• भाड़ में गए अच्छे दिन,<br/>
यह बताओ ठन्डे दिन कब आएंगे?
    भाड़ में गए अच्छे दिन,
    यह बताओ ठन्डे दिन कब आएंगे?
  • हे सूर्यदेव,<br/>
अब हम लोगों ने गलती मान ली कि देश में फॉग नहीं सिर्फ आप का ही जलवा है।<br/>
अब गुस्सा थूक दो यार और अपना पारा थोड़ा नीचे कर लो।
    हे सूर्यदेव,
    अब हम लोगों ने गलती मान ली कि देश में फॉग नहीं सिर्फ आप का ही जलवा है।
    अब गुस्सा थूक दो यार और अपना पारा थोड़ा नीचे कर लो।
  • देश में इतनी ज्यादा गर्म हवायें चल रही हैं कि पूरा देश ही 'Barbeque Nation' बन गया है।
    देश में इतनी ज्यादा गर्म हवायें चल रही हैं कि पूरा देश ही 'Barbeque Nation' बन गया है।
  • नहीं मान रहा सूरज!<br/>
अब और क्या घर के अंदर घुसने का मूड है।
    नहीं मान रहा सूरज!
    अब और क्या घर के अंदर घुसने का मूड है।
  • प्यारे हनुमान जी,<br/>
अब समय आ गया है कि आप फिर से सूरज को खा लें।
    प्यारे हनुमान जी,
    अब समय आ गया है कि आप फिर से सूरज को खा लें।
  • अब की बार 50 के पार<br/>
बहन जी दूध गर्म करने की ज़रुरत नहीं, रास्ते में ही उबल गया है।
    अब की बार 50 के पार
    बहन जी दूध गर्म करने की ज़रुरत नहीं, रास्ते में ही उबल गया है।
  • काश सूरज की भी बीवी होती...<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
कम से कम उसे थोड़ा कंट्रोल में तो रखती।
    काश सूरज की भी बीवी होती...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    कम से कम उसे थोड़ा कंट्रोल में तो रखती।
  • आज कल सुबह नहीं होती बल्कि सीधे दोपहर हो जाती है। सुबह का भूला शाम को घर आये तो उसे भूला हुआ नहीं...<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
बल्कि भुना हुआ कहते हैं।
    आज कल सुबह नहीं होती बल्कि सीधे दोपहर हो जाती है। सुबह का भूला शाम को घर आये तो उसे भूला हुआ नहीं...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    बल्कि भुना हुआ कहते हैं।
  • पता नहीं कौन सा मौसम चल रहा है। रात को कम्बल लेकर पंखा चलाकर सोता हूँ और सुबह गर्म पानी से नहाना पड़ता है।<br/>
कौनो फिरकी ले रहा है भाई।
    पता नहीं कौन सा मौसम चल रहा है। रात को कम्बल लेकर पंखा चलाकर सोता हूँ और सुबह गर्म पानी से नहाना पड़ता है।
    कौनो फिरकी ले रहा है भाई।
  • गर्मी आ रही है। लड़कियाँ जहाँ खुश हैं कि अब बिना स्वेटर के अपने फैशन वाले कपडे पहन कर घूम सकती हैं।<br/>
वहीं लड़के दुखी हैं कि बिना जैकेट के ठेके से बोतल कैसे लाएंगे।
    गर्मी आ रही है। लड़कियाँ जहाँ खुश हैं कि अब बिना स्वेटर के अपने फैशन वाले कपडे पहन कर घूम सकती हैं।
    वहीं लड़के दुखी हैं कि बिना जैकेट के ठेके से बोतल कैसे लाएंगे।