• हँसना और हँसाना कोशिश है मेरी;<br/>
हर कोई खुश रहे ये चाहत है मेरी;<br/>
भले ही मुझे कोई याद करे या ना करे;<br/>
हर अपने को याद करना आदत है मेरी;<br/>
सुप्रभात!Upload to Facebook
    हँसना और हँसाना कोशिश है मेरी;
    हर कोई खुश रहे ये चाहत है मेरी;
    भले ही मुझे कोई याद करे या ना करे;
    हर अपने को याद करना आदत है मेरी;
    सुप्रभात!
  • मौसम की बहार अच्छी हो;<br/>
फूलों की कलियाँ कच्ची हों;<br/>
हमारे ये रिश्ते सच्चे हो;<br/>
रब तेरे से बस एक ही दुआ है कि;<br/>
मेरे यार की हर सुबह अच्छी हो।<br/>
सुप्रभात!Upload to Facebook
    मौसम की बहार अच्छी हो;
    फूलों की कलियाँ कच्ची हों;
    हमारे ये रिश्ते सच्चे हो;
    रब तेरे से बस एक ही दुआ है कि;
    मेरे यार की हर सुबह अच्छी हो।
    सुप्रभात!
  • सुबह-सुबह सूरज का साथ हो;<br/>
परिंदों की चहचहाने की आवाज हो;<br/>
हाथ में चाय का कप और यादों में आप हों;<br/>
उस खुशनुमा सुबह की क्या बात हो।<br/>
सुप्रभात!Upload to Facebook
    सुबह-सुबह सूरज का साथ हो;
    परिंदों की चहचहाने की आवाज हो;
    हाथ में चाय का कप और यादों में आप हों;
    उस खुशनुमा सुबह की क्या बात हो।
    सुप्रभात!
  • बीत गई तारों वाली सुनहरी रात;<br/>
याद आई फिर वही प्यारी सी बात;<br/>
खुशियों से हर पल हो आपकी मुलाकात;<br/>
इसलिए मुस्कुरा के करना दिन की शुरुआत।<br/>
सुप्रभात!Upload to Facebook
    बीत गई तारों वाली सुनहरी रात;
    याद आई फिर वही प्यारी सी बात;
    खुशियों से हर पल हो आपकी मुलाकात;
    इसलिए मुस्कुरा के करना दिन की शुरुआत।
    सुप्रभात!
  • बड़े अरमान से बनवाया है;<br/>
इसे रोशनी से सजाया है;<br/>
बहुत दूर से मंगवाया है;<br/>
ज़रा खिड़की खोल के देखो आपको गुड मोर्निंग कहने सूरज आया है।<br/>
सुप्रभात!Upload to Facebook
    बड़े अरमान से बनवाया है;
    इसे रोशनी से सजाया है;
    बहुत दूर से मंगवाया है;
    ज़रा खिड़की खोल के देखो आपको गुड मोर्निंग कहने सूरज आया है।
    सुप्रभात!
  • नमस्कार!
    ये हमारी सूर्य उदय का SMS सेवा केंद्र है।
    इसमें हम सोए हुए आलसी लोगों को जगाते हैं।
    और बाद में 'सुप्रभात' कह के खुद सो जाते हैं।
  • सुबह सुबह सूरज का साथ हो;<br />
परिंदों की चहचहाने की आवाज हो;<br />
हाथ में चाय का कप और यादों में आप हों;<br />
उस खुश नुमा सुबह की क्या बात हो।<br />
सुप्रभात।Upload to Facebook
    सुबह सुबह सूरज का साथ हो;
    परिंदों की चहचहाने की आवाज हो;
    हाथ में चाय का कप और यादों में आप हों;
    उस खुश नुमा सुबह की क्या बात हो।
    सुप्रभात।
  • फिज़ा में महकती शाम हो तुम;<br/>
प्यार में छलकता जाम हो तुम;<br/>
सीने में छुपाए फिरते हैं हम याद तुम्हारी;<br/>
मेरी जिंदगी का दूसरा नाम हो तुम।<br/>
सुप्रभात! Upload to Facebook
    फिज़ा में महकती शाम हो तुम;
    प्यार में छलकता जाम हो तुम;
    सीने में छुपाए फिरते हैं हम याद तुम्हारी;
    मेरी जिंदगी का दूसरा नाम हो तुम।
    सुप्रभात!
  • आज सुबह सूरज बिलकुल आप जैसा निकला;
    बिलकुल वही ख़ूबसूरती लिए;
    वही नूर;
    वही गुरुर;
    वही सुरूर;
    और वही आपकी तरह हमसे कोसो (बहुत) दूर। सुप्रभात!
  • प्यार हुआ और दिल टूट गया;<br />
जिंदगी का मनोबल छूट गया;<br />
यह सब सच नहीं है;<br />
बस आँख खुली और सपना टूट गया।<br />
सुप्रभात।Upload to Facebook
    प्यार हुआ और दिल टूट गया;
    जिंदगी का मनोबल छूट गया;
    यह सब सच नहीं है;
    बस आँख खुली और सपना टूट गया।
    सुप्रभात।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT