• वो वक़्त भी कितना हसीन था,<br/>
जब मोहल्ले की आंटीयां खुद पूछा करती थी,<br/>
क्या बात है, आजकल मेरी बेटी के साथ नहीं खेलते?<br/><br/>

बचपन की यादें।
    वो वक़्त भी कितना हसीन था,
    जब मोहल्ले की आंटीयां खुद पूछा करती थी,
    क्या बात है, आजकल मेरी बेटी के साथ नहीं खेलते?

    बचपन की यादें।
  • मैं School Reunion में जाना पसंद नहीं करता<br/>
वहाँ बहुत सारे बुजुर्ग मेरे Classmates होने का दावा करते हैं!
    मैं School Reunion में जाना पसंद नहीं करता
    वहाँ बहुत सारे बुजुर्ग मेरे Classmates होने का दावा करते हैं!
  • अभी-अभी एक शोध से पता चला है कि...<br/>
हलवाई `समोसे` तीखे इस लिए बनाते हैं ताकि...<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
ग्राहक `जलेबी` भी लेकर जाएं!
    अभी-अभी एक शोध से पता चला है कि...
    हलवाई "समोसे" तीखे इस लिए बनाते हैं ताकि...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    ग्राहक "जलेबी" भी लेकर जाएं!
  • सोसायटी में चोरी हो गयी, सब परेशान कि किसने की होगी चोरी?<br/>
तब मैंने बताया कि ये काम तो किसी चोर का ही है!
    सोसायटी में चोरी हो गयी, सब परेशान कि किसने की होगी चोरी?
    तब मैंने बताया कि ये काम तो किसी चोर का ही है!
  • उधार लेने के बाद आदमी `विक्रम लेंडर` हो जाता है!<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
रहता तो पृथ्वी पे ही है, पर संपर्क टूट जाता है!
    उधार लेने के बाद आदमी "विक्रम लेंडर" हो जाता है!
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    रहता तो पृथ्वी पे ही है, पर संपर्क टूट जाता है!
  • ताश दुनिया का अकेला खेल है जिसमें...<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
आदमी बेगम को उठा-उठा कर फेंक सकता है!
    ताश दुनिया का अकेला खेल है जिसमें...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    आदमी बेगम को उठा-उठा कर फेंक सकता है!
  • मासूम बनना है तो पड़ोसन की नजर में बनो,<br/>
घर वाली की नजर में तो हमेशा चालाक ही रहोगे!
    मासूम बनना है तो पड़ोसन की नजर में बनो,
    घर वाली की नजर में तो हमेशा चालाक ही रहोगे!
  • "हम लाये हैं तूफान से किश्ती निकाल के" इस गीत में कवि कह रहा है कि...
    .
    .
    .
    .
    वो बिना हेलमेट और पेपर्स के, पाँच चौराहे पार करके आया है!
  • खुशवंत सिंह की 98 और राम जेठमलानी की 96 की उम्र में मौत हुई,<br/>
और आचार्य बालकृष्ण को 47 साल में ही हार्टअटैक पड़ गया।<br/>
समझ नही आता कि योग करूँ या मौज करूँ!
    खुशवंत सिंह की 98 और राम जेठमलानी की 96 की उम्र में मौत हुई,
    और आचार्य बालकृष्ण को 47 साल में ही हार्टअटैक पड़ गया।
    समझ नही आता कि योग करूँ या मौज करूँ!
  • वक्त खराब हो, तो फिर भी कट जाता है;<br/>
लेकिन मोबाइल खराब हो, तो वक्त भी नहीं कटता!<br/>
ज्ञान समाप्त!
    वक्त खराब हो, तो फिर भी कट जाता है;
    लेकिन मोबाइल खराब हो, तो वक्त भी नहीं कटता!
    ज्ञान समाप्त!