• चाँद तारो से रात जगमगाने लगी;
    फूलों की खुशबु से दुनिया महकने लगी;
    सो जाओ रात हो गई है काफी;
    निंदिया रानी भी आपको देखने आने लगी।
    शुभ रात्रि।
  • आप जो सो गए तो ख्वाब हमारा आयेगा;<br />
एक प्यारी सी मुस्कान आपके चेहरे पर लायेगा;<br />
खिड़की दरवाजे दिल के खोल के सोना;<br />
वर्ना बताओ कि आपकी रात कौन सजायेगा।<br />
शुभ रात्रि।Upload to Facebook
    आप जो सो गए तो ख्वाब हमारा आयेगा;
    एक प्यारी सी मुस्कान आपके चेहरे पर लायेगा;
    खिड़की दरवाजे दिल के खोल के सोना;
    वर्ना बताओ कि आपकी रात कौन सजायेगा।
    शुभ रात्रि।
  • दुनिया में रहकर सपनो में खो जाओ;
    किसी को अपना बना लो या किसी के हो जाओ;
    अगर कुछ भी नहीं होता तो चिंता न करो;
    चादर तकिया लो और सो जाओ।
    शुभ रात्रि।
  • रात की प्यारी रोशनी के साथ;
    तारों के टिमटिमाने के साथ;
    चाँदनी के खिलने के साथ;
    एक प्यारे मैसेज के साथ।
    शुभ रात्रि।
  • ऐसा लगता है कुछ होने जा रहा है;
    कोई मीठे सपनो में खोने जा रहा है;
    धीमी करदे अपनी रोशनी अय चाँद;
    मेरा दोस्त अब सोने जा रहा है।
    शुभ रात्रि।
  • अए चाँद मेरे दोस्त को एक तोहफ़ा देना;<br />
तारों की महफ़िल संग रोशनी देना;<br />
छुपा लेना अंधेरे को;<br />
हर रात के बाद खूबसूरत सवेरा देना।<br />
शुभ रात्रि।Upload to Facebook
    अए चाँद मेरे दोस्त को एक तोहफ़ा देना;
    तारों की महफ़िल संग रोशनी देना;
    छुपा लेना अंधेरे को;
    हर रात के बाद खूबसूरत सवेरा देना।
    शुभ रात्रि।
  • चाँदनी रात में सोने से पहले;
    ख़्वाबों की दुनिया में खोने से पहले;
    मैंने सोचा तुम्हें याद दिला दूं;
    मैंने सोचा तुम्हें एहसास दिला दूं;
    सुसु करके सोना ताकी आपकी बेड गीली ना हो जाये।
    शुभ रात्रि।
  • जब दुनिया ये कहती है की हार मान लो तब आशा धीरे से कान में कहती है कि `एक बार फिर से प्रयास करो`।<br />
शुभ रात्रि।Upload to Facebook
    जब दुनिया ये कहती है की हार मान लो तब आशा धीरे से कान में कहती है कि "एक बार फिर से प्रयास करो"।
    शुभ रात्रि।
  • चाँद को बैठाकर पहरों पर;
    तारों को दिया निगरानी का काम।
    एक रात सुहानी आपके लिए;
    एक सुनेहरा सपना आपकी आँखों के नाम।
    शुभ रात्रि।
  • चाँद को बैठाकर पहरों पर;<br/>
तारों को दिया निगरानी का काम;<br/>
एक रात सुहानी आपके लिए;<br/>
एक स्वीट सा 'ड्रीम' आपकी आँखों के नाम!<br/>
शुभ रात्रि!Upload to Facebook
    चाँद को बैठाकर पहरों पर;
    तारों को दिया निगरानी का काम;
    एक रात सुहानी आपके लिए;
    एक स्वीट सा 'ड्रीम' आपकी आँखों के नाम!
    शुभ रात्रि!
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT