• एक दिन हमारे आँसू हमसे पूछ बैठे;
    हमें रोज़-रोज़ क्यों बुलाते हो;
    हमने कहा हम याद तो उन्हें करते हैं;
    तुम क्यों चले आते हो।
  • दो कदम तो सब साथ चलते हैं;
    पर ज़िंदगी भर का साथ कोई नहीं निभाता;
    अगर रो कर भुलाई जाती यादें;
    तो हँस कर कोई गम नहीं छुपाता।
  • बूँद-बूँद से है सागर की गहराई;<br/>
इसकी हर बूँद है मुझ में समाई;<br/>
कोई मांगे तो एक बूँद ना दे सकेंगे;<br/>
क्योंकि हर बूँद में है आपकी याद समाई।
    बूँद-बूँद से है सागर की गहराई;
    इसकी हर बूँद है मुझ में समाई;
    कोई मांगे तो एक बूँद ना दे सकेंगे;
    क्योंकि हर बूँद में है आपकी याद समाई।
  • यूँ ही मुड़कर ना देखा होगा उन्होंने;<br/>
अभी कुछ चाहत तो बाकी होगी;<br/>
भले ही जी रहे होंगे कितने सुकून से वो;<br/>
तड़पने के लिए हमारी बस एक याद ही काफी होगी।
    यूँ ही मुड़कर ना देखा होगा उन्होंने;
    अभी कुछ चाहत तो बाकी होगी;
    भले ही जी रहे होंगे कितने सुकून से वो;
    तड़पने के लिए हमारी बस एक याद ही काफी होगी।
  • कुछ लोग जिंदगी मे इस कदर शामिल हो जाते हैं;<br/>
अगर भूलना चाहो तो और याद आते हैं;<br/>
बस जाते हैं वो दिल में इस कदर;<br/>
कि आंखे बंद करो तो सामने नजर आते हैं।
    कुछ लोग जिंदगी मे इस कदर शामिल हो जाते हैं;
    अगर भूलना चाहो तो और याद आते हैं;
    बस जाते हैं वो दिल में इस कदर;
    कि आंखे बंद करो तो सामने नजर आते हैं।
  • तुम मुझे भूल कर तो देखो;<br/>
हर ख़ुशी रूठ जाएगी;<br/>
जब अकेले तुम बैठोगे;<br/>
खुद-ब-खुद मेरी याद आएगी।
    तुम मुझे भूल कर तो देखो;
    हर ख़ुशी रूठ जाएगी;
    जब अकेले तुम बैठोगे;
    खुद-ब-खुद मेरी याद आएगी।
  • ख़ूबियाँ इतनी तो नहीं है हम में;<br/>
कि हम आपको हर पल याद आयेंगे;<br/>
पर इतना ऐतबार है हमें खुद पर;<br/>
कि आप कभी हमें भूल ना पायेंगे।
    ख़ूबियाँ इतनी तो नहीं है हम में;
    कि हम आपको हर पल याद आयेंगे;
    पर इतना ऐतबार है हमें खुद पर;
    कि आप कभी हमें भूल ना पायेंगे।
  • भुला ना सकोगे मुझे भूल कर तुम;<br/>
मैं अक्सर तुम्हें याद आता रहूँगा;<br/>
कभी ख़्वाब बन कर कभी याद बन कर;<br/>
मैं नींद तुम्हारी चुराता रहूँगा।
    भुला ना सकोगे मुझे भूल कर तुम;
    मैं अक्सर तुम्हें याद आता रहूँगा;
    कभी ख़्वाब बन कर कभी याद बन कर;
    मैं नींद तुम्हारी चुराता रहूँगा।
  • आँखें बंद करके रोता हूँ तो लगता है तुझे मैं रोया नहीं;<br/>
सदियों तक जागा हूँ मैं तेरे इंतज़ार में सोया नहीं;<br/>
प्यार में पाया क्या है यह मुझे मालूम नहीं है;<br/>
पर तेरे सिवा ज़िंदगी में मैंने कुछ खोया नहीं।
    आँखें बंद करके रोता हूँ तो लगता है तुझे मैं रोया नहीं;
    सदियों तक जागा हूँ मैं तेरे इंतज़ार में सोया नहीं;
    प्यार में पाया क्या है यह मुझे मालूम नहीं है;
    पर तेरे सिवा ज़िंदगी में मैंने कुछ खोया नहीं।
  • आप हमें रुला दो हमें गम नहीं;<br/>
आप हमें भुला दो हमें कोई गम नहीं;<br/>
जिस दिन हमने आपको भुला दिया;<br/>
समझ लेना इस दुनियाँ में हम नहीं।
    आप हमें रुला दो हमें गम नहीं;
    आप हमें भुला दो हमें कोई गम नहीं;
    जिस दिन हमने आपको भुला दिया;
    समझ लेना इस दुनियाँ में हम नहीं।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT