• दिल में तरंग और सभी से अपनापन;<br/>
ज़िंदगी में गुड जैसा मीठापन!<br/>
आओ होकर साथ हम उड़ायें पतंग;<br/>
और भर दे चारों ओर खुशियों के रंग।<br/>
मकर सक्रांति की हार्दिक शुभ कामनायें!
    दिल में तरंग और सभी से अपनापन;
    ज़िंदगी में गुड जैसा मीठापन!
    आओ होकर साथ हम उड़ायें पतंग;
    और भर दे चारों ओर खुशियों के रंग।
    मकर सक्रांति की हार्दिक शुभ कामनायें!
  • पल-पल सुनहरे फूल खिलें, कभी ना हो काँटो का सामना;<br/>
ज़िंदगी आपकी खुशियों से भरी रहे, आपके लिए हमेशा यही है शुभकामना।<br/>
मकर सक्रांति की शुभ कामनायें!
    पल-पल सुनहरे फूल खिलें, कभी ना हो काँटो का सामना;
    ज़िंदगी आपकी खुशियों से भरी रहे, आपके लिए हमेशा यही है शुभकामना।
    मकर सक्रांति की शुभ कामनायें!
  • काट ना सके कभी कोई पतंग आपकी;<br/>
टूटे ना कभी डोर विश्वास की;<br/>
छू लो आप ज़िन्दगी की सारी कामयाबी;<br/>
जैसे पतंग छूती है ऊँचाइयाँ आसमान की।<br/>
मकर सक्रांति की हार्दिक शुभ कामनायें!
    काट ना सके कभी कोई पतंग आपकी;
    टूटे ना कभी डोर विश्वास की;
    छू लो आप ज़िन्दगी की सारी कामयाबी;
    जैसे पतंग छूती है ऊँचाइयाँ आसमान की।
    मकर सक्रांति की हार्दिक शुभ कामनायें!
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT