• जितने भी हैं जहां पे, उन्हीं के लाल हैं सारे;<br/>
उनके इशारों पे चलते हैं, ये चाँद और तारे;<br/>
पल भर के लिए ही सही, माँ को याद कीजिए;<br/>
होगी पूरी तम्मना जरा फ़रियाद कीजिए।<br/>
नवरात्रि की शुभकामनाएं!Upload to Facebook
    जितने भी हैं जहां पे, उन्हीं के लाल हैं सारे;
    उनके इशारों पे चलते हैं, ये चाँद और तारे;
    पल भर के लिए ही सही, माँ को याद कीजिए;
    होगी पूरी तम्मना जरा फ़रियाद कीजिए।
    नवरात्रि की शुभकामनाएं!
  • जगत पालन हार है माँ;<br/>
मुक्ति का धाम है माँ;<br/>
हमारी भक्ति का आधार है माँ;<br/>
हम सब की रक्षा की अवतार है माँ।<br/>
नवरात्रि की शुभकामनाएं!Upload to Facebook
    जगत पालन हार है माँ;
    मुक्ति का धाम है माँ;
    हमारी भक्ति का आधार है माँ;
    हम सब की रक्षा की अवतार है माँ।
    नवरात्रि की शुभकामनाएं!
  • खुशियों और आपका जन्म-जन्म का साथ हो;<br/>
हर किसी की जुबान पर आपकी हँसी की ही बात हो;<br/>
जीवन में कोई मुसीबत आए भी तो आपके सिर पर माँ दुर्गा का हाथ हो।<br/>
नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं!Upload to Facebook
    खुशियों और आपका जन्म-जन्म का साथ हो;
    हर किसी की जुबान पर आपकी हँसी की ही बात हो;
    जीवन में कोई मुसीबत आए भी तो आपके सिर पर माँ दुर्गा का हाथ हो।
    नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं!
  • प्यार का तराना उपहार हो,<br/>
खुशियों का नज़राना बेशुमार हो;<br/>
ना रहे कोई ग़म का एहसास;<br/>
ऐसा नवरात्रि इस साल हो।<br/>
नवरात्रि की शुभकामनाएं!Upload to Facebook
    प्यार का तराना उपहार हो,
    खुशियों का नज़राना बेशुमार हो;
    ना रहे कोई ग़म का एहसास;
    ऐसा नवरात्रि इस साल हो।
    नवरात्रि की शुभकामनाएं!
  • नव दीप जले, नव फूल खिले;<br/>
रोज नई बहार मिले;<br/>
नवरात्रि के इस अवसर पर आपको माँ का आशीर्वाद मिले।<br/>
नवरात्रि की शुभकामनाएं!Upload to Facebook
    नव दीप जले, नव फूल खिले;
    रोज नई बहार मिले;
    नवरात्रि के इस अवसर पर आपको माँ का आशीर्वाद मिले।
    नवरात्रि की शुभकामनाएं!
  • सजा दरबार है और एक ज्योति जगमगाई है;<br/>
नसीब जागेगा उन जागरण कराने वालों का;<br/>
नसीब जागेगा जागरण में आने वालों का;<br/>
वो देखो मंदिर में मेरी माँ मुस्कुराई है।<br/>
शुभ नवरात्रि!Upload to Facebook
    सजा दरबार है और एक ज्योति जगमगाई है;
    नसीब जागेगा उन जागरण कराने वालों का;
    नसीब जागेगा जागरण में आने वालों का;
    वो देखो मंदिर में मेरी माँ मुस्कुराई है।
    शुभ नवरात्रि!
  • शेर पर सवार होकर;
    खुशियों का वरदान लेकर;
    हर घर में विराजी अंबे माँ;
    हम सबकी जगदंबे माँ।
    शुभ नवरात्रि!
  • चाँद की चाँदनी, बसंत की बहार; <br/>
फूलों की खुशबु, अपनों का प्यार; <br/>
मुबारक हो आपको नवरात्रि का त्योंहार; <br/>
सदा खुश रहें आप और आपका परिवार।<br/>
हैप्पी नवरात्रि!
Upload to Facebook
    चाँद की चाँदनी, बसंत की बहार;
    फूलों की खुशबु, अपनों का प्यार;
    मुबारक हो आपको नवरात्रि का त्योंहार;
    सदा खुश रहें आप और आपका परिवार।
    हैप्पी नवरात्रि!
  • क्या है पापी क्या है घमंडी;<br/>
माँ के द्वार पर सभी शीश झुकाते हैं;<br/>
मिलता है चैन तेरे दर पे मैया;<br/>
झोली भर के सभी यहाँ से जाते हैं।<br/>
हैप्पी नवरात्रि!Upload to Facebook
    क्या है पापी क्या है घमंडी;
    माँ के द्वार पर सभी शीश झुकाते हैं;
    मिलता है चैन तेरे दर पे मैया;
    झोली भर के सभी यहाँ से जाते हैं।
    हैप्पी नवरात्रि!
  • बाजरे की रोटी आम का अचार;<br/>
सूरज की किरणें खुशियों की बहार;<br/>
चंदा की चांदनी अपनों का प्यार;<br/>
मुबारक हो आप सबको नवरात्रि का त्योंहार।<br/>
शुभ नवरात्रि!Upload to Facebook
    बाजरे की रोटी आम का अचार;
    सूरज की किरणें खुशियों की बहार;
    चंदा की चांदनी अपनों का प्यार;
    मुबारक हो आप सबको नवरात्रि का त्योंहार।
    शुभ नवरात्रि!
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT