• दुनिया का सबसे बेहतरीन रिश्ता वही होता है जहाँ एक हलकी सी मुस्कुराहट और छोटी सी माफ़ी से जिंदगी पहले जैसी हो जाती है।Upload to Facebook
    दुनिया का सबसे बेहतरीन रिश्ता वही होता है जहाँ एक हलकी सी मुस्कुराहट और छोटी सी माफ़ी से जिंदगी पहले जैसी हो जाती है।
  • रिश्ते कभी जिंदगी के साथ साथ नहीं चलते,<br />
रिश्ते एक बार बनते हैं, फिर जिंदगी रिश्तों के साथ साथ चलती है।Upload to Facebook
    रिश्ते कभी जिंदगी के साथ साथ नहीं चलते,
    रिश्ते एक बार बनते हैं, फिर जिंदगी रिश्तों के साथ साथ चलती है।
  • कुछ रिश्तों में इंसान अच्छा लगता है और कुछ इंसानों से रिश्ता अच्छा लगता है।
  • मशहूर होना लेकिन कभी मगरूर मत होना;<br />
छू लो कदम कामयाबी के लेकिन अपनों से कभी दूर मत होना;<br />
ज़िन्दगी में खूब मिल जाएगी दौलत और शौहरत मगर;<br />
अपने ही आखिर अपने होते हैं यह बात कभी भूल ना जाना।Upload to Facebook
    मशहूर होना लेकिन कभी मगरूर मत होना;
    छू लो कदम कामयाबी के लेकिन अपनों से कभी दूर मत होना;
    ज़िन्दगी में खूब मिल जाएगी दौलत और शौहरत मगर;
    अपने ही आखिर अपने होते हैं यह बात कभी भूल ना जाना।
  • बिना विश्वास का रिश्ता बिना नेटवर्क के मोबाइल जैसा है क्योंकि बिना नेटवर्क वाले मोबाइल के साथ लोग सिर्फ `Game` ही खेलते हैं।Upload to Facebook
    बिना विश्वास का रिश्ता बिना नेटवर्क के मोबाइल जैसा है क्योंकि बिना नेटवर्क वाले मोबाइल के साथ लोग सिर्फ "Game" ही खेलते हैं।
  • अपने रिश्तों को बारिश की तरह न बनाये, जो आये और चली जाये;<br />
बल्कि रिश्ते ऐसे बनाये जो हवा की तरह हमेशा आपके अंग संग रहें।Upload to Facebook
    अपने रिश्तों को बारिश की तरह न बनाये, जो आये और चली जाये;
    बल्कि रिश्ते ऐसे बनाये जो हवा की तरह हमेशा आपके अंग संग रहें।
  • पानी से तस्वीर कहाँ बनती है;<br />
ख्वाबों से तकदीर कहाँ बनती है;<br />
किसी भी रिश्ते को सच्चे दिल से निभाओ;<br />
क्योंकि ये ज़िन्दगी फिर वापस कहाँ मिलती है।Upload to Facebook
    पानी से तस्वीर कहाँ बनती है;
    ख्वाबों से तकदीर कहाँ बनती है;
    किसी भी रिश्ते को सच्चे दिल से निभाओ;
    क्योंकि ये ज़िन्दगी फिर वापस कहाँ मिलती है।
  • करीब इतना रहो कि सब रिश्तों में प्यार रहे;<br>
दूर भी इतना रहो कि आने का इंतज़ार रहे;<br>
रखो उम्मीद रिश्तों के दरमियान इतनी;<br>
कि टूट जाये उम्मीद मगर रिश्ते बरक़रार रहें।Upload to Facebook
    करीब इतना रहो कि सब रिश्तों में प्यार रहे;
    दूर भी इतना रहो कि आने का इंतज़ार रहे;
    रखो उम्मीद रिश्तों के दरमियान इतनी;
    कि टूट जाये उम्मीद मगर रिश्ते बरक़रार रहें।
  • अकसर वही रिश्ता लाजवाब होता है,<br />
जो ज़माने से नहीं ज़ज़्बातों से जन्मा होता है।Upload to Facebook
    अकसर वही रिश्ता लाजवाब होता है,
    जो ज़माने से नहीं ज़ज़्बातों से जन्मा होता है।
  • जो कोई समझ न सके वो बात हैं हम; <br />
जो ढल के नयी सुबह लाये वो रात हैं हम; <br />
छोड़ देते हैं लोग रिश्ते बनाकर; <br />
जो कभी न छूटे वो साथ हैं हम।Upload to Facebook
    जो कोई समझ न सके वो बात हैं हम;
    जो ढल के नयी सुबह लाये वो रात हैं हम;
    छोड़ देते हैं लोग रिश्ते बनाकर;
    जो कभी न छूटे वो साथ हैं हम।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT