• अनजाने में दिल गँवा बैठे;
    इस प्यार में कैसे धोखा खा बैठे;
    उनसे क्या गिला करें;
    भूल हमारी थी जो बिना दिल वालों से दिल लगा बैठे।
  • अगर प्यार में पैसे की अहमियत नहीं होती तो हर कहानी में लड़की के ख्वाबों में कोई राजकुमार ही क्यों होता है?
    कभी सुना है कि "मेरे सपनों का मोची, बारात ले कर आएगा।"
  • बात इतनी सी थी कि तुम अच्छे लगते थे।<br/>
अब बात इतनी बढ़ गई कि तुम बिन कुछ अच्छा नहीं लगता।
    बात इतनी सी थी कि तुम अच्छे लगते थे।
    अब बात इतनी बढ़ गई कि तुम बिन कुछ अच्छा नहीं लगता।
  • चाह कर भी उसे अपना ना बना सके;
    इश्क़ करके भी उन्हें ये जता ना सके;
    दिल था हमारा कोई कागज़ का टुकड़ा नहीं;
    इसीलिए चीर कर कभी दिखा न सके।
  • जिंदगी की हक़ीकत सिर्फ इतनी होती है;
    जब जागता है इंसान तो किस्मत सोती है;
    इंसान जिस पर अपना हक़ खुद से ज्यादा समझता है;
    वो अमानत अक्सर किसी और की होती है!
  • हमने भी किसी से प्यार किया था;
    कम नहीं, बेशुमार किया था;
    ज़िंदगी बदल गई थी तब उसने कहा कि;
    पागल तू सच समझ बैठा, मैने तो मज़ाक किया था।
  • अगर मैं मर जाउँ तो मुझे जला देना;
    लेकिन उससे पहले मेरे दिल को निकाल लेना;
    मुझे परवाह नहीं इस दिल के जल जाने की;
    मुझे परवाह है इस दिल में रहने वाले की।
  • मैं कैसे यकीन कर लूँ कि उन्हें मोहब्बत नहीं थी हमसे;<br/>
सुना है वो आज भी रोते हैं, हमारी तस्वीर अपने सीने से लगाकर।
    मैं कैसे यकीन कर लूँ कि उन्हें मोहब्बत नहीं थी हमसे;
    सुना है वो आज भी रोते हैं, हमारी तस्वीर अपने सीने से लगाकर।
  • सच्चे प्यार में निकले आंसू और बच्चे के आंसू एक सामान होते हैं;
    क्योंकि दोनों को पता है कि दर्द क्या है, पर किसी को बता नहीं सकते।
  • जब प्यार के एहसास को समझ जाओगे;<br/>
हर तरफ मेरा ही नाम पाओगे;<br/>
मेरी मोहब्बत उस वक़्त देगी आवाज़;<br/>
जब तुम भीड़ में खुद को अकेला पाओगे।
    जब प्यार के एहसास को समझ जाओगे;
    हर तरफ मेरा ही नाम पाओगे;
    मेरी मोहब्बत उस वक़्त देगी आवाज़;
    जब तुम भीड़ में खुद को अकेला पाओगे।