• एक बार रजनीकांत भी इंजीनियरिंग की परीक्षा देने पहुंचे।
    पता है क्या हुआ?
    .
    .
    .
    .
    .
    फेल
    .
    .
    .
    .
    .
    क्योंकि बेटा ये इंजीनियरिंग है। रजनी हो या गजनी, सबकी है बजनी।
  • एक बार रजनीकांत तीन पत्ती खेल रहा था।
    पत्ते दिखाने पर उसके पास तीन इक्के आ गए, फिर भी रजनी हार गया।
    क्यों?
    क्योंकि सामने वाले के पास तीन रजनीकांत थे।
  • रजनीकांत: आज मेरे कुत्ते ने अंडा दिया।
    संता: कुत्ता कब से अंडा देने लगा?
    रजनीकांत: यह रजनी का स्टाइल है,
    मैंने अपनी मुर्गी का नाम कुत्ता रखा है।
  • रजनीकांत: आज मेरे कुत्ते ने अण्डा दिया।
    बिग-बी: कुत्ते कब से अण्डा देने लगे?
    रजनीकांत: ये रजनी की स्टाइल है, मैंने अपनी मुर्गी का नाम कुत्ता रखा है।
  • रजनीकांत: ऐ मुर्गी जल्दी से तीन अंडे दे।
    काफी देर के बाद भी रजनीकांत को एक ही अंडा दिखता है।
    रजनीकांत: ओए मुर्गी मैंने तुझे तीन अंडे देने को कहा और तुने सिर्फ एक ही अंडा क्यों दिया, तुझे मुझसे डर नहीं लगता क्या?
    मुर्गी: डर लगता है, तभी तो एक अंडा दिया, वरना मैं तो मुर्गा हूं।
  • एक बार रजनीकांत ने जलती हुई सिगरेट आसमान की ओर फेंकी, सिगरेट एक ग्रह पर जा गिरी;
    जानते हो आज उस ग्रह का क्या नाम है?
    .
    . .
    . . .
    "आज उस ग्रह को 'सूरज' के नाम से जाना जाता है।"
  • एक बार रजनीकांत ने एक बेहद कमजोर बच्चे को रक्तदान किया;
    पता है आज सब उस बच्चे को किस नाम से जानते हैं?
    .
    . .
    . . .
    द ग्रेट खली!
  • रजनीकांत का एक रुपया बालकनी से गिर गया।
    रजनीकांत नीचे पहुंचा तो रुपया नहीं मिला।
    क्यों?
    .
    . .
    . . .
    क्योंकि, "रजनीकांत 1 रुपये से पहले नीचे पहुंच गया था।"
  • रजनीकांत ने एक बार फुटबॉल को किक मार दी;
    वह फुटबॉल सौरमंडल में चली गई और तब से सूरज के चारों ओर चक्कर काट रही है।
    जानते हैं उस फुटबॉल का क्या नाम रखा गया है?
    'प्लूटो!'
  • रजनी की माँ बोली, "बेटा, सोलर हीटर से पानी नहीं गरम हो रहा है"।
    रजनीकांत: रुको अम्मा, अभी सूरज को ठीक करके आता हूँ।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT