• अध्यापिका: पप्पू, तुम कक्षा में किस लिए आते हो?
    पप्पू: विध्या के लिए, सर।
    अध्यापिका: तो आज तुम कक्षा में सो क्यों रहे हो।
    पप्पू: सर, आज विध्या नहीं आई।
  • पप्पू: यार आज-कल तो घोर कलयुग है।
    बंटी: अब क्या कहर ढा गया?
    पप्पू: अब देखो:
    राम ने धनुष तोड़ा तो सीता आयी;
    अर्जुन ने तीर चलाये तो द्रौपदी आयी;
    कृष्णा ने बंसी बजाई तो राधा आयी;
    और हमने जो सिटी बजाई तो वो साली पापा को बुला लायी।
  • पप्पू अपनी पड़ोसिओं की लड़की को, "आई लव यु"।
    लड़की: मैं किसी और से प्यार करता हूँ।
    पप्पू उदास हो गया और फिर अचानक भागने लगा और बोला, "तेरी मम्मी को बताऊंगा"।
    लड़की: रुक जा कमीने, आई लव यु टू (I love you too!)।
  • गर्लफ्रेंड पप्पू को चिढ़ाने के लिए बोली, "देखो वो लड़का मेरी तरफ देख के मुस्कुरा रहा है।
    पप्पू: यह तो कुछ भी नहीं।
    .
    ..
    ...
    जब मैंने पहली बार तेरी शक्ल देखी थी तो तीन दिन तक अपनी हंसी नहीं रोक पाया था।
  • संता: नालायक इतनी रात को कहाँ से आ रहा है?
    पप्पू: अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने गया था।
    संता: किस लिए?
    पप्पू: हाँ पापा, 7-8 किस तो ले ही लिए।
  • पप्पू: सिस्टर, मुझे 1 बोत्तल ब्लड दे दो।
    नर्स: ब्लड ग्रुप बताओ?
    पप्पू: कोई भी चलेगा।
    नर्स: कोई भी कैसे चलेगा?
    पप्पू: गर्लफ्रेंड को लव लेटर लिखना है।
  • अध्यापक ने पप्पू से पूछा, "बेटा, तुम्हारी उम्र क्या है?"
    पप्पू: जी, घर में 14; स्कूल में 13; ट्रेन में 9; और फेसबुक पर 19 साल का हूँ।
  • प्रोफ़ेसर: ग़ालिब की आरजू थी कि महबूबा की जुल्फों से शराब के क़तरे टपकें और वो उन कतरों को हलक में उतार ले।
    पप्पू: सर, अगर उन में जुएं होती तो ग़ालिब वो भी हलक में उतार लेते?
    प्रोफ़ेसर: ग़ालिब की यह आरजू अपनी महबूबा से थी, तेरी बेबे कोलो नहीं।
  • अध्यापिका: पप्पू एक कहानी सुनाओ जिसका कोई नैतिक हो।
    पप्पू: मैंने उसको फोन किया वो सो रही थी। फिर उसने मुझे फोन किया मैं सो रहा था। मैडम, और इसका नैतिक है -
    .
    ..
    जैसी करनी वैसी भरनी।
  • गर्लफ्रेंड: जानू कल मेरा बर्थडे है, मुझे क्या गिफ्ट दोगे?
    पप्पू: क्या चाहिए?
    गर्लफ्रेंड: रिंग (Ring)।
    पप्पू: रिंग दूंगा पर उठाना मत, बैलेंस बहुत कम है।