• शादी से पहले हर शख्स अपनी होने वाली बीवी को बेपनाह चाहता है और शादी के बाद...<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
सिर्फ पनाह चाहता है।
    शादी से पहले हर शख्स अपनी होने वाली बीवी को बेपनाह चाहता है और शादी के बाद...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    सिर्फ पनाह चाहता है।
  • प्लॅटफॉर्म पर ढेर सारा समान लिए खड़ी एक औरत से कुली ने पूछा,<br/>
`मैडम, कुली चाहिए?`<br/>
औरत ने बड़ी विनम्रता के साथ जवाब दिया, `नहीं भैया, मेरे पति मेरे साथ हैं।`
    प्लॅटफॉर्म पर ढेर सारा समान लिए खड़ी एक औरत से कुली ने पूछा,
    "मैडम, कुली चाहिए?"
    औरत ने बड़ी विनम्रता के साथ जवाब दिया, "नहीं भैया, मेरे पति मेरे साथ हैं।"
  • एक चुटकी सिन्दूर की कीमत तुम क्या जानो रमेश बाबू बार बार बोलती थी। एक बार पति रमेश ने उसे अपने पास बिठाकर बता ही दिया।
    रसोई राशन - 5000
    बिजली बिल - 3000
    पानी - 1000
    बच्चों की स्कूल फीस - 5000
    बच्चों की ट्यूशन फीस - 1500
    मकान किराया - 15000
    मोबाइल खर्च - 2000
    मेडिसन - 1000
    पेट्रोल - 5000
    अन्य खर्च - 10000
    तो एक चुटकी सिन्दूर की कीमत 48500 रू महीना है। आज के बाद चुप रहना।
  • पत्नी: आप मुझे रानी क्यों बोलते हो?<br/>
पति: क्योंकि नौकरानी लम्बा हो जाता है।<br/>
पत्नी: तुम्हें पता है कि मैं तुम्हें 'जान' क्यों बोलती हूँ?<br/>
पति: नहीं, बताओ।<br/>
पत्नी: क्योंकि `जानवर` लम्बा हो जाता है इसलिए सिर्फ `जान` बोल देती हूँ।
    पत्नी: आप मुझे रानी क्यों बोलते हो?
    पति: क्योंकि नौकरानी लम्बा हो जाता है।
    पत्नी: तुम्हें पता है कि मैं तुम्हें 'जान' क्यों बोलती हूँ?
    पति: नहीं, बताओ।
    पत्नी: क्योंकि "जानवर" लम्बा हो जाता है इसलिए सिर्फ "जान" बोल देती हूँ।
  • बहू: मां जी कल रात मेरा उनसे झगड़ा हो गया!<br/>
सास: कोई बात नहीं! ये तो हर पति पत्नी में होता रहता है!<br/>
बहू: वो तो मुझे भी पता है, पर ये बताइये अब लाश का क्या करना है?
    बहू: मां जी कल रात मेरा उनसे झगड़ा हो गया!
    सास: कोई बात नहीं! ये तो हर पति पत्नी में होता रहता है!
    बहू: वो तो मुझे भी पता है, पर ये बताइये अब लाश का क्या करना है?
  • एक आदमी अपनी पत्नी को मेला घुमाने ले गया। मेले में एक चित्रकार उनके पास आया और बोला,
    "सर मैडम की तस्वीर बनवा लीजिये। ऐसी तस्वीर बनाऊंगा जो बोल उठेगी।"
    आदमी: नहीं बनवानी, साले!पहले ही तो इसकी किच-किच खतम नही होती, तसवीर भी बोलेगी तो कहाँ जाऊंगा मैं?
  • निराश नहीं हुआ हूँ जिन्दगी में, मुझे अभी बहुत से काम हैं,
    आँखे आज भी ढूंढ रही हैं उस कमीने को जिसने कहा था कि...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    शादी के बाद बहुत आराम है।
  • पत्नी: तुम मुझे पहले जितना प्यार नहीं करते। शादी से पहले तो पड़ोस की छत से कूदकर मुझे मिलने आ जाते थे।
    पति: अब सोचता हूँ कि साला उसी छत से मैं गिर क्यों नहीं गया।
  • प्रीतो मुस्कुरा के अपने पति बंता से बोली: जानते हो मैंने सोलह सोमवार केवल तुलसी के पत्ते खा कर काटे और दो साल हर शुक्रवार को व्रत किया तब कहीं जाकर आप को पति के रूप में पाया।<br/>
बंता (हँसते हुए): अगर ये नहीँ करती तो क्या होता?<br/>
प्रीतो: तो आप से भी गया गुजरा पल्ले पड़ जाता।
    प्रीतो मुस्कुरा के अपने पति बंता से बोली: जानते हो मैंने सोलह सोमवार केवल तुलसी के पत्ते खा कर काटे और दो साल हर शुक्रवार को व्रत किया तब कहीं जाकर आप को पति के रूप में पाया।
    बंता (हँसते हुए): अगर ये नहीँ करती तो क्या होता?
    प्रीतो: तो आप से भी गया गुजरा पल्ले पड़ जाता।
  • आज का ज्ञान:<br/>
जिन पतियों को खाना बनाना आता है। उनकी पत्नियों की अक्सर तबियत ख़राब हो जाती है।
    आज का ज्ञान:
    जिन पतियों को खाना बनाना आता है। उनकी पत्नियों की अक्सर तबियत ख़राब हो जाती है।