव' में जियो।
    ना किसी के 'आभाव' में जियो, ना किसी के 'प्रभाव' में जियो;
    ये जिंदगी आपकी है, बस इसे अपने मस्त 'स्वाभाव' में जियो।
  • कभी-कभी ज़िंदगी में ये तय करना बड़ा मुश्किल हो जाता है कि गलत क्या है?
    वो झूठ जो चेहरे पे मुस्कान लाए;
    या वो सच जो आँखों में आंसू लाए।
  • ज़िंदगी गुरु से ज्यादा सख्त होती है;
    गुरु सबक देकर इम्तिहान लेता है और ज़िंदगी इम्तिहान लेकर सबक देती है।
  • ज़िंदगी में हम ने कभी कुछ चाहा ही नहीं;
    जिसे चाहा उसे कभी पाया ही नहीं;
    जिसे पाया उसे यूँ खो दिया;
    जैसे ज़िंदगी में कभी कोई आया ही नहीं।