• अगर कोई आपकी उम्‍मीद से जीता है तो आप भी उसके यकीन पर खरा उतरिये, क्‍योंकि उम्‍मीद इंसान उसी से रखता है जिसको वो अपने सबसे करीब मानता है।<br/>
सुप्रभात! आपका दिन मंगलमय हो!
    अगर कोई आपकी उम्‍मीद से जीता है तो आप भी उसके यकीन पर खरा उतरिये, क्‍योंकि उम्‍मीद इंसान उसी से रखता है जिसको वो अपने सबसे करीब मानता है।
    सुप्रभात! आपका दिन मंगलमय हो!
  • बेझिझक मुस्कुराएँ जो भी गम है,<br/>
ज़िन्दगी में टेंशन किसको कम हैं,<br/>
अच्छा या बुरा तो केवल भ्रम है,<br/>
ज़िन्दगी का नाम ही कभी ख़ुशी कभी गम है।<br/>
सुप्रभात!
    बेझिझक मुस्कुराएँ जो भी गम है,
    ज़िन्दगी में टेंशन किसको कम हैं,
    अच्छा या बुरा तो केवल भ्रम है,
    ज़िन्दगी का नाम ही कभी ख़ुशी कभी गम है।
    सुप्रभात!
  • प्रेम वो चीज़ है जो इंसान को कभी मुरझाने नहीं देती और नफरत वो चीज़ है जो इंसान को कभी खिलने नहीं देती!<br/>
सुप्रभात!
    प्रेम वो चीज़ है जो इंसान को कभी मुरझाने नहीं देती और नफरत वो चीज़ है जो इंसान को कभी खिलने नहीं देती!
    सुप्रभात!
  • जी लो हर लम्हा बीत जाने से पहले, लौट कर यादें आती हैं वक़्त नहीं!<br/>
सुप्रभात!
    जी लो हर लम्हा बीत जाने से पहले, लौट कर यादें आती हैं वक़्त नहीं!
    सुप्रभात!
  • विश्वास वो शक्ति है जिससे उजड़ी हुई दुनिया में भी प्रकाश किया जा सकता है!<br/>
सुप्रभात!
    विश्वास वो शक्ति है जिससे उजड़ी हुई दुनिया में भी प्रकाश किया जा सकता है!
    सुप्रभात!
  • अपनी अच्छाई पर इतना भरोसा रखिए कि जो भी आपको खोएगा, यकीनन वो रोएगा।<br/>
सुप्रभात!
    अपनी अच्छाई पर इतना भरोसा रखिए कि जो भी आपको खोएगा, यकीनन वो रोएगा।
    सुप्रभात!
  • इंसान बुरा नहीं होता केलव उसका वक़्त बुरा होता है।<br/>
सुप्रभात!
    इंसान बुरा नहीं होता केलव उसका वक़्त बुरा होता है।
    सुप्रभात!
  • `सादगी` परम सौंदर्य है, `क्षमा` उत्कृष्ट बल है, `विनम्रता` सबसे अच्छा तर्क है और `दोस्ती` सर्वश्रेष्ठ रिश्ता है।<br/>
सुप्रभात!
    "सादगी" परम सौंदर्य है, "क्षमा" उत्कृष्ट बल है, "विनम्रता" सबसे अच्छा तर्क है और "दोस्ती" सर्वश्रेष्ठ रिश्ता है।
    सुप्रभात!
  • रूबरू मिलने का मौका हमेशा नहीं मिलता इसलिए, शब्दों से सब को छूने की कोशिश कर लेता हूँ!<br/>
सुप्रभात!
    रूबरू मिलने का मौका हमेशा नहीं मिलता इसलिए, शब्दों से सब को छूने की कोशिश कर लेता हूँ!
    सुप्रभात!
  • निर्माण करने वाला शिकायत नहीं करता और शिकायत करने वाला कभी निर्माण नहीं कर सकता!<br/>
सुप्रभात!
    निर्माण करने वाला शिकायत नहीं करता और शिकायत करने वाला कभी निर्माण नहीं कर सकता!
    सुप्रभात!