• दीपक में अगर नूर न होता;<br />
तनहा दिल मजबूर न होता;<br />
हम आप को 'शुभ दिवस' कहने ज़रूर आते;<br />
अगर आपका घर इतनी दूर न होता!
    दीपक में अगर नूर न होता;
    तनहा दिल मजबूर न होता;
    हम आप को 'शुभ दिवस' कहने ज़रूर आते;
    अगर आपका घर इतनी दूर न होता!
  • एक आह जो दिल को रुला दे;
    एक वाह जो मन को बहला दे;
    एक राह जो मंजिल को मिला दे;
    और एक मैसेज जो अपनों की याद दिला दे!
    शुभ दिवस!
  • फूलों ने अमृत का जाम भेजा है;
    सूरज ने गगन से सलाम भेजा है;
    मुबारक हो आपको नयी सुबह;
    तहे-दिल से हमने ये पैगाम भेजा है!
    शुभ दिवस!
  • पानी की बूंदे फूलों को भीगा रहीं हैं;
    ठंडी लहरें एक ताजगी ला रहीं हैं!
    हो जायें आप भी इनमें शामिल;
    एक प्यारी सी सुबह आपको जगा रही है!
    शुभ दिवस!
  • चांदनी रात अलविदा कह रही है;<br />
ठंडी सी हवा दस्तक दे रही है;<br />
जरा उठाकर देखो नजरो को;<br />
एक प्यारी सी सुबह आपको शुभ दिवस कह रही है!
    चांदनी रात अलविदा कह रही है;
    ठंडी सी हवा दस्तक दे रही है;
    जरा उठाकर देखो नजरो को;
    एक प्यारी सी सुबह आपको शुभ दिवस कह रही है!
  • आप न होते तो हम खो गए होते;<br />
अपनी ज़िन्दगी से भी रुसवा कर गए होते;<br />
यह तो आपको शुभ दिवस कहने के लिए उठे हैं;<br />
वरना हम तो अभी भी सो रहे होते!<br />
शुभ दिवस
    आप न होते तो हम खो गए होते;
    अपनी ज़िन्दगी से भी रुसवा कर गए होते;
    यह तो आपको शुभ दिवस कहने के लिए उठे हैं;
    वरना हम तो अभी भी सो रहे होते!
    शुभ दिवस
  • समुन्दर के किनारे बैठा करो;
    कोई न कोई लहर तो आयेगी;
    किस्मत न बदली, तो क्या हुआ?
    कम से कम, शकल ही धुल जायेगी!
    शुभ दिवस!
  • लबो पे मुस्कान, आँखों में ख़ुशी;<br />
गम का कहीं काम न हो!<br />
हर दिन लाये आपके जीवन में इतनी खुशियाँ;<br />
जिसके ढलने की कोई शाम न हो!
    लबो पे मुस्कान, आँखों में ख़ुशी;
    गम का कहीं काम न हो!
    हर दिन लाये आपके जीवन में इतनी खुशियाँ;
    जिसके ढलने की कोई शाम न हो!
  • नमस्कार, ये हमारा "सूर्य उदय" "एस ऍम एस" सेवा है! इसमें हम सोए हुए लोगों को बेवक्त जगाते हैं; और बाद मे "शुभ दिवस" कह के खुद सो जाते हैं!
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT