• अल्लादीन के पास था एक जादुई जिन;<br />
दिल नहीं लगता हमारा आपके बिन;<br />
स्टेनलेस स्टील में होता है 0.2% टिन;<br />
खुदा करे मस्त जाए आपका आज का दिन।<br />
सुप्रभात!
    अल्लादीन के पास था एक जादुई जिन;
    दिल नहीं लगता हमारा आपके बिन;
    स्टेनलेस स्टील में होता है 0.2% टिन;
    खुदा करे मस्त जाए आपका आज का दिन।
    सुप्रभात!
  • जिसकी सुबह अच्छी, उसका दिन अच्छा;<br />
जिसकी शाम अच्छी, उसकी रात अच्छी;<br />
जिसका दोस्त अच्छा;<br />
उसकी पूरी जिंदगी अच्छी।<br />
सुप्रभात!
    जिसकी सुबह अच्छी, उसका दिन अच्छा;
    जिसकी शाम अच्छी, उसकी रात अच्छी;
    जिसका दोस्त अच्छा;
    उसकी पूरी जिंदगी अच्छी।
    सुप्रभात!
  • दिल को दिल से चुराया तुमने;<br />
मुझे अपना बनाया तुमने;<br />
कभी भूल नहीं पायेंगे तुम्हें ऐ दोस्त;<br />
क्योंकि दोस्ती करना सिखाया तुमने।<br />
सुप्रभात!
    दिल को दिल से चुराया तुमने;
    मुझे अपना बनाया तुमने;
    कभी भूल नहीं पायेंगे तुम्हें ऐ दोस्त;
    क्योंकि दोस्ती करना सिखाया तुमने।
    सुप्रभात!
  • कोशिश करो कि ज़िन्दगी का हर लम्हा अच्छे से अच्छा गुजरे;<br />
क्योंकि जिंदगी नहीं रहती पर अच्छी यादें हमेशा जिंदा रहती हैं।<br />
सुप्रभात!
    कोशिश करो कि ज़िन्दगी का हर लम्हा अच्छे से अच्छा गुजरे;
    क्योंकि जिंदगी नहीं रहती पर अच्छी यादें हमेशा जिंदा रहती हैं।
    सुप्रभात!
  • सुबह की शुद्ध हवाओं के साथ;<br />
सूरज की किरण;<br />
भीनी-भीनी खुशबु के साथ;<br />
मुबारक और आपको;<br />
एक नये सुन्दर और;<br />
कामयाब दिन की शुरुआत।<br />
सुप्रभात!
    सुबह की शुद्ध हवाओं के साथ;
    सूरज की किरण;
    भीनी-भीनी खुशबु के साथ;
    मुबारक और आपको;
    एक नये सुन्दर और;
    कामयाब दिन की शुरुआत।
    सुप्रभात!
  • मुस्कुराहट तुम्हीं से मिलती है;<br />
दर्द को राहत तुम्हीं से मिलती है;<br />
रूठना कभी मत हमसे ए दोस्त;<br />
हमें जीने की चाहत आपसे ही मिलती है।<br />
सुप्रभात!
    मुस्कुराहट तुम्हीं से मिलती है;
    दर्द को राहत तुम्हीं से मिलती है;
    रूठना कभी मत हमसे ए दोस्त;
    हमें जीने की चाहत आपसे ही मिलती है।
    सुप्रभात!
  • वादियों से सूरज निकल आया है;<br />
फिजाओं में नया रंग छाया है;<br />
खामोश क्यों हो अब तो मुस्कुराओ;<br />
आपकी मुस्कान देखने नया सवेरा आया है।<br />
सुप्रभात!
    वादियों से सूरज निकल आया है;
    फिजाओं में नया रंग छाया है;
    खामोश क्यों हो अब तो मुस्कुराओ;
    आपकी मुस्कान देखने नया सवेरा आया है।
    सुप्रभात!
  • इंसान चेहरा तो साफ़ रखता है जिस पर लोगों की नज़र होती है;<br />
मगर;<br />
दिल को साफ़ नहीं रखता जिस पर 'अल्लाह' की नजर होती है।<br />
सुप्रभात!
    इंसान चेहरा तो साफ़ रखता है जिस पर लोगों की नज़र होती है;
    मगर;
    दिल को साफ़ नहीं रखता जिस पर 'अल्लाह' की नजर होती है।
    सुप्रभात!
  • जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए मौसम नहीं मन चाहिए;<br/>
हर राह आसान हो जायेगी;<br/>
बस उसे करने के लिए दृढ़-संकल्प चाहिये।<br/>
सुप्रभात!
    जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए मौसम नहीं मन चाहिए;
    हर राह आसान हो जायेगी;
    बस उसे करने के लिए दृढ़-संकल्प चाहिये।
    सुप्रभात!
  • जिस काम को करने में डर लगता है;<br />
उसी को करने का नाम साहस है।<br />
सुप्रभात!
    जिस काम को करने में डर लगता है;
    उसी को करने का नाम साहस है।
    सुप्रभात!